Home /News /bihar /

बिहार: हड़ताल पर जा सकते हैं नियोजित शिक्षक, सुप्रीम कोर्ट में हार को बताया सरकार की साजिश

बिहार: हड़ताल पर जा सकते हैं नियोजित शिक्षक, सुप्रीम कोर्ट में हार को बताया सरकार की साजिश

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर

शिक्षक संघ ने बिहार सरकार को शिक्षक विरोधी करार दिया और कहा कि सरकार की मंशा है कि स्कूलों में पठन-पाठन ठप कर दिया जाए. शिक्षकों के साथ-साथ गरीब बच्चों के साथ भी छलावा हो रहा है.

    बिहार के नियोजित शिक्षक हड़ताल पर जाने की तैयारी कर रहे हैं. समान काम-समान वेतन का केस हारने काे बाद शिक्षकों ने इसे सरकार की साजिश करार दिया. प्रारंभिक शिक्षक संघ के प्रदेश महासचिव आनंद मिश्रा ने चेतावनी दी है कि गर्मी की छुट्टी के बाद शिक्षक सरकार से लड़ने को तैयार हैं और शिक्षक हड़ताल पर जा सकते हैं. इसके लिए अगली रणनीति तैयार की जा रही है.

    शिक्षक संघ ने बिहार सरकार को शिक्षक विरोधी करार दिया और कहा कि सरकार की मंशा है कि स्कूलों में पठन-पाठन ठप कर दिया जाए. शिक्षकों के साथ-साथ गरीब बच्चों के साथ भी छलावा हो रहा है.

    ये भी पढ़ें- बोले बिहारी बाबू- सरकार के इशारे पर मेरे हेलीकॉप्टर उड़ान में की जाती है देरी

    संघ महासचिव ने कहा कि सरकार के खिलाभ सभी संघ बड़े आंदोलन की तैयारी कर रही है और सरकार को लोकसभा चुनाव के साथ-साथ विधानसभा चुनाव में भी इसका जवाब दिया जाएगा. इससे पहले बिहार के नियोजित शिक्षकों ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद अपनी लड़ाई जारी रखने का फैसला किया. शिक्षकों ने इसके लिए सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल करने का भी निर्णय लिया है. शिक्षकों के वकील राकेश कुमार मिश्रा ने न्यूज-18 को बताया कि इस फैसले के खिलाफ हम एक पुनर्विचार याचिका दाखिल करेंगे.

    इनपुट- रजनीश कुमार

    ये भी पढ़ें- 'शत्रु' को खामोश करने अमित शाह का पटना में रोड शो, ये है रूट
    भोजपुर में एक करोड़ की विदेशी शराब जब्त, लकड़ी के बक्से में भरकर लाई जा रही थी बड़ी खेप

    NDA को 40 सीटें मिले तो आश्चर्य नहीं, एक-दूसरे को ही हराने में जुटे महागठबंधन के नेता: मोदी

     

    Tags: Bihar News, PATNA NEWS, Supreme Court, Teacher

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर