महाराष्ट्र के हिरेन मर्डर केस से सुर्खियों में आया बिहार कैडर का IPS अफसर, पटना में बदमाशों की उड़ा दी थी नींद

बिहार कैडर के 2006 बैच के आईपीएस अधिकारी शिवदीप लांडे ने मनसुख हिरेन मर्डर केस की गुत्थी सुलझाने का दावा किया है.

बिहार कैडर के 2006 बैच के आईपीएस अधिकारी शिवदीप लांडे ने मनसुख हिरेन मर्डर केस की गुत्थी सुलझाने का दावा किया है.

Mansukh Hiren Murder Mystery: बिहार कैडर के 2006 बैच के आईपीएस अधिकारी शिवदीप वामन राव लांडे ने महाराष्ट्र के हाईप्रोफाइल मनसुख हिरेन मर्डर केस की गुत्थी सुलझाने का दावा किया है. लांडे इस केस को लेकर एक बार फिर बिहार के बाहर चर्चा में हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 22, 2021, 3:44 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. बिहार कैडर के 2006 बैच के आईपीएस (IPS) अधिकारी शिवदीप वामन राव लांडे (Shivdeep Wamanrao Lande) ने महाराष्ट्र के हाईप्रोफाइल मनसुख हिरेन मर्डर केस की गुत्थी सुलझाने का दावा किया है. लांडे इस केस को लेकर एक बार फिर से बिहार के बाहर अपने गृह राज्य महाराष्ट्र में चर्चा में हैं. बता दें कि लांडे इस समय महाराष्ट्र एटीएस (Anti Terrorist Squad) के डीआईजी (DIG) के तौर पर काम कर रहे हैं. लांडे कुछ साल पहले ही बिहार से महाराष्ट्र प्रतिनियुक्ति पर गए थे. शिवदीप लांडे ने रविवार को सोशल साइट्स पर एक पोस्ट कर दावा किया कि हिरेन मर्डर केस की गुत्थी को सुलझा लिया गया है. बता दें कि हाल ही में मुंबई के एक पॉश इलाके में विस्फोटकों से भरा वाहन पाए जाने के कुछ दिनों बाद ही मनसुख हिरेन का शव नदी किनारे पाया गया था. ये गाड़ी मनसुख हिरेन का था.

बता दें कि महाराष्ट्र के विदर्भ क्षेत्र के अकोला जिले के निवासी शिवदीप वामन राव लांडे नारकोटिक्स डिपार्टमेंट में एसपी के पद पर तैनात थे और इस दौरान उन्होंने नशे के सौदागरों के खिलाफ मुहिम चलाकर कई सफल आपरेशन को अंजाम दिया था. इस दौरान करोड़ों का मादक पदार्थ पकड़कर एक रिकॉर्ड भी बनाया. अपनी नई पोस्टिंग को लेकर लांडने पिछले साल News 18 के साथ बातचीत में कहा था कि सरकार ने उन्हें महत्वपूर्ण चुनौती दी है और वह पूरी प्रतिबद्धता और ईमानदारी के साथ नए दायित्व का निर्वहन करेंगे.

IPS Shivdeep Lande, Shivdeep Vaman Rao Lande, Maharashtra Government, IPS, ATS, Mansukh Hiren Murder Mystery, Anti Terrorist Squad, Mumbai police, Maharashtra NEWS, anil deshmukh, Sachin Waje, शिवदीप वामन राव लांडे, मनसुख हिरेन, महाराष्ट्र एटीएस, बिहार कैडर के आईपीएस अधिकारी, 2006 बैच के आईपीएस अधिकारी, हाईप्रोफाइल मनसुख हिरेन मर्डर केस, एटीएस डीआईजी लांडे, बिहार से महाराष्ट्र डेपुटेशन, हिरेन मर्डर केस की गुत्थी सुलझी,बिहार कैडर के 2006 बैच के आईपीएस अधिकारी शिवदीप लांडे ने मनसुख हिरेन मर्डर केस की गुत्थी सुलझाने का दावा किया है. Meet Bihar cadre IPS officer Shivdeep Lande who solved Mansukh Hiren Murder Mystery now posted ATS DIG in Maharashtra nodrss
पटना के सिटी एसपी रहते हुए भी लांडे ने अपराधियों और काले धंधे में शामिल लोगों के लिए खौफ का पर्याय बन गए थे.


पटना के सिटी एसपी रहते चर्चा में आए थे लांडे
पटना के सिटी एसपी रहते हुए भी लांडे ने अपराधियों और काले धंधे में शामिल लोगों के लिए खौफ का पर्याय बन गए थे. लांडे परीवीक्षाधीन अधिकारी के रूप में नक्सल प्रभावित जिले मुंगेर से 2010 में कैरियर की शुरुआत की थी. वह मुंगेर में ही अपर पुलिस अधीक्षक रहे. इसके बाद पटना के सिटी एसपी के रूप में उन्होंने राजधानी क्षेत्र में काम किया.

Youtube Video


लांडे के ट्रांसफर पर लोग उतर गए थे सड़कों पर



नवंबर 2011 में जब  शिवदीप लांडे को राजधानी पटना से हटाकर अररिया का पुलिस अधीक्षक बनाया गया तो पटना में लोगों ने तबादले का काफी विरोध किया था. युवाओं और छात्रों ने राज्य सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया था. युवाओं में विशेष लोकप्रिय लांडे के प्रशंसकों ने उनके नाम पर सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर अकाउंट खोल रखा है. फेसबुक पर उनके हजारों फॉलोवर हैं.

IPS Shivdeep Lande, Shivdeep Vaman Rao Lande, Maharashtra Government, IPS, ATS, Mansukh Hiren Murder Mystery, Anti Terrorist Squad, Mumbai police, Maharashtra NEWS, anil deshmukh, Sachin Waje, शिवदीप वामन राव लांडे, मनसुख हिरेन, महाराष्ट्र एटीएस, बिहार कैडर के आईपीएस अधिकारी, 2006 बैच के आईपीएस अधिकारी, हाईप्रोफाइल मनसुख हिरेन मर्डर केस, एटीएस डीआईजी लांडे, बिहार से महाराष्ट्र डेपुटेशन, हिरेन मर्डर केस की गुत्थी सुलझी,
शिवदीप लांडे इस समय महाराष्ट्र एटीएस के डीआईजी के पद पर हैं.


मनसुख हिरेन केस में हो रही है गिरफ्तारी

मनसुख हिरेन की मौत के मामले में एटीएस ने महाराष्ट्र पुलिस के कांस्टेबल विनायक शिंदे और नरेश धारे समेत एक बुकी को गिरफ्तार किया है. हिरेन की मौत के मामले में दो आरोपियों को रविवार को अदालत में पेश भी किया गया. अदालत ने इन दोनों को ही 30 मार्च तक एटीएस की कस्टडी में भेज दिया है.

ये भी पढ़ें: क्या TTE अब ट्रेन और रेलवे स्टेशनों पर रेल टिकट के साथ कोरोना की RTPCR Test रिपोर्ट की भी करेंगे जांच?

गौरतलब है कि ठाणे के व्यवसायी मनसुख हिरेन की मौत की जांच बीते शनिवार को एनआईए को सौंप दी गई थी. मुंबई के एक पॉश इलाके में विस्फोटकों से भरा वाहन पाए जाने के कुछ दिनों बाद हिरेन का शव नदी किनारे पाया गया था. विस्फोटकों से भरी स्कॉर्पियो की बरामदगी से जुड़े मामले की जांच एनआईए कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज