बिहार: कोरोना से मौत पर 4 लाख दे रही बिहार सरकार, इस नंबर पर फोन कर जानें पूरी प्रक्रिया

बिहार में कोविड से मौत पर नीतीश सरकार दे रही चार लाख मुआवजा

बिहार में कोविड से मौत पर नीतीश सरकार दे रही चार लाख मुआवजा

Bihar News: कोरोना में जिन बच्चों ने अपने माता-पिता या फिर इनमें से किन्हीं एक को खो दिया है, ऐसे अनाथ बच्चे-बच्चियाों को नीतीश सरकार हर महीने 1500 रुपये देगी. साथ ही ऐसे बच्चे जिनके अभिभावक नहीं हैं उनकी देखभाल सरकारी बाल गृह में की जाएगी.

  • Share this:

पटना. कोरोना संक्रमण की चपेट में आने के बाद बिहार में 5000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. काेविड-19 से मौत होने पर मुख्यमंत्री आपदा कोष से आश्रित को चार लाख रुपये मुआवजा भुगतान का प्रवधान किया गया है. हालांकि कई ऐसे मामले सामने आए हैं कि पीड़ितों को मुआवजा राशि कहां मिलेगी, या फिर इसकी प्रक्रिया क्या है, इसकी जानकारी नहीं रहने से परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. पीड़ित परिवारों को आसानी से मुआवजा राशि मिल पाए इसको लेकर नीतीश सरकार ने कोरोना कंट्रोल रूम बनाया है जहां इस बाबत पूरी जानकारी ली जा सकती है.

पटना में कोविड कंट्रोल रुम का नंबर - 0612-2219090 और वाट्सएप नंबर - 9430244559 पर फोन कर या फिर मैसेज कर पूरी जानकारी प्राप्त की जा सकती है. इसके बाद कोई भी पीडि़त मुआवजा के खुद कुछ जरूरी डॉक्‍यूमेंट के साथ मुआवजा के लिए आवेदन कर सकता है. पटना में अब तक कोरोना वायरस संक्रमण से मौत संबंधित 106 लोगों का कॉल आ चुका है. बता दें कि बिहार सरकार ने आदेश दिया है कि कोई भी जानकारी कोविड कंट्रोल रूप में आ रही है, उसकी जांच ठीक से की जाए और मुआवजे की प्रक्रिया पूरी की जाए.

पटना डीएम ने कही यह बात

पटना के जिलाधिकारी डॉ. चंद्रशेखर सिंह ने इसी मसले को लेकर शनिवार को कोरोना कंट्रोल रूम में मुआवजा के लिए दावेदारी संबंधित कॉल की समीक्षा की. इस दौरान बताया गया कि जिन 106 लोगों ने मृतक के बारे में जो सूचनाएं दर्ज कराई है उसकी जांच संवेदनशीलता के साथ करने का आदेश दिया गया है. उन्होंने बताया कि अब तक पटना जिले में 268 मृतकों के स्वजन को मुआवजा राशि का भुगतान करा दिया गया है. 369 मृतकों की पुष्टि के बाद आवेदन  की जांच की जा रही है. इन सभी की जांच कर सरकार के आदेश के तहत एक सप्ताह में भुगतान के लिए सभी औपचारिकता पूरी करने का निर्देश दिया गया है.
बिहार सरकार ने लिया बड़ा फैसला

बता दें कि कोरोना संक्रमण की चपेट में आने के कारण बिहार में कई बच्चों ने अपने माता-पिता या फिर इनमें से किन्हीं एक को खो दिया है. ऐसे अनाथ बच्चे-बच्चियों के लिए बिहार सरकार ने बड़ा फैसला लिया है और इनकी आर्थिक मदद को आगे आई है. सरकार के निर्णय के अनुसार वैसे बच्चे- बच्चियां जिनके माता पिता दोनों की मौत हो गई, या फिर इनमें से किसी एक की मृत्यु कोरोना संक्रमण की वजह से हुई हो, वैसे बच्चों को बिहार सरकार की योजना बाल सहायता योजना कि अंतर्गत 18 साल के होने तक 1500 रुपया प्रतिमाह दिया जाएगा.

बिहार सरकार का एक और बड़ा निर्णय



इसके साथ ही बिहार सरकार ने एक और बड़ा फैसला करते हुए तय किया है कि जिन अनाथ बच्चे बच्चियां के अभिभावक नहीं हैं उनकी देखभाल सरकारी बाल गृह में की जाएगी. साथ ही ऐसे अनाथ बच्चियों का कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय में प्राथमिकता के आधार पर नामांकन भी कराया जाएगा. इस बात की जानकारी स्वयं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ट्वीट के माध्यम से दी है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज