अपना शहर चुनें

States

भोजपुरी न्यूज: पूर्व मंत्री मंजू वर्मा कइली आत्मसमर्पण, मधु भी पहुंचली CBI दफ्तर

बिहार की पूर्व समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा (फाइल फोटो)
बिहार की पूर्व समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा (फाइल फोटो)

एने आज मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामला में आरोपित मधु भी आज मुजफ्फरपुर स्थित CBI दफ्तर पहुंचके खुदके CBI के समक्ष आत्मसमर्पण कर देहली.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: November 20, 2018, 11:14 PM IST
  • Share this:
बिहार के पूर्व समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा आखिरकर आत्मसमर्पण कर देहली. अपन पहचान छुपाके उ बुर्का पहिन टेम्पू से पहुंचल रहली. मझौली कोर्ट जहवां मंजू अपन वकील के माध्यम से कईली आत्मसमर्पण. आत्मसमर्पण के बाद मंजू बीमार होखे के खूबे नाटक भी कइली लेकिन ऊंखर ई साजिश कौनो काम न आइल. कोर्ट मौके पर डॉक्टर के बुलइले. डॉक्टर चेकअप कारला के बाद मंजू के स्वस्थ बतवले. जेकरा बाद न्यायालय इंखरा के 14 दिन के न्यायिक हिरासत में जेल भेज देलस.

इधर ई पूरा प्रकरण के लेके सियासत खूब भइल. विपक्ष कहता कि ई सब पहले से मैनेज रहे इतने न विपक्ष के इहो दावा बा कि ई हमनी के दबाव के नतीजे ह. जेकरा चलते मंजू वर्मा के पहले पार्टी से जेडीयू निलंबित कइलस उआर फ़िरो, मंजू ई तरह से नाटकीय अंदाज में आत्मसमर्पण कइली.

उहे सत्तापक्ष के कद्दावर नेता श्याम रजक विपक्ष के ई आरोप के सिरे से खारिज कर रहल बाड़े. श्याम रजक के कहना बा कि हमनी के सरकार केकरो के न त फ़सवेला अउर न बचावेला कानून अपन काम करेला. अउर ई ओकरे परिणाम ह की आज मंजू वर्मा कोर्ट जाके आत्मसमर्पण कइले बाड़ी. अउर त अउर ई दौरान श्याम रजक विपक्ष से ई सवाल भी कइले की तू लोगिन अपन दल से अइसन अरोपियन के कबले बाहर करव.



इधर पुलिस मुख्यालय भी मंजू वर्मा के ई कार्रवाई के लेके अपन पीठ थपथपा रहल बा. ADG मुख्यालय संजीव कुमार सिंघल के कहना बा कि मंजू वर्मा पुलिस के दबाव में आके ही आज आत्मसमर्पण कईली ह. अपन ई दावा के बल देवे खातिर ADG अबतक के पुलिसिया कार्रवाई के हवाला दे रहल बाड़े.
एने आज मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामला में आरोपित मधु भी आज मुजफ्फरपुर स्थित CBI दफ्तर पहुंचके खुदके CBI के समक्ष आत्मसमर्पण कर देहली. आत्मसमर्पण के बाद मधु कहली की जौन मामला में CBI इंखरा के खोजत रहली उ मामला से इंखर कौनो लेना देना नइखे ई मामला के जानकारी त हमरा के अख़बार से मिलल रहे. एतने न मधु के त इहा तक कहना बा कि हमारा के इहो जानकारी न रहे कि CBI हमरा के खोज रहल बाड़ी. हां ई अलग बात बा कि CBI लगातार हमर घर जाके हमर परिवार बाल बच्चा के परेशान करत रहे.

कुलमिलाक़े देखल जाओ त आज एक बार फिर से बिहार पुलिस के कार्यशैली पर सवालिया निशान लग गइल बा उहे CBI भी सवाल के घेरा में आ गइल.

(रिपोर्ट- अमित कुमार)

ये भी पढ़ें-

भोजपुरी न्यूज: तेजप्रताप के सास पहुंचली आपन समधियाना, राबड़ी से जनली दामाद की खबर

राजद बनल बा उपेंद्र कुशवाहा का हमदर्द, कहता- कबले झेल बा बेइज्जती
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज