विधान सभा जाने से 'डर' रहे थे तेजस्वी के विधायक! स्पीकर ने पीटनेवाले दो पुलिसकर्मियों को किया सस्पेंड

स्पीक विजय सिन्हा ने दो पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया.

Bihar News: स्पीकर विजय सिन्हा ने बताया कि वीडियो फुटेज के आधार पर दो लोगों को चिन्हित किया गया और दोनों पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की गयी है. सिपाही शेष नाथ प्रसाद, और रंजीत कुमार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है.

  • Share this:
पटना. बिहार विधान सभा का मानसून सत्र (Monsoon session of Bihar Legislative Assembly) शुरू होने से पहले अध्यक्ष विजय सिन्हा (Speaker Vijay Sinha)ने बड़ी कार्रवाई की है. विपक्षी विधायकों की पिटाई करने वाले दो पुलिसकर्मियों कौ निलंबित कर दिया गया है. बताया गया है कि  जिन पुलिसकर्मियों द्वारा विधायकों की पिटाई करते हुए वीडियो सामने आया था उन पर ही कार्रवाई की गई है. स्पीकर विजय कुमार सिन्हा ने बताया कि वीडियो फुटेज के आधार पर दोनों को चिन्हित किया गया फिर दोनों को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया गया.

स्पीकर ने प्रेस कांफ्रेंस कर बताया कि वीडियो फुटेज के आधार पर यह कार्रवाई की गयी है. दो लोगों को चिन्हित किया गया  है और दोनों पुलिसकर्मी पर कार्रवाई की गयी है. एक सिपाही संख्या 4756 शेष नाथ प्रसाद और दूसरा 5204 रंजीत कुमार के रूप में पहचान की गई. दोनों को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है.

विधानसभा अध्यक्ष ने बताया कि सदन के अंदर सभी सदस्य जनता का विश्वास ले कर आते हैं. 23 मार्च 2021 को एक खास विधयेक पर विरोध प्रकट किया गया. विपक्षी विधायकों द्वारा अमर्यादित व्यवहार किया गया. विधान सभा अध्यक्ष के गेट को बंद किया गया था. इसके बाद मार्शल के रूप में अतिरिक्त पुलिस बल बुलाया गया. वैसे अतिरिक्त पुलिस बल हमेशा बुलाए जाते हैं. जो सदस्य बेल में थे हमने उन्हें ससम्मान बाहर करने का आदेश दिया था.

स्पीकर ने कहा कि मेरा चैंबर बंद था और बाहर की तस्वीर नहीं देख पाया था. बाद में हमने सीटीटीवी फुटेज और मीडिया फुटेज देखा. व्हाइट लाइन के बाहर एक सदस्य की पिटाई की गई जो बिल्कुक ही गलत था.  हमने DGP को कार्रवाई करने का निर्दश दिया था.

बता दें, बिहार विस के बजट सत्र के दौरान 23 मार्च को विपक्षी सदस्यों ने विहार सशष्त्र पुलिस विधेयक को पास नहीं कराने की जिद पर अड़े थे. वे किसी कीमत पर अध्यक्ष को सदन में प्रवेश करने नहीं देना चाहते थे. कई घंटों के हाई लेवल ड्रामा, मारपीट और हंगामे के बीच देऱ शाम विधेयक को विस से पास किया गया था. इस दौरान बाहर से आई पुलिस ने कई विपक्षी विधायकों के साथ दुर्व्यवहार किया था.

वीडियो सामने आने के बाद विस अध्यक्ष ने जांच के आदेश दिये थे. अब तक कार्रवाई नहीं होने पर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा को पत्र लिखा था. तेजस्वी ने पूछा था कि विधायकों की पिटाई करने वाले अफसरों पर अब तक क्या कार्रवाई हुई? तेजस्वी ने यहां तक कहा था कि विधायक इस बार सदन में जाने से डर रहे हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.