लाइव टीवी

बिहार में गार्ड और दरबान बनने आए बीटेक और एमबीए, इतने अभ्यर्थी कि 4 महीने चलेगा इंटरव्यू

News18 Bihar
Updated: November 7, 2019, 11:27 PM IST
बिहार में गार्ड और दरबान बनने आए बीटेक और एमबीए, इतने अभ्यर्थी कि 4 महीने चलेगा इंटरव्यू
बिहार विधानसभा में फोर्थ ग्रेड के पद पर भर्ती के लिए पहुंचे उच्च शिक्षित युवा.

बिहार विधानसभा (Bihar Assembly) में फोर्थ ग्रेड के पदों पर भर्ती (Fourth Grade Employee Recruitment) के लिए आए बी.टेक, एमबीए और एमए पास नौजवान. 136 पदों पर होने वाली भर्ती के लिए आए हैं 5 लाख से ज्यादा आवेदन. 4 महीने चलेगी भर्ती प्रक्रिया.

  • Share this:
पटना. बेरोजगारी (Unemployment) की समस्या का विकराल रूप कैसा होता है, यह देखना हो तो आप बिहार की राजधानी पटना (Patna) चले आइए. इन दिनों नौकरी की मारामारी में यहां के उच्च शिक्षित युवाओं की फौज को आप फोर्थ ग्रेड की सरकारी नौकरी के लिए इंटरव्यू की कतार में खड़े देख सकते हैं. जी हां, बिहार विधानसभा (Bihar Assembly) में इन दिनों नाइट-गार्ड, दरबान, सफाईकर्मी, माली आदि के 136 पदों के लिए इंटरव्यू का दौर चल रहा है. नौकरी की तलाश में बीटेक, एमबीए, एमए और बीए पास लाखों युवाओं ने इस फोर्थ ग्रेड ((Fourth Grade Employee Recruitment) ) के पद के लिए आवेदन कर रखा है. हाल यह है कि सौ से कुछ ज्यादा पदों की भर्ती के लिए 5 लाख से ज्यादा आवेदन आए हैं. साक्षात्कार देने आए अभ्यर्थियों में कई ऐसे भी हैं जो बीपीएससी के मेंस यानी मुख्य परीक्षा (BPSC Mains Examination) तक का सफर तय कर चुके हैं तो कई ऐसे भी हैं जो दारोगा की मुख्य परीक्षा में बैठ चुके हैं.

सीट से कई गुणा ज्यादा आवेदन
विधानसभा में चतुर्थ श्रेणी के पद पर नौकरी पाने के लिए जहां जरूरत महज 10वीं पास की है, वहां हाइयर एजुकेशन वाले भी कतार में हैं. पुराना सचिवालय में इन दिनों चल रहे साक्षात्कार के लिए सुबह से शाम तक कतार लगी रहती है. पढ़े-लिखे बेरोजगार अपनी बारी के इंतजार में रहते हैं. इस पद के लिए उम्र सीमा 18 से 37 वर्ष है. ऐसे में वर्षों से तैयारी कर रहे कई अभ्यर्थियों को इस बात का भी डर है कि कहीं उम्र खत्म ना हो जाए, इसीलिए सीट से कई हजार गुणा ज्यादा आवेदक हो गए हैं. इस बहाली के लिए जरूरत है सिर्फ 10वीं पास की, लेकिन गुरुवार को पहुंचे आवेदकों में 90 प्रतिशत से न सिर्फ ग्रेजुएट थे बल्कि बीटेक, एमए या एमबीए पास भी. इसलिए 136 पदों के लिए 5 लाख से ज्यादा आवेदन आए हैं.

नौकरी मिलने का नहीं है भरोसा

साक्षात्कार देने आए कई अभ्यर्थियों ने बताया कि बिहार में चपरासी की नौकरी भी मिल जाए तो बड़ी बात है. क्योंकि यहां एक तो वैकेंसी नहीं निकलती और जब निकलती भी तो धांधली की भेंट चढ़ जाती है. इसलिए कोई भी उम्मीदवार कतार छोड़कर नहीं जाता. आपको बता दें कि विधानसभा में फोर्थ ग्रेड के इस पद पर बहाली के लिए न तो लिखित परीक्षा ली जा रही है और न ही कोई अनुभव मांगा जा रहा है. सिर्फ साक्षात्कार के बाद ही नौकरी मिलने वाली है. यही सोचकर लाखों अभ्यर्थियों ने आवेदन कर दिया है.

आवेदक ज्यादा, 4 महीने चलेगी भर्ती
आवेदकों की संख्या ज्यादा होने की वजह से बहाली प्रक्रिया भी लंबी चलने वाली है. फोर्ड ग्रेड के इन पदों पर होने वाला साक्षात्कार नवंबर से शुरू होकर फरवरी तक चलेगा. इसलिए हर रोज 3000 अभ्यर्थी साक्षात्कार देने पहुंच रहे हैं. चूंकि बात सरकारी नौकरी की है, इसलिए हर कोई यह भूल चुका है कि उनकी अधिकतम योग्यता क्या है. इन पदों के लिए वेतनमान सातवें वेतन आयोग के मुताबिक 18000-56,900 रुपए तक है. इसलिए बेरोजगारी झेल रहे युवाओं की यह फौज इंटरव्यू देने पहुंच रही है.
Loading...

(रिपोर्ट - रजनीश)

ये भी पढ़ें -

साथी की हत्या हुई तो एकजुट हो गए देश भर के किन्नर, आंदोलन की चेतावनी

आंखों पर काला चश्मा लगाए कुछ इस अंदाज में पेशी के लिए पहुंचे बाहुबली अनंत सिंह

10 साल के स्टूडेंट को रूम में ले गई टीचर, फिर की शारीरिक संबंध बनाने की कोशिश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 7, 2019, 11:27 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...