लाइव टीवी

नीतीश और सुशासन पर उठे सवाल तो मंत्री बोले- गूगल की मदद लें चिराग पासवान
Patna News in Hindi

Anand Amrit Raj | News18 Bihar
Updated: March 9, 2020, 10:02 AM IST
नीतीश और सुशासन पर उठे सवाल तो मंत्री बोले- गूगल की मदद लें चिराग पासवान
एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान (फाइल फोटो)

दरअसल चिराग़ पासवान को एहसास है कि एनडीए में जेडीयू ने बीजेपी के साथ गठबंधन किया है. लोजपा के साथ नहीं ऐसे में जेडीयू अपने खाते में ज़्यादा सीट चाहेगी जिसका सीधा असर लोजपा पर होगा.

  • Share this:
पटना. लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद चिराग पासवान (Chirag Paswan) को बिहार सरकार के मंत्री और जेडीयू (JDU) के नेताओं ने गूगल की मदद लेने की सलाह दी है. दरअसल चिराग़ पासवान इन दिनों बिहार फर्स्ट, बिहारी फर्स्ट यात्रा पर निकले हैं और लगातार बिहार सरकार की कमियों को गिनाते हुए इसकी आलोचना भी कर रहे हैं. चिराग के इन आरोपों के बाद नीतीश कुमार के किए गए विकास के कार्यों को लेकर जेडीयू और बीजेपी के मंत्रियों ने सलाह दी है.

जेडीयू का पलटवार

बिहार सरकार में मंत्री और जेडीयू नेता श्याम रज़क ने चिराग़ पासवान को नसीहत दी है. जेडीयू नेता ने पलटवार करते हुए चिराग़ पासवान को साफ़ कर दिया है कि नीतीश कुमार के विकास कार्य और लॉ एंड ऑर्डर पर हमला बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. श्याम रज़क ने कहा कि चिराग पासवान गूगल की मदद लें फिर उनको विकास दिखेगा साथ ही ये भी नसीहत दी कि वो अपने पिता जी से राय भी लें कि बिहार में विकास हुआ है की नहीं. चिराग को ये नसीहत सिर्फ़ श्याम रज़क ने ही नहीं दी बल्कि जेडीयू के ही एक और तेज़ तर्रार नेता और मंत्री अशोक चौधरी ने भी दी और कहा कि पता नहीं चिराग़ को कैसे बिहार मे विकास में कमी दिखाई दे रही है. कल तक चिराग़ ही कहा करते थे कि नीतीश कुमार की अगुवाई में बिहार में चुनाव लड़ेंगे और बिहार में एनडीए की शानदार जीत होगी लेकिन पता नहीं अब उन्हें कैसे ये नहीं दिखती. अशोक ने कहा कि दोनों बातें एक साथ कैसे हो सकती हैं.



बीजेपी के मंत्री ने भी दिया जवाब



चिराग़ पासवान ने बिहार में सड़क की गुणवत्ता को लेकर भी सवाल खड़ा किया था जो कि पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव को भी नागवार गुज़र गया. उन्होंने कहा कि बिहार में सड़कों की हालात लगातार सुधर रही है और अब तो बिहार के किसी भी ज़िले से पांच घंटे में पटना आसानी से पहुंचा जा सकता है. अब जिन्हें नहीं दिख रहा उन्हें क्या बोला जाए.

किन कारणों से नीतीश पर दबाव डाल रहे हैं चिराग ?

चिराग़ लगातार नीतीश कुमार की सरकार पर कभी लॉ एंड ऑर्डर तो कभी सड़क की गुणवत्ता पर सवाल उठाकर हमले कर रहे हैं जिसके पीछे कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं. इन कयासों में पहला कयास सीटों को लेकर दबाव डालना है. चिराग़ को एहसास है की एनडीए में जेडीयू ने बीजेपी के साथ गठबंधन किया है. लोजपा के साथ नहीं ऐसे में जेडीयू अपने खाते में ज़्यादा सीट चाहेगी जिसका सीधा असर लोजपा पर होगा. चिराग़ पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बन गए हैं लेकिन उन्हें एनडीए में रामविलास पासवान वाली अहमियत नहीं मिल रही है. चिराग़ बिहार विधान सभा चुनाव में अपनी पार्टी का जनधार बढ़ाना चाहते हैं और इस तरह के बयान दे अपना एक अलग वोटर बनाना चाहते हैं. चिराग़ एनडीए पर दबाव बनाना चाहते हैं जैसा कि लोकसभा चुनाव के वक़्त बनाने की कोशिश की थी ताकि ज़्यादा से ज़्यादा सीटें मिल सकें. चिराग़ की नज़रें आने वाले समय में बिहार के मुख्यमंत्री पद पर भी है जिसके लिए वो तेजस्वी के मुक़ाबले आगे निकलने की कोशिश करेंगे.

कांग्रेस ने दिया ऑफर

एनडीए की आपसी खींचतान से महागठबंधन उत्साहित है और लगे हाथों चिराग़ को UPA में आने का ऑफ़र भी देने लगे हैं. प्रेमचंद्र मिश्रा जो कि कांग्रेस के एमएलसी भी हैं ने कहा कि चिराग़ हमला भी बोले और एनडीए में भी रहें दोनो बातें एक साथ नहीं हो सकती हैं. चिराग एनडीए से बाहर आएं.

ये भी पढ़ें- कांग्रेस ने तेजस्वी यादव को याद दिलाया वादा, RJD बोली- जो देना था दे दिया

ये भी पढ़ें- मशरूम लेडी के नाम से मशहूर बिहार की बेटी को राष्ट्रपति के हाथों मिला सम्मान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 9, 2020, 9:54 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading