8 साल बाद नीतीश कुमार ने किया स्वागत तो उपेंद्र कुशवाहा ने बताया 'बड़ा भाई'

2019 लोकसभा चुनाव से पहले उपेंद्र कुश्वाहा ने NDA से नाता तोड़ा लेकिन सफलता नहीं मिली.

Upendra Kushwaha News: जेडीयू में जाने वाले उपेंद्र कुशवाहा को नीतीश कुमार कोई बड़ी भूमिका दे सकते हैं. उनको संगठन में महत्वपूर्ण पद के साथ-साथ एमएलसी भी बनाया जा सकता है. कुशवाहा या उनके किसी करीबी को भी विधान परिषद भेजा जा सकता है.

  • Share this:
    पटना. पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) की अगुवाई वाली राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP) का जेडीयू में विलय हो गया है. रविवार को बिहार के सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की उपस्थिति में उपेंद्र कुशवाहा ने अपने पार्टी के जेडीयू में विलय की औपचारिक घोषणा की. इससे पहले उपेंद्र कुशवाहा ने पार्टी के विलय को लेकर अपनी बातों को भी प्रेस के समक्ष रखा.

    पत्रकार वार्ता से बाद जदयू कार्यालय पहुंचने पर खुद बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने उपेंद्र कुशवाहा का स्वागत किया. इस दौरान मंच पर दोनों नेता एक साथ आए, जिसके बाद उपेंद्र कुशवाहा को नीतीश कुमार ने फूलों का गुलदस्ता देकर उनका स्वागत और अभिनंदन किया साथ ही उनको गले भी लगाया.

    उपेंद्र कुशवाहा लगभग आठ साल के लंबे अंतराल के बाद जेडीयू में लौटे हैं और उनकी पूरी पार्टी का जेडीयू में विलय हो गया है. कोईरी बिरादरी से आने वाले कुशवाहा का राजनीति में लंबा करियर रहा है और वो बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष का भी किरदार निभा सके हैं. नीतीश के साथ आने के मामले पर कुशवाहा ने कहा कि ये जनता का जनादेश है. उन्होंने कहा कि ये फैसला मेरा नहीं बल्कि पार्टी की राष्ट्रीय परिषद का फैसला है.

    नीतीश कुमार को बड़ा भाई बताते हुए कुशवाहा ने कहा कि पार्टी में या सरकार में पद की कोई लालसा नहीं है. हम बिहार के लोगों के लिए काम करना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि इस विलय से बिहार के न्याय पसंद और गरीब लोग मजबूत होंगे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.