Home /News /bihar /

Bihar MLC Election: विधान परिषद की 24 सीटों के लिए मुखिया-सरपंच को पाले में करने की कोशिश

Bihar MLC Election: विधान परिषद की 24 सीटों के लिए मुखिया-सरपंच को पाले में करने की कोशिश

बिहार में विधान परिषद की 24 सीटों के लिए जल्द ही चुनाव होने हैं.  (फाइल फोटो)

बिहार में विधान परिषद की 24 सीटों के लिए जल्द ही चुनाव होने हैं. (फाइल फोटो)

Bihar Legislative Council Elections 2021: बिहार में पंचायत चुनाव खत्म होने के बाद अब चुने हुए नए जन प्रतिनिधि ही 24 एमएलसी का चुनाव करेंगे. एमएलसी के चुनाव को लेकर अब सभी उम्मीदवार नवनिर्वाचित जनप्रतिनिधियों से संपर्क साध रहे हैं ताकि जीत के दावे किए जा सकें. खाली सीटों पर 17 जुलाई के पहले चुनाव भी हो जाना था लेकिन पंचायत चुनाव टलने के कारण विधान पार्षद का चुनाव भी टल गया.

अधिक पढ़ें ...

पटना. बिहार में विधान पार्षद (Bihar MLC) की खाली हो रही 24 सीटों पर तमाम सियासी दलों की निगाहे टिकी हुई हैं. हर राजनीतिक दल अपने अपने लिहाज से गोटी फिट करने में दिन रात एक कर रहा है लेकिन इन सबकी नजर है नव निर्वाचित पंचायत प्रतिनिधियों पर मुखिया (Mukhia) जी से लेकर पंचायत चुनाव जीते प्रतिनिधियों को अपने पाले में करने के लिए उम्मीदवार कोई कोर कसर नही छोड़ रहे हैं.

दरअसल बिहार में 24 विधान पार्षद 16 जुलाई को ही अपना कार्यकाल खत्म कर चुके हैं. खाली सीटों पर 17 जुलाई के पहले चुनाव भी हो जाना था लेकिन पंचायत चुनाव टलने के कारण विधान पार्षद का चुनाव भी टल चुका था. अब जब पंचायत चुनाव लगभग ख़त्म होने को है, चुनाव आयोग भी पंचायत चुनाव को लेकर सरगर्मी शुरू कर चुका है. इसके साथ ही उम्मीदवारों ने भी ताल ठोकना शुरू कर दिया है और उनकी नजर टिक गई है नव निर्वाचित पंचायत प्रतिनिधियों पर. दरअसल इनके वोट से ही 24 MLC निर्वाचित होंने वाले हैं.

चिपुरा पंचायत के मुखिया सतीश कुमार कहते हैं कि इस बार के पंचायत चुनाव में जनता ने बड़े बदलाव किए हैं और उन्हीं उम्मीदवारों को जिताया है जो जनता की उम्मीदों पर खरा उतर रहे हैं या अपने वादे पर विश्वास जता रहे हैं तो हम भी वैसे ही MLC को जिताएंगे जो हमारी बात मजबूती से सदन में उठाए और हमारे पंचायत की समस्या दूर करे.

परसा के मुखिया सुजीत कहते हैं कि MLC कौन होगा इसे चुनने में हमारी भूमिका प्रमुख है. इसका अहसास है हमें. इसलिए जिम्मेदारी भी बढ़ जाती है. MLC चुनाव को लेकर हमारे पास भी कई तरह के प्रलोभन आने लगे हैं लेकिन हम उन्हें ही चुनेंगे जो हमारे पंचायत के लिए जरूरी होगा.

दरअसल बिहार की 24 खाली सीटों के लिए ग्राम पंचायत के मुखिया, वार्ड सदस्य, पंचायत समिति के सदस्य, जिला पर्षद के सदस्य भी विधान पार्षदों के चुनाव में वोटर होंगे, इसलिए पंचायत चुनाव का परिणाम आना जरुरी था. ऐसे में कि जब परिणाम आ चुके हैं तो मुखिया सहित तमाम पंचायत प्रतिनिधि भी MLC चुनाव को लेकर रणनीति बनाने में जुट गए हैं.

JDU की MLC रहीं रीना देवी  जिनका कार्यकाल 16 जुलाई को खत्म हुआ है कहती हैं कि हमने पांच साल विकास किया है और ये सही है कि पंचायत प्रतिनिधियों के हाथ में हमारी राजनीतिक क़िस्मत है लेकिन हमें उम्मीद है कि पंचायत प्रतिनिधियों को हमारे विकास के एजेंडे  से कोई शिकायत नहीं हुई होगी और आगे भी नही रहेगी और वे हमें ही चुनेंगे. जाहिर है तमाम उम्मीदवारों को पता है कि पंचायत प्रतिनिधियों को ज़्यादा से ज़्यादा अपने पाले में किए बिना चुनाव में नैया पार नहीं लग सकती है इसलिए वो पूरी ताकत लगातार ही लगा रहे हैं.

Tags: Bihar Legislative Council, Bihar News, PATNA NEWS

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर