होम /न्यूज /बिहार /Darbhanga Blast Case: आतंकी साजिश में ISI का हाथ ! NIA को मिल सकता है जांच का जिम्मा

Darbhanga Blast Case: आतंकी साजिश में ISI का हाथ ! NIA को मिल सकता है जांच का जिम्मा

दरभंगा रेलवे स्टेशन पार्सल  ब्लास्ट मामले की जांच करने आईजी अजिताभ कुमार खुद मौके पर पहुंचे थे.

दरभंगा रेलवे स्टेशन पार्सल ब्लास्ट मामले की जांच करने आईजी अजिताभ कुमार खुद मौके पर पहुंचे थे.

Darbhanga Blast Update: बिहार के दरभंगा स्टेशन पर हुए इस ब्लास्ट के 6 दिनों की जांच में शक का दायरा लगातार बड़ा होता जा ...अधिक पढ़ें

पटना/दरभंगा. बिहार के दरभंगा स्टेशन पर हुए ब्लास्ट (Darbhanga Station Blast) की जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है वैसे-वैसे नई और बड़ी जानकारी जांच एजेंसियों के हाथ आ रही है. अब तक की जांच में धमाके के पीछे बड़ी आतंकी साजिश और इसके तार पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी यानिकि ISI से जुड़े होने के पुख्ता साक्ष्य जांच एजेंसियों के हाथ लगे हैं. चुकी साजिश में शामिल संदिग्धों का कनेक्शन बिहार, तेलंगाना और उत्तर प्रदेश से है तो इस वजह से जांच की जिम्मा राष्ट्रीय जांच एजेंसी NIA को सौंपा जा सकता है. जांच एजेंसियों के आधिकारिक सूत्रों की मानें तो बहुत जल्द इस ब्लास्ट की जांच NIA को सौंपे जाने की संभावना है.

बिहार, तेलंगाना, उत्तरप्रदेश के बाद अब जम्मू-कश्मीर तक पहुंची जांच

गौरतलब है कि बीते 6 दिनों की जांच में पार्सल ब्लास्ट का दायरा लगातार बड़ा होता जा रहा है. बिहार में हुए इस ब्लास्ट का कनेक्शन पहले तेलंगाना फिर झारखंड इसके बाद उत्तर प्रदेश होते हुए अब जम्मू कश्मीर तक जा पहुंचा है, जिसकी बजह से अब यह साफ होने लगा है कि साजिश बहुत बड़ी थी. जम्मू की जेल में बिहार के ही छपरा के मढ़ौरा का रहने वाला मो. जावेद बंद है. उसके ऊपर आतंकवादियों को हथियार सप्लाई करने का आरोप है.

कौन है सूफियान

दरभंगा ब्लास्ट में रेल पुलिस के सामने जिस मो. सूफियान का नाम सामने आया, जिसकी तलाश चल रही है सूत्रों का दावा है कि वह मो. सूफियान जम्मू के जेल में बंद मो. जावेद का ही साथी है. आपस में इन दोनों का पुराना कनेक्शन है. संभावना है कि जल्द बिहार ATS की टीम जम्मू जा सकती है और वहां जेल में बंद जावेद से इस मामले पर पूछताछ कर सकती है. दरभंगा ब्लास्ट का कनेक्शन किसी आतंकी संगठन से है या नही इस पर बिहार पुलिस मुख्यालय आधिकारिक तौर पर कुछ भी कहने से बच रहे हैं.

दोनों जगहों पर संदिग्धों से हुई पूछताछ 

बिहार रेल पुलिस की दो टीमें इस वक्त राज्य के बाहर जांच कर रही हैं. एक DSP की अगुवाई में पहली टीम तेलंगाना के सिकंदराबाद में मौजूद हैं जो अब तक 3 संदिग्धों से इस मामले में पूछताछ कर चुकी है वहां के पार्सल क्लर्क का भी सोमवार को बयान दर्ज किया गया था. स्टेशन में लगे CCTV कैमरे के फुटेज और पार्सल क्लर्क से मिली जानकारी के आधार पर संदिग्धों का स्केच भी जारी किया जा चुका है. तेलंगाना पुलिस और वहां की ATS बिहार रेल पुलिस की भरपूर मदद कर रही है. दोनों ही राज्यों की पुलिस टीम मिलकर दरभंगा ब्लास्ट के पीछे छिपे असली चेहरे तक पहुंचने में जुटी है. इसी तरह रेल पुलिस की दूसरी टीम उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में है. वहां भी अब तक शक के आधार पर एक संदिग्ध से पूछताछ हो चुकी है.

रेल पुलिस के एडीजी बोले

पार्सल को किसने बुक कराया था पूरे मामले पर मंगलवार को बिहार रेल पुलिस के ADG निर्मल कुमार आजाद से न्यूज़18 ने बात की. उन्होंने कहा कि बहुत कम समय में उनकी टीम ने काफी तेजी से इस मामले की पड़ताल की है. काफी सारे इनपुट्स जुटाए हैं जिसके आधार पर कुछ लीड्स मिले हैं. अभी भी दो टीमें बिहार से बाहर हैं. टीम को उस शख्स की तलाश है जिसने सिकंदराबाद में दरभंगा के लिए पार्सल को बुक कराया था. वो शख्स कौन है उसकी पहचान के लिए लगातार काम चल रहा है. रेल पुलिस की टीम जल्द ही बेहतर रिजल्ट देगी.

17 जून को हुआ था ब्लास्ट

मालूम हो कि सिकंदराबाद-दरभंगा एक्सप्रेस गाड़ी संख्या 07007 के कोच संख्या 07829 से पार्सल बिहार के दरभंगा पहुंचा था. 17 जून को दरभंगा जंक्शन के प्लेटफार्म संख्या एक पर दोपहर 3.25 बजे अनलोडिंग के दौरान ही उसमें ब्लास्ट हुआ था.

Tags: Bihar News, Blast, Crime In Bihar, Darbhanga news, NIA

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें