Home /News /bihar /

nitish government decision to construct waqf bhawan in every district of bihar irks bjp nodmk8

नीतीश सरकार के वक़्फ़ भवन बनाने के निर्णय पर BJP को आपत्ति, पूछा- क्यों नहीं बने तीर्थ भवन? 

नीतीश सरकार ने बिहार के हर जिले में वक़्फ़ भवन का निर्माण कराने का निर्णय लिया है जिसके बाद सहयोगी बीजेपी ने इशारों-इशारों में तुष्टिकरण का आरोप लगाया है

नीतीश सरकार ने बिहार के हर जिले में वक़्फ़ भवन का निर्माण कराने का निर्णय लिया है जिसके बाद सहयोगी बीजेपी ने इशारों-इशारों में तुष्टिकरण का आरोप लगाया है

Bihar News: नीतीश सरकार ने राज्य के हर जिले में वक़्फ़ भवन का निर्माण कराने का निर्णय लिया है जिसके बाद सहयोगी बीजेपी ने इशारों-इशारों में तुष्टिकरण का आरोप लगाते हुए कहा कि जब अल्पसंख्यकों के लिए वक़्फ़ भवन का निर्माण हो सकता है तो हिंदुओं के लिए सरकार हर जिले में तीर्थ भवन का निर्माण क्यों नहीं कर सकती

अधिक पढ़ें ...

पटना. नीतीश सरकार के एक फैसले ने बिहार में जनता दल युनाइटेड (जेडीयू) और बीजेपी को फिर आमने-सामने ला दिया है. नीतीश सरकार (Nitish Government) ने राज्य के हर जिले में वक़्फ़ भवन (Waqf Bhawan) का निर्माण कराने का निर्णय लिया है जिसके बाद सहयोगी बीजेपी ने इशारों-इशारों में तुष्टिकरण का आरोप लगाते हुए कहा कि जब अल्पसंख्यकों के लिए वक़्फ़ भवन का निर्माण हो सकता है तो हिंदुओं के लिए सरकार हर जिले में तीर्थ भवन का निर्माण क्यों नहीं कर सकती. दरअसल बिहार सरकार (Bihar Government) के स्तर पर सभी जिले में वक़्फ़ भवन बनाया जा रहा है. किशनगंज, मधुबनी, मुजफ्फरपुर और दरभंगा में इसका निर्माण लगभग पूरा भी कर लिया गया है. इसको लेकर अब सियासी हलचल तेज होने लगी है, लेकिन उसके पहले यह जानना जरूरी है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की सरकार आखिर वक़्फ़ भवन का निर्माण किस उद्देश्य से करा रही है.

शिया वक़्फ़ बोर्ड के अध्यक्ष इरशाददुल्लाह वक़्फ़ भवन के निर्माण के उद्देश्य को बताते हुए यह कहना नही भूलते कि नीतीश सरकार का यह कदम मुस्लिम समुदाय के लिए बेहद महत्वपूर्ण है, जिसे आज तक किसी ने नहीं किया है. बिहार के हर जिले में वक़्फ़ भवन निर्माण कराने का मुख्य उद्देश्य है कि अल्पसंख्यक समुदाय के छात्र-छात्राएं प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर सकें, इसके लिए कोचिंग की व्यवस्था की जाएगी जिसकी समस्या उनके सामने रहती है. वहीं, वक़्फ़ भवन में मैरेज हॉल होगा. साथ ही वक़्फ़ भवन में कई और भी सहूलियतें होगी जो मुस्लिम छात्र छात्राओं को उपलब्ध होगा.

लेकिन बिहार सरकार के इस फैसले पर बीजेपी कोटा से मंत्री नीरज कुमार बबलू कहते हैं कि हर जिले में वक़्फ़ भवन का निर्माण हो यह सही नहीं है. ऐसे में तो हर धर्म के तरफ से इस तरह की मांग उठने लगेगी.  हर जिले में बनाने का कोई मतलब नहीं है, इससे तुष्टिकरण को बढ़ावा मिलता है जो ठीक नहीं है. वहीं, बीजेपी कोटे से ही सरकार के एक और मंत्री नितिन नवीन कहते हैं कि हर जिले में वक़्फ़ भवन का निर्माण सरकार करा रही है, कराए, लेकिन जब वक़्फ़ भवन का निर्माण हर जिले में हो सकता है तो हर ज़िले में हिंदुओं के लिए तीर्थ भवन का निर्माण क्यों नहीं हो सकता है. वो भी कराना चाहिए ताकि समाज में अच्छा मैसेज जा सके.

ज़ाहिर है बीजेपी के नेता इस पर खुल कर तो नहीं बोल रहे हैं, लेकिन इशारों-इशारों में नीतीश सरकार के इस निर्णय पर सवालिया निशान लगा ही रहे हैं. अब ज़रा यह समझिए कि वक़्फ़ भवन का बिहार के जिस भी जिले में निर्माण हो रहा है वो वक़्फ़ बोर्ड की ही जमीन पर हो रहा है, लेकिन उसके निर्माण की जिम्मेदारी बिहार सरकार उठा रही है जिसका खर्च करोड़ों में है. न्यूज़ 18 को जो कागजात उपलब्ध हुए हैं उसके मुताबिक एक वक़्फ़ भवन के निर्माण में कई करोड़ रुपये की लागत लग रही है और यह राशि बिहार सरकार वहन कर रही है.

बहरहाल बिहार में इसके पहले भी बीजेपी के नेता धार्मिक न्यास बोर्ड की बदहाली, संस्कृत शिक्षा बोर्ड की बदहाली सहित मंदिरों और मठों की बदहाली की बात उठा चुके हैं, लेकिन अब जबकि वक़्फ़ भवन का निर्माण कराया जा रहा है तो बीजेपी के नेता अपनी नाराजगी छिपाने की कोशिश नहीं कर सके और इशारों में ही सही सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साध रहे हैं. माना जा रहा है कि यह मामला आगे और तूल पकड़ सकता है.

Tags: Bihar News in hindi, CM Nitish Kumar, Nitish Government, Shia waqf board

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर