अपना शहर चुनें

States

साल के पहले दिन एक्शन मोड में नजर आए नीतीश कुमार, अब हफ्ते में एक दिन जाएंगे सचिवालय

नीतीश कुमार साल के पहले दिन मुख्य सचिवालय पहुंच कर कई विभागों की समीक्षा बैठक की.
नीतीश कुमार साल के पहले दिन मुख्य सचिवालय पहुंच कर कई विभागों की समीक्षा बैठक की.

बिहार में मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के नेतृत्‍व में एनडीए सरकार (NDA Gov.) अब एक्‍शन मोड में दिख रही है. नए साल (New Year) के पहले ही दिन नीतीश कुमार एक्शन मोड में नजर आए. नीतीश कुमार साल के पहले दिन मुख्य सचिवालय (Secretariat) पहुंच कर कई विभागों की समीक्षा बैठक की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 1, 2021, 8:50 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार में मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के नेतृत्‍व में एनडीए सरकार (NDA Gov.) अब एक्‍शन मोड में दिख रही है. नए साल (New Year) के पहले ही दिन नीतीश कुमार एक्शन मोड में नजर आए. नीतीश कुमार साल के पहले दिन मुख्य सचिवालय (Secretariat) पहुंच कर कई विभागों की समीक्षा बैठक की. नीतीश कुमार ने मीडिया से बात करते हुए कहा, '2021 में आने वाली चुनौतियों के बारे में नही सोचता. मैं चुनौतियों पर काम नहीं करता मैं जनता के लिए और जनता के हित में काम करता हूं. बता दें कि नीतीश कुमार ने एक जनवरी को एक साथ तीन विभागों की समीक्षा बैठक की, जिसमें ग्रामीण विकास विभाग परिवहन विभाग और लोक शिकायत निवारण अधिकार अधिनियम की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को कई जरूरी दिशा-निर्देश भी दिया.

साल के पहले दिन नीतीश कुमार एक्शन में
शुक्रवार को पूरे सचिवालय में अधिकारियों और कर्मचारियों के बीच में भागम-भाग का माहौल बना रहा, क्योंकि बिना पहले से तय कार्यक्रम के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सचिवालय पहुंचे थे. लेट लतीफ रहने वाले कर्मचारियों के हाथ पांव फूलने लगे थे, क्योंकि जब वह सचिवालय पहुंचे तो उन्होंने देखा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपने चेंबर में समीक्षा बैठक कर रहे हैं और सभी आलाधिकारी सचिवालय पहुंचे हुए हैं.

Bihar, Nitish Kumar
शुक्रवार को पूरे सचिवालय में अधिकारियों और कर्मचारियों के बीच में भागम-भाग का माहौल बना रहा (फाइल फोटो)

अब सप्ताह में एक दिन सचिवालय आएंगे


अचानक सचिवालय पहुंचने के सवाल पर नीतीश कुमार ने खुद कहा कि पहले वे हमेशा सचिवालय आते थे और यहां बैठ कर काम करते थे, लेकिन पिछले कुछ समय से वे सचिवालय नहीं आ रहे थे. अब वह हमेशा सचिवालय आएंगे और यहां बैठकर काम करेंगे. नीतीश कुमार ने कहा हफ्ते में एक दिन वे सचिवालय जरूर आएंगे. सभी योजनाओं पर काम हो रहा है. योजनाओं का सर्वेक्षण करा कर काम किया जा रहा है. बजट में सरकार की सभी योजनाओं का प्रावधान हो इस पर काम किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें:बड़ी खबर: क्या MP का बदला लेने के लिए उत्तराखंड में BJP विधायकों को कांग्रेस में शामिल करवाने जा रही हैं इंदिरा

2021 में बिहार में नही होगा सियासी संकट
बिहार में इन दिनों जोड़-तोड़ की सियासत पर खूब बयानबाजी हो रही है. सियासी गलियारे में चर्चा इस बात की है कि क्या वाकई में वर्ष 2021 में बिहार की सियासत पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं? एक ओर महागठबंधन की तरफ से नीतीश कुमार को एनडीए छोड़ महागठबंधन का हिस्सा बनने का ऑफर दिए जा रहा है तो दूसरी ओर अरुणाचल ममामले ने जेडीयू - बीजेपी में तल्खी बढ़ा दी है, लेकिन आज खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने यह साफ कर दिया कि बिहार में कोई सियासी संकट नहीं है. बता दें कि आज ही आरजेडी नेता और बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने यह बयान दिया था कि नीतीश कुमार महागठबंधन में आते हैं तो सभी साथी इस पर विचार करेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज