नीतीश कुमार और सुशील मोदी की दोस्ती को लेकर JDU के इस नेता ने कह दी बड़ी बात

सोमवार से बिहार में फिर नीतीश कुमार की सरकार बन रही है मगर इसमें डिप्टी सीएम के रूप में सुशील मोदी नहीं होंगे (फाइल फोटो)
सोमवार से बिहार में फिर नीतीश कुमार की सरकार बन रही है मगर इसमें डिप्टी सीएम के रूप में सुशील मोदी नहीं होंगे (फाइल फोटो)

केसी त्यागी (K C Tyagi) ने कहा, 'नीतीश कुमार (Nitish Kumar) चाहते थे बीजेपी का मुख्यमंत्री बने यह उनका बड़प्पन है, लेकिन पीएम मोदी (PM Modi) से लेकर बीजेपी अध्यक्ष जे पी नड्डा (J P Nadda) चाहते थे कि नीतीश कुमार ही मुख्यमंत्री बने.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 16, 2020, 3:12 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नीतीश कुमार (Nitish Kumar) सातवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री (CM)  बनने जा रहे हैं. रविवार को एनडीए (NDA) विधायक दल की बैठक में नीतीश कुमार को नेता चुना गया. इसके बाद नीतीश कुमार ने राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा भी पेश कर दिया. सोमवार शाम 4.30 बजे नीतीश कुमार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. विधानसभा चुनाव में जेडीयू (JDU) को बीजेपी (BJP) के मुकाबले 31 सीटें कम आई हैं. बीजेपी ने 74 और जेडीयू ने 43 सीटों पर जीत दर्ज की है. इसके बावजूद बीजेपी नीतीश कुमार को ही सीएम बनाने का फैसला किया है. जेडीयू के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव के सी त्यागी (K C Tyagi) ने कहा है कि बीजेपी बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी. उसके बावजूद बीजेपी केंद्रीय नेतृत्व ने नीतीश कुमार पर भरोसा जताया. चुनाव के दौरान भी अमित शाह और जेपी नड्डा ने कहा बीजेपी को सीट कम आए या ज्यादा सीएम नीतीश कुमार ही होंगे.

जेडीयू और बीजेपी एक साथ काम करती रहेगी
केसी त्यागी ने कहा, 'नीतीश कुमार चाहते थे बीजेपी का मुख्यमंत्री बने यह उनका बड़प्पन है, लेकिन पीएम से लेकर बीजेपी अध्यक्ष चाहते थे कि नीतीश कुमार ही मुख्यमंत्री बने. पिछले 15 सालों में नीतीश-सुशील मोदी ने सफलतापूर्वक संचालन किया है. दोनों जेपी आंदोलन से जुड़े नेता हैं और एक दूसरे पर विश्वास है. कभी किसी तरह की कोई शिकवा शिकायत का मौका नहीं मिला. बीजेपी का विशेषाधिकार है वो नीतीश कुमार के साथ किसे डिप्टी सीएम बनाए. अब बीजेपी के फैसले का इंतजार है और बीजेपी के फैसले को हम स्वीकार भी करेंगे. हमलोग गठबंधन को मजबूत करने की कोशिश भी करेंगे.

k c tyagi, kc tygi, jdu, Bihar Assembly Elections, Sushil Kumar Modi, Nitish Kumar, Rajnath Singh, Bihar NDA, बिहार विधानसभा चुनाव, सुशील कुमार मोदी, नीतीश कुमार, राजनाथ सिंह, बिहार एनडीए, केसी त्यागी, के सी त्यागी, नीतीश और सुशील मोदी में कैसी थी दोस्ती, पीएम मोदी, अमित शाह, जेपी नड्डाके सी त्यागी ने कहा कि नीतीश कुमार और सुशील मोदी ने मिलकर बिहार को आगे बढ़ाया.
के सी त्यागी ने कहा कि नीतीश कुमार और सुशील मोदी ने मिलकर बिहार को आगे बढ़ाया.

सुशील मोदी और नीतीश कुमार के बीच अच्छी ट्यूनिंग थी


गौरतलब है कि बिहार विधानसभा चुनाव में 125 सीट जीतने वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन ने जेडीयू के राष्‍ट्रीय अध्यक्ष और बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार को नेता चुन लिया गया. इसके साथ ही उनके फिर मुख्यमंत्री बनने का रास्‍ता साफ हो गया है. जबकि उपमुख्‍यमंत्री के तौर पर सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) के नाम पर अभी सस्‍पेंस बरकरार है. हालांकि इस बार तारकिशोर प्रसाद को विधानमंडल दल का नेता और नोनिया समाज से आने वाली रेणु देवी को उपनेता चुना गया है.



ये भी पढ़ें: Ration Card में नाम जुड़वाने को लेकर हुआ बड़ा फैसला, जानिए सबकुछ

सूत्रों के मुताबिक, बिहार की नई सरकार में इस बार दो उपमुख्‍यमंत्री बनाए जा सकते हैं और ये जिम्‍मेदारी तारकिशोर प्रसाद (Tarkishore Prasad) के साथ रेणु देवी (Ranu Devi) को मिल सकती है. एनडीए विधानमंडल दल की बैठक में सुशील कुमार मोदी ने जो भाषण दिया वह एक तरह से विदाई भाषण था. उन्होंने कहा कि पार्टी ने मुझे बहुत कुछ दिया है, नेता प्रतिपक्ष बनाया, उप मुख्यमंत्री बनाया विधानमंडल दल का नेता बनाया, लेकिन इस बार मैं चाहता हूं कि कोई चुना हुआ विधायक ही विधानमंडल दल का नेता हो. जबकि, खुद सुशील कुमार मोदी ने ही तार किशोर प्रसाद का नाम विधानमंडल दल के नेता के रूप में प्रस्तावित किया, जिस पर प्रेम कुमार और नंदकिशोर यादव ने समर्थन किया. दूसरी तरफ विधानमंडल दल के उप नेता का नाम रेणु देवी का प्रस्ताव विजय सिन्हा ने किया जिसका समर्थन संजय सरावगी ने किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज