Home /News /bihar /

भोजपुरी भाषा के नयका डिक्शनरी तैयार हो रहल बा, जुड़िहें 25 हजार भोजपुरिया शब्द

भोजपुरी भाषा के नयका डिक्शनरी तैयार हो रहल बा, जुड़िहें 25 हजार भोजपुरिया शब्द

Bhojpuri Dictionary: भोजपुरी भाषा का नया शब्दकोश हो रहा तैयार, जिसमें 25000 नए शब्द जुड़ेंगे.

Bhojpuri Dictionary: भोजपुरी भाषा का नया शब्दकोश हो रहा तैयार, जिसमें 25000 नए शब्द जुड़ेंगे.

Bhojpuri Language Dictionary: बिहार, यूपी समेत देश के कई राज्यों में प्रमुख भाषा के तौर पर जानी-पहचानी जाने वाली भोजपुरी भाषा की नई डिक्शनरी बनाने का शुरू हुआ काम. पुराने शब्दकोश के शब्दों को जोड़कर 50 हजार शब्दों वाली नई डिक्शनरी हो रही तैयारी. मुजफ्फरपुर के बीआरए बिहार विश्वविद्यालय के लंगट सिंह कॉलेज के भोजपुरी विभाग तैयार कर रहा है भोजपुरी की डिक्शनरी.

अधिक पढ़ें ...

पटना. यूं तो बिहार में कई भाषाएं बोली जाती हैं, लेकिन सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषाओं में भोजपुरी प्रमुख है. न सिर्फ बिहार बल्कि पूर्वी उत्तर प्रदेश समेत देश के बाहर भी भोजपुरी सुगम और प्रचलित भाषाओं में से एक है. भोजपुरी की इसी प्रसिद्धि के कारण बिहार के कई ऐसे शब्द हैं जो धीरे-धीरे दुनियाभर में मशहूर हो चुके हैं. भाषा के प्रचार-प्रसार के साथ ही भोजपुरी के शब्दकोश की भी डिमांड बढ़ रही है. इसी क्रम में बिहार के मुजफ्फरपुर स्थित बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर बिहार विश्वविद्यालय ने एक नई भोजपुरी डिक्शनरी बनाने का काम शुरू किया है. इस डिक्शनरी के जरिये लोग भोजपुरी भाषा के 25 हजार नए शब्दों से परिचित हो सकेंगे.

बिहार विश्वविद्यालय के लंगट सिंह कॉलेज में चलने वाले भोजपुरी विभाग में यह नया शब्दकोश बनाया जा रहा है. इसके लिए विभाग के दो छात्र और विभागाध्यक्ष को जिम्मेदारी दी गई है. बताया जा रहा है कि शब्दकोश में बिहार के अलावा, झारखंड और ओडिशा के कुछ हिस्सों में बोले जाने वाले भोजपुरी के शब्द भी शामिल किए जाएंगे. विभागाध्यक्ष प्रोफेसर जयकांत सिंह के मुताबिक, अब तक 25 प्रतिशत काम पूरा हो गया है. बाकी काम लगातार किया जा रहा है.

नई डिक्शनरी में 50 हजार शब्द

प्रो. जयकांत सिंह ने कहा कि कई देश के कई हिस्सों में भोजपुरी बोलने वाले लोग हैं. पहले के शब्दकोशों में अब तक जो शब्द नहीं आ पाए हैं, उन्हें भी लाया जाएगा, जिससे भोजपुरी की व्यापकता से सभी परिचित हो सकें. अब तक जितने भोजपुरी के शब्दकोश आए हैं उनमें लगभग 25 हजार शब्द हैं. हमलोग 50 हजार शब्द वाले भोजपुरी कोश को तैयार करने में जुटे हैं, जो शब्द हमारी बोलचाल में घुले हैं, उन्हें खोजकर यह शब्दकोश बनाया जा रहा है.

डिक्शनरी के लिए कई राज्यों में होगा अध्ययन

विभागाध्यक्ष के अनुसार, झारखंड के पलामू, गढ़वा में भोजपुरी बोली जाती है.  इसके अलावा ओडिशा के राउ में लोग भोजपुरी बोलते हैं लेकिन वहां की भोजपुरी में इस्तेमाल होने वाले शब्द हमलोग नहीं समझते हैं.  इन जगहों पर डिक्शनरी बनाने के लिए हमलोग जाएंगे और वहां की भोजपुरी के शब्दों और अर्थ पर अध्ययन करेंगे. उन्होंने बताया कि मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के कुछ हिस्सों में भी भोजपुरी का प्रचलन है पर वह सामने नहीं आया है. वहां के शब्दों को जोड़कर कोश  को विस्तार दिया जाएगा.

Tags: Bhojpuri, Bihar News in hindi

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर