News 18 का 'E एजेंडा बिहार: बीच युद्ध में कमांडर नहीं बदले जाते, हम जीतेंगे- सुशील मोदी

ई एजेंडा में शिरकत करते हुए बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी
ई एजेंडा में शिरकत करते हुए बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी

बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी (Deputy CM Sushil Kumar Modi) ने कहा कि बिहार में त्रिकोण है. एक भुजा बीजेपी, दूसरा जेडीयू और तीसरा राजद है, ऐसे में दो पार्टी मिलकर ही सरकार बना सकते हैं.

  • Share this:
पटना.  बिहार विधानसभा के चुनाव में अब चंद महीने ही शेष हैं. ऐसे में सभी राजनीतिक दलों ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं. इस कड़ी में देश के सबसे बड़े न्यूज़ नेटवर्क न्यूज़ 18 की ओर से भी चुनावी चर्चा के तहत एजेंडा बिहार कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है. पहली बार डिजिटल प्लेटफॉर्म पर हो रहे इस कार्यक्रम में बिहार के सत्ता और विपक्ष के नेता अपनी राय रख रहे हैं. इसी क्रम में न्यूज 18 से बात करते हुए बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी (Deputy CM Sushil Kumar Modi) ने एक बार फिर सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumnar) की अगुवाई में ही बिहार चुनाव लड़ने की बात दोहराई और कहा कि बीच युद्ध में कमांडर नहीं बदले जाते.

सुशील मोदी ने न्यूज 18 बिहार-झारखंड के मैनेजिंग एडिटर ब्रजेश कुमार सिंह से बात करते हुए कहा कि लड़ाई के दौरान कमांडर बदला नहीं जाता. जिस व्यक्ति ने गर्वनेंस की लकीर खींच दीं और कठिन दौर से निकल कर इस उंचाई पर पहुंचाया है, ऐसे में उनके नाम पर सवाल खड़े करने का कोई औचित्य ही नहीं है. हमने इसी कारण बिहार का चुनाव नीतीश जी के नेतृत्व में लड़ने का फैसला लिया है और हम दोबारा सरकार में भी आएंगे.

डिप्‍टी सीएम ने आगे कहा कि बिहार में त्रिकोण है. एक भुजा बीजेपी, दूसरा जेडीयू और तीसरा राजद है ऐसे में दो लोग मिलकर ही सरकार बना सकते हैं. ये नैसर्गिक गठबंधन है. बीजेपी-जेडीयू में कोई टकराहट नहीं है. लालू जी के साथ कोई भला और ईमानदार आदमी बहुत दिन नहीं चल सकता यही कारण है कि मात्र डेढ़ साल में ही ये गठबंधन टूटा और बिहार में एनडीए की वापसी हुई है. बिहार को अंधेरी सुरंग से निकाल कर हम लाए हैं. डिप्टी सीएम ने कहा कि लालू अगर जेल से बाहर आते हैं तो एनडीए के लिए लड़ाई ज्यादा आसान हो जाएगी. लोग लालू को देखते ही डर जाएंगे, लेकिन फिलहाल वो जेल में बंद हैं. सामाजिक आधार ही लालू की ताकत थी जो धीरे-धीरे खिसक रहा है.



सुशील मोदी ने कहा, लालू के 15 साल के फ्रेम से बाहर नहीं निकल सकते. शहाबुद्दीन और अरुण यादव के खिलाफ लालू या राजद बोल सकते हैं क्या? लालू प्रसाद ने बिहार की हर पार्टी को तोड़ा है. हमारे साथ पांच एमएलसी का आना संवैधानिक प्रकिया है. ये दर्शाता है कि राजद पर उनकी पकड़ कितनी कमजोर हो चुकी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज