लाइव टीवी

...जब सभी सफाईकर्मी एकसाथ बजाने लगे ताली और थाली! जानें क्या है माजरा
Patna News in Hindi

RaviS Narayan | News18 Bihar
Updated: April 1, 2020, 10:03 AM IST
...जब सभी सफाईकर्मी एकसाथ बजाने लगे ताली और थाली! जानें क्या है माजरा
पटना नगर निगम के सफाईकर्मियों ने नगर विकास मंत्री के बयान का विरोध जताया.

कर्मचारियों ने लगातार 5 मिनट तक सभी अंचलों के सामने खड़े होकर तालियां बजाईं और नगर विकास मंत्री के खिलाफ नारेबाजी भी करते रहे.

  • Share this:
पटना. कोरोना वायरस के संक्रमण (Corona virus infection) को रोकने के कार्य में लगे लोगों का आभार जताने के लिए 22 मार्च को लोगों ने ताली और थाली पीटकर आभार जताया था. मंगलवार को एक बार फिर से पटना में तालियां बजाई गईं पर किसी का आभार जताने के लिए नहीं बल्कि विरोध के लिए. दरअसल पटना नगर निगम (Patna Municipal Corporation) के कर्मचारियों ने नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा (Urban Development Minister Suresh Sharma) का विरोध करते हुए अंचल कार्यालयों में अनोखा प्रदर्शन किया.


सभी अंचलों में बजाई गई तालियां

पटना नगर निगम के चतुर्थ वर्गीय कर्मचारी और सफाईकर्मियों ने अनोखा प्रदर्शन करते हुए नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा का विरोध किया. कर्मचारियों ने लगातार 5 मिनट तक सभी अंचलों के सामने खड़े होकर तालियां बजाईं और नगर विकास मंत्री के खिलाफ नारेबाजी भी करते रहे. जैसे ही दोपहर के 1 बजे वैसे ही सभी अंचलों के मुख्य दरवाजे पर कर्मचारी खड़े हो गए और तालियां बजाना शुरू कर दिया.



नगर निगम कर्मचारियों का कहना था की नगर विकास मंत्री के अगले 2 महीने के बाद हटाने के बयान से सभी कर्मचारी सहमे हुए हैं. कोरोना जैसी त्रासदी में भी सभी निगम के कर्मचारी अपने काम में लगे हुए हैं ऐसे में 2 महीने के बाद हटाने की बात करना मनोबल तोड़ने वाला है.

निगम कर्मचारी समन्वय समिति के सदस्य चंद्र प्रकाश सिंह ने कहा की सभी कर्मचारियों को हटाने के बजाय स्थायी किया जाए. पिछली बार हुई हड़ताल में जब इन बातों पर सहमति बन गई थी तो फिर अगले दो महीने की बात करना बिल्कुल धोखा है. अगले दिन फिर ताली बजाने का कार्यक्रम तय किया है.



नगर विकास मंत्री ने दिया था ये बयान
नगर निगम के कर्मचारियों का नगर विकास मंत्री  के विरोध का मुख्य वजह उनका खुद का बयान है. 31 मार्च को ही सभी दैनिक भोगी मजदूरों की सेवा समाप्त हो जानी थी पर नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा ने इसे अगले 2 महीने तक बढ़ाने का फैसला लिया.

तब सुरेश शर्मा ने कहा था कि अगले 2 महीने तक सभी कर्मचारी बने रहेंगे. कर्मचारियों का कहना है की उन्हें स्थायी करने के बजाए अगले 2 महीने तक ही  रखा जाना उनके साथ नाइंसाफी है.

ये भी पढ़ें


निजामुद्दीन मामलाः मरकज में शामिल होने के बाद बिहार पहुंचे थे 86 लोग, अब पुलिस कर रही तलाश




Bihar COVID-19 UPDATE: कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 23 हुई, आज होगी 400 सैम्पल की जांच

First published: April 1, 2020, 9:57 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading