बिहार: पुलिस का ये एक्शन प्लान सफल रहा तो उखड़ जाएंगे नक्सलियों के पांव

पुलिस ने आमलोगों के साथ संवाद कायम कर विश्वास हासिल किया है. जिससे नक्सल गतिविधियों की सूचना भी प्राप्त हो रही है और पुलिस कार्रवाई कर पाने में सफल हो रही है.

News18 Bihar
Updated: July 31, 2019, 1:51 PM IST
बिहार: पुलिस का ये एक्शन प्लान सफल रहा तो उखड़ जाएंगे नक्सलियों के पांव
नक्सलियों के खिलाफ बिहार पुलिस का नया एक्शन प्लान
News18 Bihar
Updated: July 31, 2019, 1:51 PM IST
बिहार में नक्सलियों के खिलाफ लड़ाई लड़ने को लेकर पुलिस विभाग ने नया एक्शन प्लान तैयार किया है. विभाग इस पर दिन रात काम भी कर रहा है. इस रणनीति पर चलते हुए पुलिस ने नक्सलियों के खिलाफ कई बड़ी सफलताएं हासिल की हैं. कई हार्डकोर नक्सली पकड़े गए हैं और कई पुलिस के राडार पर हैं.

आम लोगों से संवाद कायम करने पर फोकस
बिहार के सात जिलों को नक्सल प्रभावित माना जाता है. इनमें गया, औरंगाबाद, नवादा, जमुई, जहानाबाद और अरवल प्रमुख हैं. हालांकि इसके अतिरिक्त मुंगेर और लखीसराय जिलों में भी कुछ हिस्से नक्सल प्रभाव में हैं. पुलिस ने इन इलाकों मे आमलोगों के साथ संवाद कायम कर विश्वास हासिल किया है. जिससे नक्सल गतिविधियों की सूचना भी प्राप्त हो रही है और पुलिस कार्रवाई कर पाने में सफल हो रही है.

सूचना तंत्र मजबूत करने की कवायद

पुलिस नक्सल प्रभावित इन इलाकों में अपने सूचना तंत्र को मजबूत करने पर जोर दे रही है. इसके तहत टेलिकॉम कम्पनियों से बात कर सभी कंपनियों के मोबाइल टावर अब सरकारी भवनों पर भी लगवा रही है. एडीजी पुलिस मुख्यालय जितेंद्र कुमार के मुताबिक पहले फेज का काम पूरा भी हो चुका है और दूसरे फेज के लिये तेजी से काम किया जा रहा है.

हार्डकोर नक्सलियों की गिरफ्तारी
पुलिस मुख्यालय के एडीजी जितेंद्र कुमार का दावा है कि जबसे पुलिस महकमा अपने नए एक्शन प्लान के साथ मैदान में उतरा है तब से लेकर अबतक पुलिस  कई अहम कामयाबियां हासिल कर चुकी है.  कई हार्डकोर नक्सलियों को सलाखों के पीछे पहुंचा दिया गया है. हाल में औरंगाबाद के जंगल में तीन नक्सलियों को ढेर कर पुलिस ने बड़ी कामयाबी हासिल की है.
Loading...

गौरतलब है कि गृह मंत्रालय और बिहार पुलिस के अधिकारियों ने हाल में ही अहम बैठक की थी जिसमें सूचना तंत्र को मजबूत करने और आम लोगों से संवाद कायम करने की रणनीति पर अमल करने की बात की गई थी. इसके बाद ही अधिकारियों ने विभिन्न टेलिकॉम कंपनियों के टॉवर खास तौर पर उन इलाकों में सरकारी बिल्डिंग पर लगवाये जाए जहां नक्सलियों की धमक महसूस की जाती रही है.

रिपोर्ट- अमित कुमार

ये भी पढ़ें-


तीन तलाक: CM नीतीश ने यूं दिया PM मोदी का साथ !




मर्डर से लेकर रेप और डकैती तक, कुछ ऐसी है MLA अनंत सिंह की 'क्राइम कुंडली'

First published: July 31, 2019, 1:49 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...