बेऊर जेल से जारी है रंगादारी मांगने का खेल, कुख्यात ने कॉल कर मांगा कैश और जमीन

पटना बेउर जेल के उपाधीक्षक सस्पेंड (फाइल फोटो)

पटना बेउर जेल के उपाधीक्षक सस्पेंड (फाइल फोटो)

बिहार में जेल से रंगदारी मांगने का ये मामला कोई नया नहीं है. कुछ दिन पहले ही पटना के बेउर जेल में रेड के दौरान पुलिस को मोबाइल फोन मिला था. इसके बाद बेउर जेल के एक अधिकारी को सस्पेंड भी किया गया है.

  • Share this:
पटना. कहने को तो पटना का केंद्रीय आर्दश कारा बेऊर आर्दश कारा है लेकिन यहां कैदियों का ही साम्राज्य कायम है. इस बात का खुलासा एक बार फिर हो गया जब इस जेल में बंद कुख्यात अपराधी ने एक शख्स से रंगदारी मांगी, वो भी पांच लाख रूपए और जमीन की. दरअसल जेल में बंद टुनटुन गोप ने बीते 5 मार्च को फतुहा स्थित कबीर मठ के महंत ब्रजेश मुनि से पांच लाख की रंगदारी की मांग की है, वो भी बेऊर जेल में रहते हुए. इस बात की लिखित शिकायत महंत ब्रजेश मुनि ने फतुहा थाना में कर दी है.

हथियार के साथ पहुंचे थे गुर्गे

महंत ब्रजेश मुनि बताते हैं कि 5 मार्च को जब वो अपने मठ में कुछ अन्य साधु संतों के साथ बैठे थे तभी टुनटुन गोप के दो गुर्गों ने मठ पर आकर टुनटुन गोप से उन्हें जबरन गाली गलौज करते हुए हथियार के बल पर बात करवाया. बातचीत के दौरान टुनटुन गोप ने उनसे पूरे पांच लाख की रंगदारी और मठ का एक जमीन का बड़ा टुकड़ा अपने नाम करने को कहा है. साथ ही टुनटुन ने यह भी कहा है कि अगर हमारी बात की अनदेखी की तो जान से हाथ धोना पड़ेगा.

काफी खौफ में है महंत
इस घटना के बाद महंत ब्रजेश मुनि बेहद डरे हुए हैं. इनका कहना है कि मैं कहा से टुनटुन गोप की डिमांड पूरा करूंगा. मेरे पास जो कुछ है वो तो मठ और न्यास बोर्ड का है. मुझे डर है कि टुनटुन गोप के गुर्गे जिस तरह से हथियार से लैश होकर मठ पर आए थे और जबरन टुनटुन गोप से बात करवाई थी उसी तरह वो लोग कभी भी मेरी हत्या कर सकते है. महंत ब्रजेश मुनि यह भी कहते है कि इससे पहले भी जब इस तरह की थ्रेट इस मठ के आचार्य को मिला था तब इस मठ और आचार्य की सुरक्षा के लिये BMP की दो कम्पनी यहां डिप्यूट की गई थी लेकिन विगत कुछ समय पहले यहां से BMP के जवानों को हटाकर होमगार्ड की एक टुकड़ी यहां दे दी.

ADG बोले

घटना के दिन होमगार्ड के जवान मठ में ही मौजूद थे परंतु उन लोगों ने कुछ नहीं किया. ADG पुलिस मुख्यालय जितेंद्र कुमार का कहना है कि इस पूरी घटनाक्रम को लेकर फतुहा थाना में प्राथमिकी दर्ज की जा चुकी है और तो और इस पूरे मामले का अनुसंधान वैज्ञानिक तरीके से काफी बारिकी के साथ किया जा रहा है. जल्द ही साक्ष्य के आधार पर अपराधियों के विरुद्ध कड़ी कारवाई की जायेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज