Home /News /bihar /

nitish kumar history of 2017 is repeating in bihar politics brvj

Bihar Politics: बिहार की राजनीति में रिपीट होने जा रहा 2017 का इतिहास! जानें क्या हुआ था?

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के एनडीए गठबंधन छोड़ने की खबर से बिहार की सियासत में हलचल.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के एनडीए गठबंधन छोड़ने की खबर से बिहार की सियासत में हलचल.

Bihar Politics: बिहार की सियासत में अब जो हालात बने हैं वह कुछ-कुछ 2017 जैसे हैं. उस वक्त नीतीश कुमार महागठबंधन का हिस्सा थे और वे मुख्यमंत्री थे. तेजस्वी यादव इस सरकार में डिप्टी सीएम थे. तेजस्वी यादव पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप के मुद्दे को लेकर एक दिन नीतीश कुमार ने अचानक राजभवन जाकर इस्तीफा सौंप दिया था.

अधिक पढ़ें ...

पटना. बिहार की सियासत में अचानक ट्विस्ट आ गया और सत्ता सियासत का समीकरण बदल गया है. एक बार फिर नीतीश कुमार मुख्यमंत्री तो हैं मगर अब एनडीए के नहीं, वे अब राजद और कांग्रेस के समर्थन से महागठबंधन का हिस्सा हैं. बिहार की राजनीति का यह दृश्य पहले भी देखा जा चुका है. दरअसल, पांच वर्ष बाद हालात 2017 जैसे ही हैं. महीना भी सावन का ही था और सियासी हालात भी ऐसे ही थे.

बता दें कि 2017 में नीतीश कुमार महागठबंधन का हिस्सा थे और वे मुख्यमंत्री थे. तेजस्वी यादव इस सरकार में डिप्टी सीएम थे. तेजस्वी यादव पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप के मुद्दे को लेकर एक दिन नीतीश कुमार ने अचानक राजभवन जाकर इस्तीफा सौंप दिया था. इसके साथ ही मंत्रिमंडल स्वत: भंग हो गया. नीतीश कुमार का यह फैसला चौंकाने वाला था. दो साल के भीतर ही महागठबंधन की सरकार गिर गई थी.

नीतीश कुमार का यह फैसला चौंकाने वाला था. महागठबंधन से अलग होने के बाद नीतीश कुमार को भाजपा का समर्थन मिला और सरकार बनाई. उस सरकार ने अपना कार्यकाल भी पूरा किया. राज्य में अब एक बार फिर वैसे ही हालात हैं. हालांकि, पिछली बार कारण तेजस्वी पर भ्रष्टाचार का आरोप का था तो इस बार जदयू को भाजपा द्वारा नुकसान पहुंचाए जाने का मुद्दा सामने आया है.

बता दें कि राजद, कांग्रेस और लेफ्ट फ्रंट के विधायकों ने तेजस्वी यादव को नीतीश कुमार को सीएम बनाने के लिए समर्थन पत्र सौंप दिया है. बताया जा रहा है कि नीतीश कुमार कभी भी राजभवन जा सकते हैं और महागठबंधन के दलों द्वारा दिए गए समर्थन पत्र राज्यपाल फागू चौहान को सौंपा जा सकता है.

Tags: Bihar News, Bihar politics, CM Nitish Kumar

अगली ख़बर