Home /News /bihar /

nitish government will provide land to landless people of bihar for house bramk

बिहार में बेघरों को जमीन देगी नीतीश सरकार, जानें किसे और कैसे मिलेगा योजना का लाभ

बिहार के भूमिहीनों को जमीन देगी नीतीश सरकार (सांकेतिक चित्र)

बिहार के भूमिहीनों को जमीन देगी नीतीश सरकार (सांकेतिक चित्र)

Nitish Government Land Scheme: बिहार में एक अनुमान के मुताबिक तीन डिसमिल जमीन पर सरकार ज्यादा से ज्यादा 60 हजार रुपया तक खर्च करेगी. इसका लाभ वैसे भूमिहीन परिवारों को को घर बसाने के लिए मिलेगा जिनके पास रहने के लिए घर और सिर के उपर छत नहीं है. सरकार इसके लिए वैसे जमीनों को चिन्हित कर रही है जो गैर मजरुआ, सीलिंग या फिर भू-दान की जमीन हैं.

अधिक पढ़ें ...

पटना. बिहार के लोगों के लिए एक बड़ी और अच्छी खबर है. बिहार में गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले वैसे लोगों को जिनके पास घर बनाने के लिए जमीन नहीं है उनको चिन्हित कर बिहार सरकार तीन डिसमिल जमीन की व्यवस्था करने जा रही है. ऐसे लोगों को चिन्हित भी कर लिया गया है. इस योजना का फायदा बिहार सरकार अनुसूचित जाति, पिछड़े एंव अति पिछड़ा वर्ग के वैसे लोगों को दिया जाएगा जिनके पास घर बनाने के लिए जमीन नहीं है. ऐसे लोगों को ही सरकारी स्तर पर जमीन मुहैया करायी जाएगी.

सरकार ने इसके लिए सर्वे कराया था और एक सूची भी बनाई थी. जिनका नाम वित्तीय वर्ष 2021-22 में शामिल हुआ था लेकिन उन्हें जमीन नहीं मिल पाई थी लेकिन अब उन्हें ही इसका फायदा मिलेगा. इस योजना के तहत सूची में शामिल एक परिवार को तीन डिसमिल जमीन देने की योजना का प्रावधान सरकार की तरफ से है. जाहिर है जमीन लेने वालों की संख्या ज़्यादा है इसलिए जमीन की जरूरत भी ज्यादा पड़ेगी, इसलिए सरकार बिहार में वैसे जमीन को देने की कोशिश कर रही है जो जमीन गैर मजरुआ, सीलिंग या फिर भू-दान की जमीन हैं. उसी जमीन में ऐसे परिवारवालों को बसाया जाएगा. अगर ऐसी जमीन नहीं मिलती है तो बिहार सरकार खुद से जमीन खरीद कर ऐसे परिवार वालों को देगी. एक अनुमान के मुताबिक तीन डिसमिल जमीन पर सरकार ज्यादा से ज्यादा 60 हजार रुपया तक खर्च करेगी.

बिहार के राजस्व-भूमि सुधार मंत्री राम सूरत राय कहते हैं कि सरकार की कोशिश है की कोई भी बिहार में बिना छत के ना रहे है और इसी कड़ी में सरकार ने ये फैसला किया है और इसके लिए राजस्व भूमि सुधार विभाग तैयारी में जोर शोर से जुट गया है. राम सूरत राय कहते हैं कि सर्वे के मुताबिक पिछले वित्तीय वर्ष में ऐसे पिछड़े वर्ग के परिवार वालों की संख्या लगभग 10165 थी और अति पिछड़ा वर्ग के 18778 परिवार थे जिनके पास आवास के लिए जमीन नहीं थी.

Tags: Bihar News, Nitish Government, PATNA NEWS

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर