Exclusive: तेजस्वी-चिराग पर बोले नीतीश- 'कोई क्रिकेट से तो कोई सिनेमा से आया, इनके लिए परिवार ही सबकुछ'

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

Nitish Kumar Exclusive Interview: तेजस्वी और चिराग के लगातार हमले पर नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने कहा कि इनमें से एक क्रिकेट तो दूसरा सिनेमा की दुनिया से आया है. इनकी बातों पर हम ध्यान नहीं देते.

  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के मतदान से पहले मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार  (Nitish Kumar) ने न्यूज़ 18 बिहार-झारखंड के मैनेजिंग एडिटर बृजेश कुमार सिंह के साथ खास बातचीत की. इस दौरान नीतीश कुमार ने तेजस्वी यादव और चिराग पासवान पर हमला करते हुए कहा कि इनमें से एक क्रिकेट तो दूसरा सिनेमा की दुनिया से आया है. इनके लिए सिर्फ इनका परिवार ही सबकुछ है, जबकि हमारे लिए पूरा बिहार एक परिवार है. हमको इन लोगों से कोई मतलब नहीं. इनकी बातों पर हम ध्यान नहीं देते.

आपको बता दें कि चुनाव के दौरान नीतीश कुमार पर आरजेडी नेता तेजस्‍वी और लोजपा प्रमुख चिराग पासवान लगातर हमले कर रहे हैं. यही नहीं, इस दौरान कोई उन्‍हें उम्रदराज तो कोई उन्‍हें घोटालेबाज कह रहा है. जबकि आरजेडी और लोजपा नेता सीएम पर युवा विरोधी होने का आरोप भी लगा रहे हैं.

नीतीश ने किया ये दावा
नीतीश कुमार ने कहा कि हमारे 15 साल के शासनकाल में राज्य में व्यापार और रोजगार बढ़ा है. यदि आरजेडी की सरकार बनी तो फिर पलायन बढ़ेगा. इसलिए उम्मीद है कि एनडीए को फिर से प्रचंड बहुमत मिलेगा. राजद पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि बिहार के लोगों को सबकुछ अच्छे से पता है. डर की वजह से व्यापारी बिहार छोड़कर चले गए. पहले बिहार में नरसंहार की घटनाएं होती थीं. शाम होते ही लोग घर से निकलते नहीं थे. 15 साल में जो काम हुआ है वो सबको पता है. हमारे लिए काम करने का मौका सेवा जैसा है. हमने हमेशा ही सत्ता को सेवा माना है. ऐसे में कौन काम करने वाला है ये जनता तय करेगी.
सिर्फ चुनाव प्रचार के लिए इन बातों का जिक्र...


एंटी इनकंबेंसी पर नीतीश कुमार ने कहा, सिर्फ चुनाव प्रचार के लिए इन बातों का जिक्र करने का कोई मतलब नहीं हैं. अति उत्साह के कारण विपक्ष लगातार गलत विश्लेषण कर रहा है. नीतीश कुमार ने कहा, लोग नहीं जानते हैं कि 15 साल में क्या क्या काम हुआ? उसके पहले के 15 साल में क्या हुआ था. लोग डर-डर कर भाग रहे थे. साथ ही कहा कि पर्यावरण पर 18 हजार किलोमीटर लंबी मानव श्रृंखला बनाई, उसकी खूब तारीफ हुई. बहरहाल, जो बोलता है उसे एंटी इनकमबेंसी का मतलब भी पता नहीं है. बिहार में कोई एंटी इनकमबेंसी नहीं है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज