खुशखबरी : अब परिवार, दोस्त और वकील को फोन कर सकेंगे कैदी

Anand Amrit Raj | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: November 15, 2017, 6:43 PM IST
खुशखबरी : अब परिवार, दोस्त और वकील को फोन कर सकेंगे कैदी
जेल आईडी आनंद किशोर (ईटीवी फोटो)
Anand Amrit Raj | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: November 15, 2017, 6:43 PM IST
बिहार सरकार राज्य की जेलों और कैदियों पर मेहरबान हो गई है. जेल सुधार की दिशा में बिहार सरकार ने कई ऐसी शुरुआत की है जिससे न सिर्फ जेल के हालत सुधरेंगे बल्कि जेल में बंद कैदियों के जीवन और सोच में भी बड़ा बदलाव आ सकता है.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को हाजीपुर में आधुनिक तकनीक से युक्त बिहार सुधारात्मक प्रशासनिक संस्थान का उद्घाटन किया. उन्होंने कहा कि सरकार की कोशिश कैदियों की सोच और विचार के साथ उनके जीवन में परिवर्तन लाना है, ताकि वो बाद में अच्छी जिंदगी जी सकें.

इस अवसर पर मौजूद जेल आईजी आनंद किशोर ने न्यूज18/ईटीवी को बताया कि पहले जेल में बंद कैदियों को अपने परिजनों, मित्रों और वकीलों के बात करने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता था. मुलाकातियों को दूर से आना पड़ता था इसे देखते हुए अब जेल में बंद कैदी बीएसएनएल टेलिफोन के माध्यम से अपने परिजनों से बात कर सकते हैं.

उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम के तहत सभी केंद्रीय काराओं में तीन-तीन, मंडल काराओं में दो-दो और उप काराओं में एक टेलिफोन स्थापित किए जा रहे हैं. जरूरत के मुताबिक, हर कैदी को दिन में दो बार फोन करने की सुविधा होगी और उनकी बातचीत रिकॉर्ड करने की भी व्यवस्था की गई है.

इस मौके पर बिहार सरकार के चीफ सेक्रेटरी अंजनी सिंह ने कहा कि हमारा लक्ष्य अपराध को खत्म करना है अपराधियों को नहीं. जो लोग अपराध कर जेल में पहुंच गए हैं. हमलोगों की कोशिश है कि उनको सुधार कर बाहर निकालें ताकि वो फिर से नई जिंदगी शुरू कर सकें.

ये लिए गए महत्वपूर्ण फैसले

1.राज्य के 55 काराओं में प्रीजन-ERP तकनीक सिस्टम का शुभारंभ किया गया

2. राज्य के 30 काराओं में 56 दूरभाष केंद्रो का उद्घाटन किया गया

3.राज्य के 11 काराओं में कैंटीन का शुभारम्भ किया गया

(न्यूज 18 संवाददाता प्रेम रंजन के साथ)

 
First published: November 15, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर