• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • जुलाई में वीजा खत्म होने के बाद भी भारत में क्या कर रहा था अफगान नागरिक, दरभंगा के मो. अरमान से क्या है कनेक्शन?

जुलाई में वीजा खत्म होने के बाद भी भारत में क्या कर रहा था अफगान नागरिक, दरभंगा के मो. अरमान से क्या है कनेक्शन?

पटना एयरपोर्ट से पकड़े गए संदिगग्ध अफगान नागरिक से पूछताछ जारी (फाइल फोटो)

पटना एयरपोर्ट से पकड़े गए संदिगग्ध अफगान नागरिक से पूछताछ जारी (फाइल फोटो)

पकड़ा गया अफगान नागरिक मोहम्मद जावेद नियाजी दिल्ली से दरभंगा ट्रेन से पहुंचा था. वहां अपने दोस्त मो. अरमान मिला. दरभंगा के बाद वह पटना से दिल्ली के लिए जा रहा था जहां पटना एयरपोर्ट पर सीआईएसएफ ने उसे पकड़ा.

  • Share this:

पटना. अफगानिस्तान के एक संदिग्ध नागरिक मोहम्मद नियाजी को पटना एयरपोर्ट पर पकड़ा (Mohammad Javed Niazi caught at Patna airport) गया है. मिली जानकारी के अनुसार यह अफगानी नागरिक पटना से दिल्ली जाना चाह रहा था और इंडिगो की फ्लाइट में 6E 2167 में इसका टिकट था. सीआईएसफ (CISF) ने संदिग्ध मानते हुए उसे पकड़ा और एयरपोर्ट थाने के हवाले कर दिया. एयरपोर्ट थाना उससे लगातार पूछताछ कर रही है और जो जानकारी है उसे निकालने की कोशिश की जा रही है. बताया जाता है कि अफगानी नागरिक मोहम्मद जावेद नियाजी की वीजा की अवधि समाप्त हो गई थी, बावजूद इसके यह भारत में रह रहा था.

मिली जानकारी के अनुसार जनवरी से जुलाई तक उसके वीजा की अवधि थी और वह मेडिकल ग्राउंड पर भारत में रह रहा था. सीआईएसएफ ने इसकी जानकारी स्थानीय पुलिस से लेकरआईबी काे दी. आईबी  पटना पुलिस और जांच एजेंसियों ने दाेनाें से पूछताछ की. फिलहाल दाेनाें काे एयरपाेर्ट थाना में रखा गया है जहां पटना पुलिस की टीम उनसे पूछताछ कर रही है. बता दें कि अफगानिस्तान में तालिबान की सरकार बनने के बाद जांच एजेंसियां अलर्ट पर हैं. दरभंगा से कई स्लीपर सेल गिरफ्तार किए गए हैं.

पटना एसएसपी उपेंद्र कुमार शर्मा ने बताया कि अबतक की पूछताछ में दाेनाें के बारे में काेई खास जानकारी नहीं मिली है. उन्होंने यह भी बताया कि मोहम्मद जावेद नियाजी दिल्ली से दरभंगा ट्रेन से पहुंचा था और उसका दोस्त मोहम्मद अरमान था, जो कि दरभंगा का रहने वाला है, उससे मिलने के लिए दरभंगा पहुंचा था. दरभंगा के बाद वह पटना से दिल्ली के लिए जा रहा था जहां पटना एयरपोर्ट पर सीआईएसएफ ने उसे पकड़ा.

पूछताछ में यह भी जानकारी मिली है कि मोहम्मद जावेद नियाजी के पिता और मोहम्मद अरमान के पिता दोनों दुबई में एक साथ काम करते थे और इसी कारण मोहम्मद अरमान से मिलने के लिए दरभंगा पहुंचा था. जावेद नियाजी और आज वह दिल्ली के लिए रवाना हो रहा था और पटना एयरपोर्ट पर सीआईएसफ की टीम ने उसके कागजातो को सही नहीं देखा और उसके वीजा की अवधि भी समाप्त हो गई थी तो संदिग्ध मानते हुए सीआईएसएफ ने उसे पकड़ा और फिर एयरपोर्ट थाने को पूछताछ के लिए हवाले कर दिया.

एयरपोर्ट थाने में मोहम्मद जावेद नियाजी से लंबी पूछताछ की जा रही है और तमाम जानकारियां इकट्ठे की जा रही है. पटना एसएसपी ने बताया की काेराेना की वजह से केंद्र सरकार ने 30 सितंबर तक वीजा एक्सटेंड कर दिया है. सूत्राें की मानें तो  नियाजी जनवरी माह में ही दिल्ली आया था और उसे काेराेना हाे गया था. वह दिल्ली में ही रहा. वह कुछ दिनाें पहले दिल्ली से ट्रेन से दरभंगा गया था.

दरभंगा में अरमान खान के पिता जाे दुबई में रहते हैं, वे उनके दाेस्त है. जांच एजेंसियां दरभंगा के रहने वाले अरमान व अफगानी नियाजी के बारे में पता लगाने में जुटी हैं. जांच एजेंसियाें ने इस बाबत दिल्ली के आला अधिकारियाें काे भी नियाजी के बारे में जानकारी दी है. फिलहाल मामले की छानबीन जारी है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज