AES पर CM की सफाई, बच्चों की मौत का कारण अभी तक नहीं जान पाए हैं विशेषज्ञ

सीएम ने कहा कि लक्षणों के आधार पर ही बच्चों का इलाज किया जा रहा है. मुज़फ़्फ़रपुर के मामले में सरकार ने पूरी गंभीरता से काम किया है

News18 Bihar
Updated: July 2, 2019, 3:36 PM IST
AES पर CM की सफाई, बच्चों की मौत का कारण अभी तक नहीं जान पाए हैं विशेषज्ञ
नीतीश ने सदन में मजाकिया अंदाज में विपक्षियों पर निशाना साधा (सीएम की फाइल फोटो)
News18 Bihar
Updated: July 2, 2019, 3:36 PM IST
बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने कहा है कि सरकार एईएस यानि चमकी बुखार से हो रही मौत को लेकर पूरी तरह से संवेदनशील है. मंगलवार को बिहार विधान परिषद में जवाब देते हुए सीएम ने कहा कि सरकार डॉक्टरों और नर्स की कमी पर काम कर रही है. जिलों में नर्सिंग कॉलेज खुल रहे हैं लेकिन बच्चों की मौत के कारणों को विशेषज्ञ भी अभी तक नहीं जान पाए हैं.

लक्षणों के आधार पर ही हो रहा बच्चों का इलाज

सीएम ने कहा कि लक्षणों के आधार पर ही बच्चों का इलाज किया जा रहा है. मुज़फ़्फ़रपुर के मामले में सरकार ने पूरी गंभीरता से काम किया है और सभी मृतकों के सोशल इकनॉमिक ऑडिट करने का हमने निर्देश दिया है. नीतीश कुमार ने कहा कि जो भी बच्चे मरे हैं लगभग सभी गरीब हैं. बीमारी से भर्ती हुए बच्चो में लड़कियां ज्यादा थीं.

घर के लिए मिलेगी मदद

सीएम ने कहा कि जिनके घर नही हैं उनके घर बनेंगे और इसके लिए मुख्यमंत्री आवास योजना से उनको घर बनाने में मदद मिलेगी. जिनका जमीन नहीं है उन्हें 60 हजार अनुदान जमीन के लिए मिलेगा. जागरूकता पर जोर देते हुए सीएम ने कहा कि बीमारी से बचाव के लिए अभी भी जागरूकता की कमी है. मुज़फ़्फ़रपुर में गहनता के साथ जांच की जरूरत है. कई परिवार ऐसे भी हैं जिनके पास अभी राशन कार्ड नहीं है.

सोशल ऑडिट रिपोर्ट का इंतजार

सीएम ने कहा कि सरकार सोशल ऑडिट का इंतजार कर रही है. सोशल ऑडिट की रिपोर्ट आने पर हम कार्रवाई करेंगे और सोशल ऑडिट की रिपोर्ट सार्वजनिक भी की जाएगी. नीतीश कुमार ने सभी पार्टियों से अपील करते हुए कहा कि सभी लोग सोशल ऑडिट में मदद करें, जिसे भी कोई जानकारी मिले वो सरकार को सूचित करे.
Loading...

विपक्ष पर चुटकी

नीतीश कुमार ने सदन में चुटकी लेते हुए मजाकिया अंदाज में विपक्ष पर हमला बोला और कहा कि अगर पब्लिसिटी चाहिए तो मुझ पर बोलिये. लोगों को मेरे ऊपर बोलने से आजकल ज्यादा पब्लिसिटी मिलती है. लोग अगर मेरे बारे में बयान नही देंगे तो मीडिया में क्या छपेगा. उन्होंने कहा कि मेरा क्या-क्या नामकरण किया गया है ये सबको पता है.

इनपुट- रवि एस नारायण

ये भी पढ़ें- स्वास्थ्य मंत्री के इस्तीफे को लेकर विधानसभा में हंगामा

ये भी पढ़ें- छपरा गैंगरेप: वारदात के 72 घंटे बाद पकड़ा गया मुख्य आरोपी
First published: July 2, 2019, 3:22 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...