अयोध्या में राम मंदिर निर्माण से खुश हैं बिहार के मुस्लिम नेता, जानें किसने क्या कहा
Ayodhya News in Hindi

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण से खुश हैं बिहार के मुस्लिम नेता, जानें किसने क्या कहा
राम मंदिर निर्माण पर बिहार के मुस्लिम नेताओं ने अपनी प्रतिक्रिया दी है

Ayodhya Ram Mandir: जेडीयू के कट्टर मुस्लिम नेता और फिलहाल MLC ग़ुलाम रसूल बलियावी कहते हैं कि अब विवाद की तो कोई बात ही नहीं है. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद मुस्लिम धर्म के लोगों ने देश में कहीं विरोध की आवाज नहीं उठाई.

  • Share this:
पटना. 5 अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर के भूमि पूजन (Ram Mandir Foundation Stone)  के साथ ही वहां मंदिर निर्माण का कार्य शुरू हो चुका है. अयोध्या में राम मंदिर निर्माण (Ram Mandir Ayodhya) को लेकर बिहार के मुस्लिम नेताओं ने भी खुशी जाहिर की है. बिहार सरकार में मंत्री और कई मौकों पर सार्वजनिक रूप से जय श्री राम का नारा लगा चुके बिहार के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री ख़ुर्शीद आलम ने कहा कि अयोध्या (Ayodhya) समेत पूरा भारत सामाजिक सौहार्द की भूमि बने हम यही चाहते हैं. खुर्शीद आलम ने NEWS 18  से बात करते हुए कहा कि जब सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ गया है और किसी भी पक्ष ने कोई विवाद नहीं खड़ा किया तो उसके बाद ही तय हो गया था कि हिंदुस्तान सर्वधर्म और मिल्लत का देश है. यहां लोग मिलजुल कर आपसी सौहार्द बना कर रहना चाहते हैं और उम्मीद है कि 5 अगस्त को राम मंदिर के भूमि पूजन के साथ ही ये भाईचारा और मजबूत हो गया.

जय श्री राम का नारा लगाते हैं खुर्शीद

खुर्शीद आलम बिहार सरकार में अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री हैं और बगहा के सिकटा विधानसभा से चुनाव जीत कर आते हैं. ये वही खुर्शीद आलम हैं जिन्होंने कई बार सार्वजनिक तौर पर भी किसी पर्व के मौके पर जय श्री राम का नारा भी लगाया है. इनके बारे में ये भी कहा जाता है कि अपने विधानसभा में उन्होंने कई मंदिरों का निर्माण कराया है.



बलियावी बोले
ख़ुर्शीद आलम अकेले नहीं हैं जिन्होंने 5 अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर के भूमिपूजन के बाद ये दुआ की है. जेडीयू के ही कट्टर मुस्लिम नेता और फिलहाल MLC ग़ुलाम रसूल बलियावी कहते हैं कि अब विवाद की तो कोई बात ही नहीं है. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद मुस्लिम धर्म के लोगों ने देश में कहीं विरोध की आवाज नहीं उठाई. उसी वक्त ये साफ हो गया था कि हिंदुस्तान की आवाम में आपसी भाईचारा किस कदर तक भरा हुआ है. जब 5 अगस्त को राम मंदिर का भूमि पूजन हो गया है तो उम्मीद की जानी चाहिए कि अयोध्या से वो मैसेज जाए कि हिंदुस्तान सारे जाति और धर्म का देश है. लोग आपस में कितने घुले-मिले हैं और इसकी मजबूत बुनियाद 5 अगस्त के बाद बने हम यही दुआ कर रहे हैं.

खालिद अनवर ने कहा

कुछ ऐसी ही दुआ जेडीयू MLC ख़ालिद अनवर कर रहे हैं. अनवर कहते हैं कि विवाद का हल सुप्रीम कोर्ट ने निकाल दिया है तो अब भला विवाद की बात कहां रही. हिंदुस्तान हिंदुस्तानियों का है और ये पूरा विश्व जानता है. हिंदुस्तान में सारे धर्मों को बराबर का हक मिला हुआ है. अयोध्या में रामजन्मभूमि के भूमि पूजन के बाद ये मैसेज पूरे विश्व में जाना चाहिए की आपसी मिल्लत की धरती हिंदुस्तान की संस्कृति और सभ्यता कितनी मजबूत है

गदगद हैं नितिन नवीन

बीजेपी नेता और विधायक नितिन नवीन कहते हैं कि राम मंदिर निर्माण इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा. भले ही भूमि पूजन राम की जन्म भूमि अयोध्या में हुआ हो लेकिन इसका अहसास करोड़ों राम भक्तों के दिल में कितनी गहराई में उतर रहा है ये बताया नहीं जा सकता है. अयोध्या वो भूमि है जो पूरे विश्व को नई दिशा दे सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज