नीतीश ने नितिन गडकरी पर लगाए आरोप तो सड़क परिवहन मंत्रालय की तरफ से मिली ये सफाई
Patna News in Hindi

नीतीश ने नितिन गडकरी पर लगाए आरोप तो सड़क परिवहन मंत्रालय की तरफ से मिली ये सफाई
file photo

शुक्रवार को पटना में नीतीश कुमार ने गडकरी का नाम लिए बिना कहा था कि 'पता नहीं मंत्री उनसे काम करने का वादा तो करते है लेकिन वो काम हो नहीं पा रहा है'. नीतीश ने केंद्रीय मंत्रालय पर बिहार का बकाया 970 करोड़ रुपए नहीं देने का भी आरोप लगाया.

  • Share this:
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के बीच तल्खी जारी है. दरअसल नीतीश के गड़करी पर लगाए गए आरोपों के बाद सड़क परिवहन व राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्रालय ने सफाई दी है. मंत्रालय की तरफ से कहा गया कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आरोप लगाया था कि बिहार सरकार के फंड से नेशनल हाइवे के 970 करोड़ रुपए के मरम्मत का काम कराया है लेकिन केंद्र सरकार से पिछले 2 साल में नेशनल हाइवे के मरम्मत के काम का पैसा अब तक नहीं मिला है.

जबकि हकीकत ये है कि ये पैसा यूपीए सरकार के दौरान का है,जिसको अक्टूबर 2011 में तत्कालीन सड़क परिवहन मंत्री सीपी जोशी ने नीतीश को पत्र लिखकर देने में असमर्थता जताई थी. सीपी जोशी ने केंद्र सरकार की तरफ से बिहार में नेशनल हाईवे की सड़कों की मरम्मत का पैसा देने में प्रक्रियात्मक ( procedural) दिक्कतों का हवाला दिया था,क्योंकि सड़कों की मरम्मत के काम के पहले बिहार सरकार ने केंद्र सरकार से अनुमति नहीं ली थी.

शुक्रवार को पटना में नीतीश कुमार ने गडकरी का नाम लिए बिना कहा था कि 'पता नहीं मंत्री उनसे काम करने का वादा तो करते है लेकिन वो काम हो नहीं पा रहा है'. नीतीश ने केंद्रीय मंत्रालय पर बिहार का बकाया 970 करोड़ रुपए नहीं देने का भी आरोप लगाया.



जब मुख्यमंत्री ये कह रहे थे उस समय बिहार बीजेपी के वरिष्ठ नेता और डिप्टी सीएम सुशील मोदी के साथ राज्य में बीजेपी कोटे से सड़क निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव भी मंच पर मौजूद थे. मुख्यमंत्री ने कहा कि ये राशि राज्य सरकार ने अपनी तरफ से नेशनल हाई-वे के रख रखाव और मरम्मत पर खर्च की थी, जो अभी तक नहीं मिली है.



उन्होंने केंद्र सरकार ने कथित उदासीन रवैये पर कहा, "पता नहीं मंत्री उनसे काम करने का वादा तो करते है लेकिन वो काम हो नहीं हो पा रहा है. एनएच के मरम्मती का 970 करोड़ रुपए बकाया है लेकिन अब तक नहीं मिल पाया है. पहले के लोग भी हंस देते थे. अब के लोग भी हंस देते हैं." नीतीश ने बिहटा एयरपोर्ट तक के लिए एलिवेटेड रोड का उदाहरण देते हुए कहा कि शुरू में केंद्र सरकार ने इसे बनवाने की बात कही थी लेकिन दिलचस्पी नहीं दिखाई तो राज्य सरकार अब खुद बनवा रही है.

नीतीश ने कहा, "हम किसी का इंतजार नहीं करते है ...काम करते है". मुख्यमंत्री पटना में नए नियुक्त हुए सहायक इंजीनियरों के एक वर्कशॉप को संबोधित कर रहे थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading