Home /News /bihar /

Nalanda Liquor Case: मांझी ने कहा- सेना के हजारों जवान पीते हैं शराब, सीएम नीतीश वापस लें शराबबंदी कानून

Nalanda Liquor Case: मांझी ने कहा- सेना के हजारों जवान पीते हैं शराब, सीएम नीतीश वापस लें शराबबंदी कानून

Bihar News: बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने कहा कि सीएम नीतीश कुमार को शराबबंदी कानून को वापस लेना चाहिए.

Bihar News: बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने कहा कि सीएम नीतीश कुमार को शराबबंदी कानून को वापस लेना चाहिए.

Bihar News: नालंदा जहरीली शराब कांड (Nalanda Poisonous Liquor Case ) से नाराज बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने एक बार फिर से शराबबंदी कानून वापस लेने की मांग की है. पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने कहा कि सीएम नीतीश कुमार को इस पर समझना, सोचना और विचार करना चाहिए, जब पीएम कृषि कानून को वापस ले सकते हैं तो सीएम को भी इस पर विचार करना चाहिए.

अधिक पढ़ें ...

पटना. नालंदा जहरीली शराब कांड (Nalanda Poisonous Liquor Case ) से नाराज बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने एक बार फिर से शराबबंदी कानून फिर से वापस लेने की मांग की है. पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने कहा कि सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) को इस पर समझना, सोचना और विचार करना चाहिए, जब पीएम कृषि कानून (Farmer Law) को वापस ले सकते हैं तो सीएम को भी इस पर विचार करना चाहिए. बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने नालंदा में जहरीली शराब से 8 की मौत पर कहा कि शराब पर इतनी बार बोल चुके हैं. अब इस पर बोलना बेईमानी लगता है. नांलदा हीं नहीं और भी जगह पहले मौत हुई है. बोलेंगे तो इसे भाजपा या कुछ और लोग कुछ और समझ जाते हैं. लेकिन, बिहार सीएम नीतीश कुमार पता नहीं क्यों नही समझ पा रहे हैं, उन्होंने इसे प्रतिष्ठा का सवाल बना लिया है. सेना के हजारों जवान हैं जो शराब पीते है. एक ढंग से पीते हैं. इसलिए सीएम को इस पर विचार करना चाहिए.

जीतन राम मांझी ने कहा कि कृषि कानून को जब पीएम नरेंद्र मोदी वापस ले सकते हैं तो शराब की नीति पर समीक्षा न करना यह कहां की बात है. मांझी ने कहा कि शराबबंदी कानून पर समीक्षा करना ही उचित होगा. मांझी यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा कि जहरीली शराब से मौत गोपालगंज में हुई और अब नालंदा में मामला सामने आया है. अब सवाल यह है कि बिहार में कहां नहीं जहरीली शराब से मौत हई है.

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि शराब बनाने के लिए तस्कर केमिकल यूज करते हैं और जो कमजोर वर्ग के हैं वो इसका अधिक शिकार होते हैं. मांझी ने कहा कि गुजरात में तो बिहार से पहले शराबबंदी लागू है जो महात्मा गांधी का जन्मस्थली है. उसी प्रकार से गुजरात मॉडल भी सरकार अपना ले तो उचित होगा. जीतनराम मांझी ने कहा कि शराब बंद करना यह सिर्फ कह सकते हैं प्रैक्टिकल रूप से कर नहीं सकते हैं. हजारों सेना के जवान हैं जो शराब पीते है. एक ढंग से पीते हैं.

मांझी ने कहा कि हमने पहले भी कहा कि रात 10 बजे के बाद बड़े-बड़े लोग सोने के समय शराब का सेवन कर रहे हैं. लेकिन, उनके खिलाफ कारवाई नहीं होती है, पुलिस गरीब लोगों को ही पकड़ लेती है. 1991 शराब नीतिः में प्रावधान है कि कोई भी व्यक्ति शराब पीकर सार्वजनिक स्थान पर नहीं जा सकता हैं, न किसी से झगड़ा कर सकता है. मांझी ने कहा कि अब तो सुप्रीम कोर्ट की ओर से भी कहा जा रहा है कि कि जमानत का नम्बर आने में ही समय लग जा रहा है. इस पर नीतीश कुमार को सोचना, समझना और विचार करना चाहिए.

Tags: Bihar Liquor Smuggling, CM Nitish Kumar, Former CM Jitan Ram Manjhi

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर