कोरोना त्रासदी को लेकर नीतीश सरकार का बड़ा फैसला, डॉक्टरों और पारा मेडिकल स्टाफ की नियुक्ति का निर्देश

बिहार में जारी कोरोना त्रासदी के बीच डॉक्टरों की नियुक्ति करेगी नीतीश सरकार (फाइल फोटो)

बिहार में जारी कोरोना त्रासदी के बीच डॉक्टरों की नियुक्ति करेगी नीतीश सरकार (फाइल फोटो)

Bihar Corona Crisis: बिहार में जारी कोरोना त्रासदी के बीच डॉक्टरों की किल्लत के मामले लगातार सामने आ रहे हैं. डॉक्टरों की कमी ने सरकार की चिंता को काफी बढ़ा रखा है, ऐसे में इस फैसले को काफी अहम माना जा रहा है.

  • Share this:
पटना. बिहार में कोरोना के कहर के बीच डॉक्टरों और पारा मेडिकल स्टाफ (Doctor Recruitment Bihar) की कमी को देखते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने बड़ा निर्णय लिया है. नीतीश कुमार ने निर्देश जारी किया है कि बिहार में खाली पड़े चिकित्सकों एवं पारा मेडिकल स्टाफ के पदों पर नियुक्ति जल्द से जल्द की जाए. अपने निर्देश में उन्होंने यह भी कहा है कि walk-in-interview प्रक्रिया के माध्यम से हर जिले में जरूरत के अनुसार डॉक्टरों और पारा मेडिकल स्टाफ के रिक्त पदों पर नियुक्ति की जाए. मुख्यमंत्री के इस निर्देश के बाद CM के प्रधान सचिव दीपक कुमार की अध्यक्षता में एक महत्वपूर्ण बैठक भी आयोजित की गई , जिसमें निर्णय लिया गया कि डॉक्टरों एवं पारा मेडिकल स्टाफ के रिक्त पदों को भरने की प्रक्रिया शीघ्र की जाएगी .

सीएम नीतीश ने की लोगों से अपील

बिहार में कोरोना का कहर लगातार जारी है. राज्य के लोग इस संक्रमण से त्राहिमाम कर रहे हैं. बड़ी संख्या में लोग बिना इलाज के ही मर रहे हैं. इन सबके बीच बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार वासियों से बड़ी अपील की है. उन्होंने कहा है कि कोरोना का संक्रमण मानवता पर अब तक का सबसे गंभीर संकट है, ऐसे में सभी लोग सकारात्मक सोच रखें और धैर्य का परिचय दें. मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा है कि कोरोना के कारण हमलोग मानवता पर आये अब तक के सबसे गंभीर संकट का सामना कर रहे है. इससे उबरने के लिए सरकार पूरी प्रतिबद्धता के साथ जरूरी उपाय कर रही है. इस जंग में आप सभी का सहयोग जरूरी है.  कृपया जागरूक और सतर्क रहें, सकारात्मक सोच रखें, डॉक्टरों की सलाह और गाइडलाइंस का पालन करें.

नीतीश का ट्वीट
CM ने अपने अगले ट्वीट में कहा है कि कोरोना से उत्पन्न विकट समय में स्वास्थ्यकर्मी जिस प्रतिबद्धता के साथ सेवा देकर लोगों की जान बचा रहे हैं, उसके लिए वे अभिवादन के पात्र हैं. यह जरूरी है कि हम सब विपरीत परिस्थितियों में धैर्य बनाये रखें और डॉक्टरों व स्वास्थ्यकर्मियों को वह सम्मान प्रदान करें, जिसके वे हकदार हैं।

जदयू ने बनाई पार्टी के आठ पदाधिकारियों की टीम

जनता दल यूनाइटेड कोरोना पीड़ितों और उनके परिजनों की हरसंभव सहायता के लिए एक खास पहल की है. राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह और प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा ने कार्यकर्ताओं का आह्वान किया है कि वे कोरोना पीड़ितों और उनके परिजनों की हरसंभव सहायता करें. पार्टी के हर स्तर के पदाधिकारियों से कहा गया है कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में सेवाकार्य में जुटें, साथ ही अपना ध्यान भी रखे. इसी क्रम में बिहार प्रदेश जदयू अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा ने जदयू के आठ पदाधिकारियों की टीम का गठन किया है जो मोबाइल से संपर्क करने पर कोरोना से पीड़ित लोगों और उनके परिजनों की सहायता करेंगे.



आठ पदाधिकारी और उनके मोबाइल नंबर इस प्रकार हैं:

कमल नोपानी, प्रदेश सचिव, बिहार जदयू (9431018530),

अशोक वर्मा, प्रदेश अध्यक्ष, जदयू ट्रेडर्स प्रकोष्ठ (7033586581),

डॉ. प्रभात चन्द्रा, प्रदेश अध्यक्ष, जदयू कलमजीवी प्रकोष्ठ (9835038261),

उपेन्द्र विभूति, प्रदेश अध्यक्ष, दक्षिण बिहार व्यावसायिक प्रकोष्ठ (9835041857)

श्याम पटेल, प्रदेश अध्यक्ष, दक्षिण बिहार युवा जदयू (9304261386),

पप्पू सिंह कुशवाहा, प्रदेश अध्यक्ष, उत्तर बिहार सेवादल प्रकोष्ठ (7004722371),

डॉ. शक्ति कुमार शोला उर्फ शक्ति कुशवाहा, प्रदेश पदाधिकारी (9470025316)

राहुल खंडेलवाल, जिलाध्यक्ष, युवा जदयू, पटना (8969560115)।

उमेश कुशवाहा ने इस मौके पर कहा कि जदयू की यह टीम कोरोना काल में नीतीश सरकार द्वारा किए जा रहे कार्यों एवं आमलोगों के बीच सेतु का काम करेगी. लोगों को चिकित्सा सुविधा एवं राहत कार्यों की समुचित जानकारी दी जाएगी तथा उनका मनोबल बढ़ाने का हरसंभव प्रयास किया जाएगा .
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज