कोरोना की बढ़ती रफ्तार पर सख्त हुए नीतीश कुमार, बिहार में प्रवेश पर दिए ये सख्त निर्देश

बिहार के सीएम नीतीश कुमार की फाइल फोटो

बिहार के सीएम नीतीश कुमार की फाइल फोटो

बिहार में कोरोना वायरस संक्रमण पर पूरा नियंत्रण रखने को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक बार फिर से तैयारियों की समीक्षा करते हुए दिशा निर्देश जारी किए हैं. उन्होंने कहा कि बिहार में बाहर आने वाले लोगों की ट्रैवल हिस्ट्री की जानकारी एवं उनके संपर्क में आने वाले लोगों को सचेत किया जाए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 21, 2021, 8:29 AM IST
  • Share this:
पटना. कोरोना की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए बिहार सरकार (Bihar government) सख्त हो गई है. बिहार में कोरोना वायरस ( corona virus) संक्रमण पर पूरा नियंत्रण रखने को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar ) ने एक बार फिर से तैयारियों की समीक्षा करते हुए दिशा निर्देश जारी किए हैं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को कोविड-19 से संबंधित उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक की. कोरोना की स्थिति को लेकर की गई इस बैठक में स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी शामिल रहे.

बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए सख्त व्यवस्था को न सिर्फ लागू करें बल्कि स्वयं उसकी निगरानी भी करें. उन्होंने कहा कि बिहार में बाहर आने वाले लोगों की ट्रैवल हिस्ट्री की जानकारी एवं उनके संपर्क में आने वाले लोगों को सचेत किया जाए.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने निर्देश देते हुए कहा कि होली पर अन्य राज्यों से लोग वापस बिहार आ रहे हैं. ऐसे में यहां आने और जाने वाले लोगों की विशेष निगरानी होनी आवश्यक है. जो लोग बाहर से बिहार के जिलों में प्रवेश कर रहे हैं उन लोगों की ट्रैवल हिस्ट्री की जानकारी रखें. उनके संपर्क में आने वाले लोगों को भी सचेत करें. सीएम ने कहा कि कोरोना की कम से कम 70 प्रतिशत आरटीपीसीआर जांच होनी चाहिए. आरटीपीसीआर जांच की रिपोर्ट 24 घंटे के अंदर मिल जानी चाहिए. इस जांच रिपोर्ट में देरी नहीं हो इसका विशेष ध्यान रखा जाए.

कोरोना गाइडलाइन का कराएं पालन: सीएम नीतीश
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि कोरोना गाइडलाइन का पूरी तरह से पालन कराया जाए. किसी भी पर्व उत्सव या आयोजन में सीमित संख्या में लोग शामिल हों. इसके लिए कोरोना की गाइडलाइन का सख्ती से पालन किया जाना चाहिए. इसके साथ ही कोरोना से बचाव को देखते हुए कोरोना टीकाकरण की रफ्तार को और बढ़ाएं. सभी हेल्थ वर्कर फ्रंटलाइन वर्कर और पुलिसकर्मियों का टीकाकरण तेजी से कराया जाए. सभी पेंशनधारियों का भी टीकाकरण अवश्य कराएं .

इसके अलावा मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार के सभी स्कूल खुले रहेंगे. यहां बच्चों की पढ़ाई जारी रहेगी. स्कूल में कोरोना संबंधित जरूरी सुविधाओं का ख्याल रखा जाए. विद्यालय प्रशासन को सोशल डिस्टेंस और कोरोना गाइडलाइन का पालन कराना सुनिश्चित करना होगा. बैठक में बताया गया कि 19 मार्च 2021 तक बिहार में  23,058,747 जांच की गई है. बिहार में प्रति 10 लाख की आबादी पर 180570 जांच की गई है. मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना को लेकर किसी तरह की अफवाह फैलाने वालों पर कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज