बिहार में बाढ़ से 16 जिलों की 77.77 लाख आबादी प्रभावित, अब तक 25 लोगों की मौत

इस समय 12479 लोग राहत शिविरों में शरण लिए हुए हैं.

बाढ़ (Flood) की वजह से बिहार (Bihar) के 16 जिलों का बुरा हाल है. जबकि इस आपदा की वजह से 77.77 लाख आबादी प्रभावित है. यही नहीं, अब तक बाढ़ की वजह से 25 लोगों की मौत भी हो चुकी है.

  • Share this:
    पटना. बिहार में बाढ़ (Flood) का कहर जारी है और अब तक 25 लोगों की मौत हो चुकी है. जबकि बाढ़ की वजह से 16 जिलों की 77,77,056 आबादी प्रभावित है. आपदा प्रबंधन विभाग (Disaster Management Department) के मुताबिक, बाढ़ से दरभंगा जिले (Darbhanga District) में सबसे अधिक ग्यारह लोगों, मुजफ्फरपुर में छह, पश्चिम चंपारण में चार और सारण व सिवान में दो-दो लोगों की मौत हुई है. इसके अलावा बाढ़ की वजह से अब तक75 मवेशियों की भी मौत हो चुकी है.

    16 जिलों में बाढ़ का कहर
    बिहार के 16 जिलों सीतामढ़ी, शिवहर, सुपौल, किशनगंज, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, पूर्वी चम्पारण, पश्चिम चंपारण, खगडिया, सारण, समस्तीपुर, सिवान, मधुबनी, मधेपुरा एवं सहरसा जिले के 128 प्रखंडों के 1,282 पंचायतों की 77,77,056 आबादी बाढ़ से प्रभावित है. जबकि यहां से सुरक्षित जगहों पर ले जाए गए 5,47,804 लोगों में से 12,479 लोगों को सात राहत शिविरों में शरण लिए हुए हैं. बाढ़ के कारण विस्थापित लोगों को भोजन कराने के लिए 1006 सामुदायिक रसोई की व्यवस्था की गयी है जहां 8,17,636 लोगों को भोजन कराया गया है.

    दरभंगा पर बाढ़ की सबसे अधिक मार
    आपदा प्रबंधन विभाग के मुताबिक, दरभंगा जिला में सबसे अधिक 15 प्रखंडों के 227 पंचायतों की 20,61,700 आबादी बाढ़ से प्रभावित हुई है. बिहार के बाढ़ प्रभावित इन जिलों में बचाव और राहत कार्य चलाए जाने के लिए एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की कुल 33 टीमों की तैनाती की गयी हैं.

    इन नदियों से हुआ बिहार बेहाल
    बिहार के इन जिलों में बाढ़ का कारण अधवारा समूह नदी, लखनदेई, रातो, मरहा, मनुसमारा, बागमती, अधवारा समूह, कमला बलान, गंडक, बूढ़ी गंडक, कदाने, नून, वाया, सिकरहना, लालबेकिया, तिलावे, धनौती, मसान, कोशी, गंगा, कमला बलान, करेह एवं धौंस नदी के जलस्तर का बढ़ना है. जल संसाधन विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, बागमती नदी सीतामढी, मुजफ्फरपुर एवं दरभंगा में, बूढी गंडक नदी समस्तीपुर एवं खगड़िया में, खिरोई दरभंगा में और घाघरा नदी सिवान में गुरुवार को खतरे के निशान से उपर बह रही हैं. जल संसाधन विभाग के अनुसार विभाग के अंतर्गत सभी बाढ़ सुरक्षात्मक बांध सुरक्षित हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.