Home /News /bihar /

nitish kumar denied this claim of sushil modi that he desired becoming vice president of india terms it rubbish nodmk8

सुशील मोदी के 'दावे' को CM नीतीश ने बताया 'बकवास', कहा- उपराष्ट्रपति बनने की इच्छा नहीं

बुधवार को सुशील मोदी ने दावा किया था कि नीतीश कुमार भारत का उपराष्ट्रपति बनना चाहते थे, लेकिन केंद्र सरकार ने उनकी यह इच्छा पूरी नहीं की (फाइल फोटो)

बुधवार को सुशील मोदी ने दावा किया था कि नीतीश कुमार भारत का उपराष्ट्रपति बनना चाहते थे, लेकिन केंद्र सरकार ने उनकी यह इच्छा पूरी नहीं की (फाइल फोटो)

Bihar News: गुरुवार को पटना में पत्रकारों ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से सवाल किया कि क्या उपराष्ट्रपति नहीं बनाए जाने के कारण उन्होंने एनडीए छोड़ा है. इस पर, नीतीश ने कहा कि मेरे उपराष्ट्रपति बनने की इच्छा वाली बात बकवास है. मेरी ऐसी कोई इच्छा नहीं थी. उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के चुनाव में हमारी पार्टी जनता दल युनाइटेड ने पूरी तरह से एनडीए के उम्मीदवार को समर्थन दिया था

अधिक पढ़ें ...

पटना. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बीजेपी के राज्यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी (Sushil Modi) के उस दावे को ‘बकवास व फर्जी’ करार दिया कि वो (नीतीश कुमार) भारत का उपराष्ट्रपति बनना चाहते थे. गुरुवार को पटना में पत्रकारों ने नीतीश कुमार (Nitish Kumar) से सवाल किया कि क्या उपराष्ट्रपति नहीं बनाए जाने के कारण उन्होंने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) छोड़ा है. इस पर, नीतीश ने कहा कि मेरे उपराष्ट्रपति बनने की इच्छा वाली बात बकवास है. मेरी ऐसी कोई इच्छा नहीं थी. उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के चुनाव में हमारी पार्टी जनता दल युनाइटेड (जेडीयू) ने पूरी तरह से एनडीए के उम्मीदवार को समर्थन दिया था. राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के चुनाव (Vice Presidential Election 2022) के बाद ही हमने पार्टी की बैठक की.

पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी के दावे के बारे में सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि सुशील मोदी को उनकी पार्टी ने कुछ नहीं बनाया तो वो इस तरह की बात बोल रहे हैं. वो इतना मेरे खिलाफ बोलते रहे ताकि उनको जगह मिल जाए. उन लोगों के विषय में हमको कुछ भी नहीं कहना है.

नीतीश कुमार ने दावा किया कि 2020 बिहार विधानसभा चुनाव के बाद मैं मुख्यमंत्री नहीं बनना चाहता था. हमारी पार्टी के कार्यकर्ता उनके (बीजेपी) उम्मीदवारों को जिताने में लगे थे और वो लोग हमारी पार्टी के उम्मीदवारों को हराने में लगे थे. मेरी पार्टी के लोगों की उनके साथ रहने की इच्छा नहीं थी. उनसे अलग होकर हम फिर से इनके (महागठबंधन) साथ आ गए हैं और मिलकर काम करेंगे. उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि विपक्ष पूरी मजबूती के साथ एकजुट होकर आगे बढ़ने की कोशिश करेगा. जो लोग सत्ता में हैं, जितना प्रचार करना है, करते रहें.

वहीं, मंत्रिमंडल विस्तार के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि जल्द ही मंत्रिमंडल का विस्तार होगा. उन्होंने 15 अगस्त के बाद मंत्रिमंडल का विस्तार किये जाने के संकेत दिए.

मंगलवार को JDU ने NDA गठबंधन से तोड़ दिया था नाता

बता दें कि मंगलवार को नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू एनडीए गठबंधन छोड़ कर बाहर आ गई थी. जिसके बाद राज्य में बीजेपी के साथ मिलकर सरकार चला रहे नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. नीतीश कुमार के एनडीए छोड़ने के बाद महागठबंधन समेत सात दलों ने उन्हें अपना समर्थन दिया था. इसके अगले दिन यानी बुधवार को राज्यपाल फागू चौहान ने नीतीश कुमार ने आठवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई. वहीं, आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव के बेटे तेजस्वी यादव ने दूसरी बार उपमुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को अपनी पार्टी जेडीयू समेत 164 विधायकों का समर्थन प्राप्त है. (भाषा से इनपुट)

Tags: Bihar News in hindi, Bihar politics, CM Nitish Kumar, Sushil Modi

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर