NIT पटना से पासआउट मेकेनिकल इंजीनियर की बड़ाैदा में संदिग्ध परिस्थिति में माैत, परिजनाें ने जताई हत्या की आशंका

सूरज इंटर की परीक्षा में राज्य में सेंकेड टॉपर रह चुका था.
सूरज इंटर की परीक्षा में राज्य में सेंकेड टॉपर रह चुका था.

बड़ी बहन माधुरी के अनुसार सूरज के नाक व मुंह से ब्लड आ रहा था, जबकि उसे काेई बीमारी नहीं थी. वह बिल्कुल ठीक था ताे फिर उसकी माैत कैसे हाे गई?

  • Share this:
पटना. एनआईटी पटना (NIT Patna) से पास आउट मेकेनिकल इंजीनियर (Mechanical engineer) सूरज कुमार की बड़ाैदा में संदिग्ध परिस्थिति में माैत हाे गई. 23 साल के सूरज का पिछले साल ही एलएंडटी कंपनी में सेलेक्शन हुआ था. वह बड़ाैदा में पाेस्टेड था. 2014 में हुई इंटरमीडिएट की परीक्षा में वह बिहार का सेकंड टाॅपर था. परिजनाें ने उसकी हत्या की आशंका जताते हुए बिहार सरकार से मामले की जांच कराने की मांग की है.

मृतक सूरज कुमार का परिवार दीघर के पाेल्सन में रहता है. बीते बुधवार की रात 10 बजे सूरज के पिता उदय शंकर पंडित, मां व बड़ी बहन माधुरी से वीडियाे काॅलिंग पर उसकी बात हुई थी. तब वह बिल्कुल भला चंगा दिख रहा था.

बड़ी बहन माधुरी ने बताया कि गुरुवार की सुबह काे कंपनी के एचआर ने परिजनाें काे फाेन कर बताया कि सूरज की माैत हाे गई. सूरज के पिता ऑटाेचालक है. सूरज दाे भाइयाें में बड़ा था. छाेटा भाई आकाश पढ़ाई करता है. इकलाैती बड़ी बहन माधुरी है.



माधुरी ने बताया गुरुवार की शाम काे मां, पिता व भाई तीनाें विमान से अहमदाबाद गए. वहां से रात 11 बजे बड़ाैदा पहुंचे. माधुरी के अनुसार सूरज के नाक व मुंह से ब्लड आ रहा था. उसे काेई बीमारी नहीं थी. वह बिल्कुल ठीक था ताे फिर उसकी माैत कैसे हाे गई. शुक्रवार काे उसके शव का पाेस्टमार्टम कराया गया. एक-दाे दिना में उसका शव पटना पहुंचेगा. फतुहा में अंतिम संस्कार किया जाएगा.
छठ के मौके पर घर आने वाला था सूरज 

माधुरी ने बताया कि सूरज मार्च के पहले सप्ताह में घर आया था. करीब 10-15 दिन रहने के बाद पहला लाॅकडाउन लगने से पहले ही बड़ाैदा लौट गया था. वह छठ में घर आने वाला था. उसने विमान का टिकट भी ले लिया था. पर उसकी माैत की खबर आ गई. माधुरी ने कहा कि परिवार का सब कुछ चला गया. सूरज ही परिवार चलाता था. अब क्या हाेगा, भगवान काे ही मालूम.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज