अपना शहर चुनें

States

लॉकडाउन के बीच BJP विधायक को कोटा का पास देने वाले नवादा के SDM सस्पेंड

हिसुआ के बीजेपी विधायक अनिल सिंह 16 अप्रैल को राजस्थान के कोटा शहर के लिए रवाना हुए थे और शनिवार देर रात अपने पटना आवास पर लौट आए. (फाइल फोटो)
हिसुआ के बीजेपी विधायक अनिल सिंह 16 अप्रैल को राजस्थान के कोटा शहर के लिए रवाना हुए थे और शनिवार देर रात अपने पटना आवास पर लौट आए. (फाइल फोटो)

बिहार सरकार के सामान्य प्रशासन विभाग की ओर से जारी पत्र में कहा गया है कि अनुमंडल पदाधिकारी अनु कुमार द्वारा विधायक को वाहन पास की अनुमति देने से पूर्व आवेदन पत्र की समुचित समीक्षा और जांच नहीं की गई.

  • Share this:
पटना. नवादा जिले के हिसुआ से बीजेपी विधायक अनिल सिंह  (BJP MLA Anil Singh) को अपनी बेटी को राजस्थान के कोटा से वापस लाने के लिए यात्रा पास जारी होने की खबर के सामने आते ही बिहार में हंगामा मचा हुआ है. अब इस मामले में पास निर्गत करने वाले नवादा सदर के अनुमंडल पदाधिकारी (SDM) अनु कुमार को निलंबित कर दिया गया है.

बिहार सरकार के सामान्य प्रशासन विभाग की ओर से जारी पत्र में कहा गया है कि अनुमंडल पदाधिकारी अनु कुमार द्वारा विधायक को वाहन पास की अनुमति देने से पूर्व आवेदन पत्र की समुचित समीक्षा और जांच नहीं की गई और अंतर्राज्जीय पास निर्गत कर दिया गया. लॉकडाउन की अवधि में इस प्रकार से अंतर्राज्जीय परिवहन हेतु वाहन की अनुमति विशेष परिस्थिति को छोड़कर अन्य स्थितियों में देने का प्रावधान नहीं है. फिर भी अनु कुमार द्वारा वाहन की अनुमति निर्गत की गई.

क्या है मामला
नवादा जिले में हिसुआ विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी विधायक अनिल सिंह 16 अप्रैल को राजस्थान के कोटा शहर के लिए रवाना हुए थे और शनिवार देर रात अपने पटना आवास पर लौट आए. सिंह को नवादा सदर अनुमंडल दंडाधिकारी द्वारा 15 अप्रैल को यात्रा पास जारी किया गया था जो कि रविवार को सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. इस खबर के सामने आते ही हंगामा मच गया.
पीके और तेजस्वी ने नीतीश सरकार पर साधा था निशाना


बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने सत्ता में बैठे लोगों पर दोहरी नीति अपनाने का आरोप लगाते हुए रविवार को कहा था कि महामारी और विपदा की घड़ी में भी ये लोग आम और खास का वर्गीकरण कर राजनीति कर रहे हैं. वहीं, जेडीयू से बर्खास्त राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने वाहन पास दिखाते हुए नीतीश कुमार पर हमला बोला था. पीके ने ट्वीट करते हुए लिखा, ''कोटा में फंसे बिहार के सैकड़ों बच्चों की मदद की अपील को नीतीश कुमार ने यह कहकर खारिज कर दिया था कि ऐसा करना लॉकडाउन की मर्यादा के खिलाफ होगा. अब उन्हीं की सरकार ने बीजेपी के एक विधायक को कोटा से अपने बेटे को लाने के लिए विशेष अनुमति दी है. नीतीश जी अब आपकी मर्यादा क्या कहती है?''

ये भी पढ़ें-

लॉकडाउनः घर लौटे मजदूरों को रोजगार देगी बिहार सरकार, इन योजनाओं में मिलेगा काम

कोटा में फंसे बेटे ने पिता की मौत के बाद फेसबुक पर लगाई मदद की गुहार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज