Home /News /bihar /

नीति आयोग MPI रिपोर्ट: RJD के निशाने पर नीतीश सरकार, JDU ने नीति आयोग पर उठाये सवाल

नीति आयोग MPI रिपोर्ट: RJD के निशाने पर नीतीश सरकार, JDU ने नीति आयोग पर उठाये सवाल

नीति आयोग की जारी की गई एमएसआई रिपोर्ट को आधार बनाकर विपक्षी पार्टियों ने नीतीश सरकार पर निशाना साधा है (फाइल फोटो)

नीति आयोग की जारी की गई एमएसआई रिपोर्ट को आधार बनाकर विपक्षी पार्टियों ने नीतीश सरकार पर निशाना साधा है (फाइल फोटो)

Bihar News: नीति आयोग ने पहली बार बहुआयामी गरीबी सूचकांक MPI जारी किया है जिसमें बिहार को देश भर में सबसे गरीब राज्य घोषित किया गया है. रिपोर्ट के अनुसार बिहार में 51.91 प्रतिशत लोग गरीब हैं. वहीं, कुपोषण के दृष्टि से भी बिहार सबसे सबसे ज्यादा कुपोषित राज्य है. इस रिपोर्ट ने विपक्षी पार्टियों को नीतीश सरकार पर हमला बोलने का बड़ा मौका हाथ दे दिया है

अधिक पढ़ें ...

पटना. नीति आयोग (Niti Aayog) की गरीबी सूचकांक रिपोर्ट जारी होते ही बिहार का सियासी (Bihar Politics) पारा गर्म हो गया है. नीति आयोग ने पहली बार बहुआयामी गरीबी सूचकांक MPI (Multidimentional Poverty Index) जारी किया है जिसमें बिहार (Bihar) को देश भर में सबसे गरीब राज्य घोषित किया गया है. रिपोर्ट के अनुसार बिहार में 51.91 प्रतिशत लोग गरीब हैं. वहीं, कुपोषण के दृष्टि से भी बिहार सबसे सबसे ज्यादा कुपोषित राज्य है. इस रिपोर्ट ने विपक्षी पार्टियों को नीतीश सरकार (Nitish Government) पर हमला बोलने का बड़ा मौका हाथ दे दिया है. राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने सवाल उठाते हुए कहा कि चंद रोज पहले जेडीयू ने 15 साल बेमिसाल कार्यक्रम चलाकर बिहार को बेमिसाल बताया था. नीति आयोग की रिपोर्ट (Niti Aayog Report) जारी होने के बाद सवाल खड़ा होता है कि यह कैसा बेमिसाल राज्य है जहां लगभग 52 प्रतिशत लोग गरीब हैं.

वहीं, कांग्रेस के एमएलसी प्रेमचंद्र मिश्रा ने भी सवाल खड़ा करते हुए कहा कि यह रिपोर्ट केंद्र के आयोग द्वारा जारी हुआ है. यह साबित करता है कि जब चेहरा खराब है तो आईना को ही दोष दे रहे हैं.

जेडीयू ने नीति आयोग पर उठाया सवाल

नीति आयोग की जारी ताजा MPI रिपोर्ट में बिहार को सबसे गरीब राज्य घोषित करने पर सत्ताधारी जनता दल युनाइटेड (जेडीयू) ने नीति आयोग पर सवाल खड़ा किया है. पार्टी के नेता नीरज कुमार ने कहा कि गरीबों के उत्थान के लिए सरकार में कई योजनाएं चलाई हैं. महिलाओं के लिए, आधारभूत संरचना के लिए, रोजगार के लिए हर क्षेत्र में बिहार ने बड़ी प्रगति की है इसलिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को कई अवार्ड भी मिले हैं. उन्होंने कहा कि आरजेडी बताए कि जब झारखंड साथ था, कोयला भी प्रचुर मात्रा में था तो भी बिजली लोगों के घरों तक क्यों नहीं पहुंची. नीति आयोग को भी अपना पैमाना बदलना चाहिए क्योंकि विकसित राज्यों और पिछड़े राज्य दोनों को एक ही पैमाने पर नहीं देख सकते.

नीति आयोग ने रिपोर्ट में क्या आंकड़े जारी किए हैं

नीति आयोग द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार बिहार देश का सबसे गरीब राज्य है. वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार बिहार की आबादी 10.4 करोड़ है जिसमें से लगभग 52 प्रतिशत आबादी यानी 5.4 करोड़ लोग गरीबी में जीवन-बसर कर रहे हैं. देश के सबसे गरीब पांच राज्यों में बिहार के अलावा झारखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और मेघालय है. वहीं, सबसे बेहतर राज्यों में केरल सबसे ऊपर है. उसके बाद गोवा, सिक्किम, तमिलनाडु और पंजाब का नंबर शामिल है.

Tags: Bihar News in hindi, Bihar politics, Niti Aayog, PATNA NEWS, बिहार

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर