• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • NCRB ने जारी किये आपराधिक आंकड़े, हत्या के मामले में UP के बाद बिहार दूसरे नंबर पर

NCRB ने जारी किये आपराधिक आंकड़े, हत्या के मामले में UP के बाद बिहार दूसरे नंबर पर

NCRB द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक हत्या के मामले में यूपी सबसे उपर है (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

NCRB द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक हत्या के मामले में यूपी सबसे उपर है (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

NCRB Data 2020: अपराध से जुड़े एक अन्य मामले यानी साइबर क्राइम में बिहार अन्य राज्यों की तुलना में पीछे नहीं है. देश भर में साइबर क्राइम के जो मामले दर्ज हुए हैं उसमें बिहार का स्थान चौथे नंबर पर है.

  • Share this:

पटना. राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो यानी एनसीआरबी (NCRB) ने बुधवार को पिछले साल यानी 2020 के दौरान हुई अपराधिक घटनाओं का आंकड़ा जारी कर दिया है. राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो के मुताबिक 2020 के दौरान हर दिन भारत (India Crime Record) में औसतन 80 लोगों की हत्या की वारदात को अंजाम दिया गया है. सबसे अधिक 3779 हत्या के मामले उत्तर प्रदेश में दर्ज किए गए इसके बाद बिहार में 3150 महाराष्ट्र में 2163 मध्यप्रदेश में 2101 और पश्चिम बंगाल में 1948 मामले दर्ज किए गए हैं.

अगर अपहरण की बात की जाए तो देश भर में 2019 की तुलना में 2020 में अपहरण के मामलों में 19% से अधिक की कमी आई है. एनसीआरबी के आंकड़ों की मानें तो 2019 में अपहरण के 1,05, 036 मामले आए थे जिसके मुकाबले 2020 में अपहरण के कुल 84,805 मामले दर्ज किए गए. 2020 में अपहरण के सबसे ज्यादा मामले 12913 उत्तर प्रदेश में दर्ज किए गए इसके बाद पश्चिम बंगाल में 9309 महाराष्ट्र में 8103 बिहार में 7889 और मध्य प्रदेश में 7320 मामले दर्ज किए गए.

एनसीआरबी के आंकड़ों के मुताबिक पूरे देश में 2020 में दुष्कर्म के प्रति दिन औसतन 77 मामले दर्ज किए गए हैं. पिछले साल दुष्कर्म के कुल 28,046 मामले दर्ज किए गए थे. देश में सबसे अधिक दुष्कर्म के मामले 5310 राजस्थान में दर्ज किए गए जबकि उत्तर प्रदेश में दुष्कर्म के 2769 मामले जो दर्ज हुए उस आधार पर यह दूसरे नंबर पर रहा. महाराष्ट्र तीसरे नंबर पर रहा जहां 2061 मामले दर्ज किए गए जबकि चौथे नंबर पर रहे असम में 1657 केस दर्ज किए गए.

एनसीआरबी के आंकड़ों के मुताबिक अनुसूचित जाति के खिलाफ अपराधों के मामले में सबसे ज्यादा 12,714 मामले उत्तर प्रदेश में दर्ज किए गए वही दूसरे स्थान पर बिहार रहा जहां 7368 मामले दर्ज किए गए. 7017 मामलों के साथ अनुसूचित जाति के खिलाफ केस दर्ज करने में राजस्थान तीसरे नंबर पर रहा. 6899 केस दर्ज कर मध्य प्रदेश चौथे और 2569 केस के साथ महाराष्ट्र पांचवें स्थान पर रहा है. अनुसूचित जाति अत्याचार मामले में भी 2019 की तुलना में 2020 में देश भर में बढ़ोतरी दर्ज की गई है.
साइबर क्राइम के मामले में बिहार अन्य राज्यों की तुलना में पीछे नहीं है. साइबर क्राइम की बात करें तो देश भर में साइबर क्राइम के जो मामले दर्ज हुए हैं उसमें बिहार का स्थान चौथे नंबर पर है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज