बिहार महागठबंधन दलों ने तेजस्वी को नेता मानने से किया इनकार, माँ राबड़ी देवी के घर हुई बैठक
Patna News in Hindi

बिहार महागठबंधन दलों ने तेजस्वी को नेता मानने से किया इनकार, माँ राबड़ी देवी के घर हुई बैठक
बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के लिए मुश्किलें बढ़ गई हैं. (फाइल फोटो)

बिहार की पूर्व मुख्‍यमंत्री राबड़ी देवी (Rabri Devi) के सरकारी आवास पर महागठबंधन (Mahagathbandhan) के नेताओं का मजमा लगा तो सही, लेकिन नेता के सवाल पर इनके आपस का मनभेद और मतभेद उभरकर सबके सामने आ गया.

  • Share this:
लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) में सूपड़ा साफ होने के बाद मंगलवार को एक बार फिर महागठबंधन (Grand Alliance) के सहयोगी दलों के नेताओं ने बैठक की. इसमें लोकसभा चुनाव की हार पर चर्चा के साथ आगे की रणनीति पर विचार-विमर्श किया गया. बैठक में सभी नेताओं ने एक स्वर में संघर्ष करने की बात भी कही. यह भी बताया गया कि RJD, CONGRESS RLSP, HAM और VIP का महागठबंधन महज चुनाव के लिए नहीं था, बल्कि जन सरोकारों को उसकी समेकित पूर्ति के लिए था. हालांकि, इन सब बयानबाजियों से इतर जो बात खास हुई वह यह कि अलायंस में शामिल दलों ने तेजस्वी यादव (Tejaswi Yadav) को महागठबंधन का नेता मानने से इनकार कर दिया.

नेतृत्व पर महागठबंधन में मतभेद
बिहार की पूर्व सीएम और आरजेडी नेता राबड़ी देवी (Rabri Devi) के 10 सर्कुलर रोड स्थित सरकारी आवास पर मंगलवार को महागठबंधन के नेताओं का मजमा लगा तो सही, लेकिन महागठबंधन के सर्वस्‍वीकार्य नेता के सवाल पर इनके आपस का मनभेद और मतभेद उभरकर सबके सामने आ गया.

Mahagathbandhan
पूर्व सीएम राबड़ी देवी के आवास पर बैठक करते हुए महागठबंधन के नेता.

सोनिया-राहुल करेंगे चुनाव-कांग्रेस


न्यूज 18 को दिए अपने एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में कांग्रेस के प्रभारी सचिव वीरेंद्र सिंह राठौड़ ने न सिर्फ तेजस्वी को महागठबंधन का नेता मानने से इंकार कर दिया, बल्कि यह भी साफ़ कर दिया कि बिहार विधानसभा चुनाव में जिस नेता के नेतृत्व में महागठबंधन चुनाव मैदान में जाएगा उस चेहरे का चुनाव राहुल गांधी या फिर सोनिया गांधी ही करेंगी.

मांझी को कांग्रेस का साथ!
जाहिर है कांग्रेस का यह बयान तेजस्वी और आरजेडी के लिए जितना बड़ा झटका है, वहीं मांझी के लिए किसी संजीवनी से कम नहीं. दरअसल, लोकसभा चुनाव में महागठबन्धन की करारी हार के बाद से जीतन राम मांझी लगातार तेजस्वी के नेतृत्व पर सवाल उठाते रहे हैं और उन्हें अनुभवहीन करार देते रहे हैं. सोमवार को भी उन्होंने यही बात दोहराई थी.

कहीं चकनाचूर न हो जाए सपना!
हालांकि इन सब बयानों से इतर हकीकत ये भी है कि आरजेडी तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री बनाने का सपना देख रही है. लेकिन, महागठबंधन के दो प्रमुख दलों का यह रुख तेजस्वी का सपना चकनाचूर करने के लिए काफी है.

रिपोर्ट- अमित कुमार सिंह

ये भी पढ़ें-


बिहार कैबिनेट ने 14 एजेंडों पर लगाई मुहर,चार विभागों में 5368 पदों पर होगी बहाली




बिहार में 16 IAS अफसरों का तबादला, अमित कुमार पांडेय बने पटना नगर आयुक्त

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading