Home /News /bihar /

नीतीश कैबिनेट की बैठक में 32 एजेंडों पर लगी मुहर

नीतीश कैबिनेट की बैठक में 32 एजेंडों पर लगी मुहर

वित्तीय वर्ष समाप्त होने से पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सभी मामलों को निपटा लेना चाहते हैं. निगम, आयोग सहित अन्‍य विभागों को आर्थिक परेशानी न हो, इसके लिए शनिवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कैबिनेट की बैठक बुलाई.

वित्तीय वर्ष समाप्त होने से पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सभी मामलों को निपटा लेना चाहते हैं. निगम, आयोग सहित अन्‍य विभागों को आर्थिक परेशानी न हो, इसके लिए शनिवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कैबिनेट की बैठक बुलाई.

वित्तीय वर्ष समाप्त होने से पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सभी मामलों को निपटा लेना चाहते हैं. निगम, आयोग सहित अन्‍य विभागों को आर्थिक परेशानी न हो, इसके लिए शनिवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कैबिनेट की बैठक बुलाई.

वित्तीय वर्ष समाप्त होने से पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सभी मामलों को निपटा लेना चाहते हैं. निगम, आयोग सहित अन्‍य विभागों को आर्थिक परेशानी न हो, इसके लिए शनिवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कैबिनेट की बैठक बुलाई.

इस बैठक में 32 एजेंडों पर मुहर लगी. कैबिनेट ने पीडीएस दुकानदारों को मार्जीन मनी भुगतान के लिए 102 करोड़ रुपए स्वीकृत की. पिछले सप्ताह ही राज्य सरकार ने पीडीएस दुकानदारों को मार्जीन मनी में वृद्धि की है. नालंदा के राजगीर में बनने वाला आईटी पार्क के लिए भी कैबिनेट ने 52 करोड़ रुपए स्वीकृत की.

साथ ही भ्रष्टाचार के मामले में दोषी नालंदा के तत्कालीन पीएचसी चिकित्सक आशुतोष डोलकिया को सेवा से बर्खास्त किया गया. शेरघाटी के अनुमंडल न्यायिक पदाधिकारी राम सज्जन की भी बर्खास्तगी पर मुहर लग गई.

सरकार अपनी योजनाओं और कामकाज को जन-जन तक पहुचाने के लिए विज्ञापन एजेंसी चुनने के लिए टेंडर का सहारा लेगी. टेंडर से ही एजेंसी का तलाश होगी. सरकार ने नियोजित शिक्षको के वेतन के लिए 2 करोड़ रुपए की मंजूरी दी.

इसके अलावा, कैबिनेट ने पंचम वित्त आयोग के कार्यकाल को 31 दिसंबर 2015 तक विस्तार करने का फैसला लिया. आयोग का कार्यकाल 31 मार्च 2015 को खत्म हो रहा था.

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर