लाइव टीवी

प्रोफेसर हत्याकांड का खुलासा, इंजीनियर भाई ने अवैध संबंधों का विरोध करने पर दी मौत
Patna News in Hindi

Sanjay Kumar | News18 Bihar
Updated: February 4, 2020, 7:13 PM IST
प्रोफेसर हत्याकांड का खुलासा, इंजीनियर भाई ने अवैध संबंधों का विरोध करने पर दी मौत
पटना कॉलेज के प्रोफेसर शिवनारायण राम के मर्डर केस का खुलासा.

पटना के टीपीएएस कॉलेज (TPAS College) के प्रोफेसर शिवनारायण राम (Professor Shivnarayan Ram) की हत्या का पुलिस ने खुलासा किया है. पटना के एसएसपी उपेन्द्र शर्मा के मुताबिक जब प्रोफेसर ने अपने भाई के अवैध संबंध का विरोध किया तो उसकी हत्‍या कर दी गई.

  • Share this:
पटना. पटना के टीपीएएस कॉलेज (TPAS College) के प्रोफेसर शिवनारायण राम (Professor Shivnarayan Ram) की हत्या के मामले में पुलिस ने आज बड़ा खुलासा किया है. पटना पुलिस ने दावा किया है कि प्रोफेसर की हत्या उसके ही छोटे भाई ने करवाई थी, क्‍योंकि प्रोफेसर अपनी पत्‍नी और भाई के प्रेम संबंधों में बाधा बन रहा था. इस हत्‍या के लिए कॉन्ट्रैक्ट किलर का सहारा लिया गया था. पटना के एसएसपी उपेन्द्र शर्मा ने बताया कि प्रोफेसर की पत्नी का अपने देवर से पिछले 10 साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था. हालांकि पुलिस ने हत्‍या में प्रोफेसर की पत्‍नी की किसी भी भूमिका से इंकार किया है. आपको बता दें कि प्रोफेसर ने इन अवैध संबंधों का कई बार विरोध भी किया और इस कारण दोनों भाईयों में जमकर मारपीट भी हुई थी. जबकि इसी 29 जनवरी को प्रोफेसर की हत्‍या हुई थी. जबकि पुलिस ने इस हत्‍या में शामिल छह आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

...और फिर रच डाली मौत की कहानी
इन अवैध संबंधों के कारण झगड़ा धीरे धीरे बढ़ता गया और प्रोफेसर के भाई ने अपने साथियों  के साथ मिलकर हत्या की साजिश रच डाली. पुलिस ने बताया कि प्रोफेसर के छोटे भाई इंजीनियर वीरेन्द्र राम ने अपने बिजनेस पार्टनर दवा दुकानदार शैलेंद्र के साथ मिलकर भाई की हत्या करवा दी. एसएसपी ने बताया कि पिछले एक साल से छोटा भाई हत्या की साजिश रच रहा था और प्रेम सागर नामक एक अपराधी को 2 लाख रुपये की सुपारी दी गई. जबकि चार अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी. वहीं दो अपराधियों ने लाइनर का काम किया था.

22 जनवरी को होनी थी हत्‍या



एसएसपी ने बताया कि 22 जनवरी को ही हत्या हो जानी थी, लेकिन किसी कारणवश अपराधी सफल नहीं हो सके थे. शिवनारायण राम पटना के टीपीएएस कॉलेज में पॉलिटिकल साइंस के प्रोफेसर थे. जबकि उनके पिता रिटायर्ड कमिश्नर थे. इस घटना के बाद छोटे भाई के बिजनेस पार्टनर को अपने किए का अफसोस है.इंजीनियर वीरेन्द्र राम ने दवा की दुकान में बतौर बिजनेस पार्टनर 22 लाख रुपए का निवेश किया था.

ये भी पढ़ें-

...जब अधिकारियों के सामने ही चूक गया बिहार पुलिस के DGP का निशाना

 

बिहार के इस कुख्यात गैंगस्टर की साढ़े आठ करोड़ की संपत्ति को ED ने किया अटैच

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 4, 2020, 6:12 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर