पलायन पर पप्पू-कुशवाहा ने बिहार सरकार को घेरा तो नीतीश के मंत्री ने दिया ये जवाब, देखें वीडियो
Patna News in Hindi

पलायन पर पप्पू-कुशवाहा ने बिहार सरकार को घेरा तो नीतीश के मंत्री ने दिया ये जवाब, देखें वीडियो
News 18 'E एजेंडा बिहार में अपनी बात रखते हुए पप्पू यादव, नीरज कुमार व उपेंद्र कुशवाहा.

नीरज कुमार (Neeraj Kumaar ) ने कहा कि कोविड 19 के दौर में अगर कोई बिहार आना चाहता था तो सिर्फ नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के कारण. पहले के राज में तो लोग लौटते भी नहीं.

  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा के चुनाव (Bihar Assembly Elections) की तैयारियों के बीच देश के सबसे बड़े न्यूज़ नेटवर्क न्यूज 18 की ओर से भी चुनावी चर्चा के तहत एजेंडा बिहार कार्यक्रम का आयोजन किया गया. पहली बार डिजिटल प्लेटफॉर्म पर आयोजित किए गए इस कार्यक्रम में बिहार के सत्ता और विपक्ष के नेताओं ने अपनी राय रखी. इसी क्रम में सत्र चार में न्यूज 18 से बात करते पूर्व केंद्रीय मंत्री व आरएलएसपी प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा, (Upendra Kushwaha) बिहार सरकार में मंत्री व जेडीयू नेता  नीरज कुमार सिंह (Neeraj Kumaar singh) और जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष पप्पू यादव (Pappu Yadav) उर्फ राजेश रंजन मे अपनी बात रखी.

रोजगार के मुद्दे पर उपेंद्र कुशवाहा ने सीएम नीतीश पर हमला किया और कहा 15 साल में बिहार का विकास क्यों नहीं? बिहार के लोगों का पलायन सरकार नहीं रोक पाई है. वहीं जाप के अध्यक्ष पप्पू यादव ने भी रोजगार की स्थिति बिहार में बेहद खराब होने का मामला उठाया. इसके जवाब में जनसंपर्क विभाग के मंत्री नीरज कुमार ने कहा कि सबको रोजगार मिलेगा. बिहार सरकार ने सभी की स्किल मैपिंग करवायी है.

नीरज कुमार ने कहा कि मानव विकास सूचकांक में विकास दर में बिहार का दर बरकरार है. बिहार के गांव विकास के परिचायक हैं. बिहार में स्किल मैपिंग की गई है. जनसंख्या घनत्व के कारण परेशानी है, लेकिन फिर भी हम बेहतर कर रहे. पलायन विश्लेषण का विषय है. जिन गांवों में नरसंहार हुआ था वहां 15 साल पहले और अभी की स्थिति देखने लायक है.




जेडीयू नेता ने पप्पू यादव के सवाल का जवाब देते हुए उल्टा सवाल पूछा कि पलायन किसको कहते हैं? अगर बिहार में आईआईटी आईआईएम नहीं है तो कोई बाहर पढ़ने ही नहीं जाएगा क्या? नीरज कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री ने साफ कहा है कि कहा कि अगर रोजगार करने बाहर नहीं जाना चाहते हैं तो नहीं जाएं, यहीं रोजगार मिलेगा. नीरज कुमार ने कहा कि नीतीश कुमार के कारण ही प्रवासी मजदूर घर लौट सके हैं. बिहार सरकार राशि नहीं देती तो पलायित लोगों की घर वापसी मुश्किल थी.

नीरज कुमार ने कहा कि बिहार के पास झारखंड बनने के बाद कुछ नहीं था. इसके बावजूद हर घर बिजली पहुंचा दिए, ये उपलब्धि नहीं है क्या? कोविड 19 के दौर में अगर कोई बिहार आना चाहता था तो सिर्फ नीतीश कुमार के कारण. पहले के राज में तो लोग लौटते भी नहीं. हमलोग पब्लिसिटी पर नहीं कर्म पर विश्वास करते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज