Corona Update: बिहार में 24 घंटे में कोरोना के 259 नए केस, पटना बन रहा सबसे बड़ा हॉट स्पॉट

बिहार में पटना कोरोना का सबसे बड़ा स्पॉट बन रहा है

बिहार में पटना कोरोना का सबसे बड़ा स्पॉट बन रहा है

Bihar Corona Update: बिहार में कोरोना के मरीजों के बढ़ने की एक वजह होली में बाहर से घर आने वाले लोगों की संख्या भी बताई जा रही है. पटना जिला के शहरी इलाके में कोरोना संक्रमितों की तादाद लगातार बढ़ रही है.

  • Share this:
पटना. बिहार में कोरोना (Corona) संक्रमण एक बार फिर से बहुत तेजी से पैर पसार रहा है. पिछले 24 घंटे में बिहार में 259 नए कोरोना (Corona Cases Of Bihar) के मरीज मिले हैं. इसके साथ ही अब आंकड़ा बढ़कर 1579 तक जा पहुंचा है. इसमें अकेले राजधानी पटना में कुल 641 मामले सामने आए हैं. पिछले 24 घंटे में पटना में 97 कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. बिहार की राजधानी पटना अभी सबसे खतरनाक शहर बन गया है. यही कारण है कि इसे 'कैपिटल ऑफ कोरोना' कहा जाने लगा है.

पिछले 72 घंटे में कोरोना के मरीजों में लगातार इजाफा हो रहा है. अकेले पटना में पिछले 10 दिनों में 641 एक्टिव केस दर्ज हुए हैं तो वहीं शेखपुरा में 10 दिनों में महज 1 संक्रमित ही मिला है. इसके अलावा शिवहर में 2, जमुई में 3, खगड़िया, मधेपुरा और लखीसराय में 10 दिनों में क्रमशः 5, 6 और 7 कोरोना के संक्रमित पाए गए हैं. पटना के बाद भागलपुर दूसरा सबसे खतरनाक शहर बनने लगा है. भागलपुर में पिछले 10 दिनों में 104 कोरोना के नए मरीज मिले हैं. इसके बाद अररिया में 85 और जहानाबाद में 83 नए संक्रमित पाए गए हैं.

Youtube Video


पटना शहर से ज्यादा सुरक्षित ग्रामीण इलाके
स्वास्थ्य विभाग के आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक पटना शहर पर कोरोना का खतरा ज्यादा मंडरा रहा है. वहीं, आंकड़े ये भी बता रहे हैं कि पटना के ग्रामीण इलाके अब भी ज्यादा सुरक्षित हैं. पिछले 10 दिनों में पटना में कुल 626 कोरोना संक्रमित पाए गए हैं, जिनमें शहरी इलाकों में 524 एक्टिव केस सामने आए हैं, जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में महज 102 संक्रमित ही मिले हैं. फुलवारीशरीफ में 38 तो दानापुर में पिछले 10 दिनों 26 नए कोरोना संक्रमित पाए गए हैं.

ग्रामीण इलाकों की स्थिति बेहतर

पटना के अथमलगोला, बिहटा, बिक्रम और मोकामा में जहां पिछले 10 दिनों में केवल 1 ही कोरोना संक्रमित पाया गया है. स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी बताते हैं कि पटना शहर सबसे ज्यादा खतरनाक जोन में इसलिए भी है कि दूसरे प्रदेशों से होली के मौके पर जो लोग पिछले कुछ दिनों में बिहार पहुंचे हैं उनमें अधिकांश लोग पटना या तो एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन या फिर पटना बस अड्डे से होकर ही दूसरे जिलों तक पहुंचे हैं. इनकी कोरोना की जांच पटना में ही कराई जाती है और जब जांच पॉजिटिव आता है जाहिर है इसके चलते पटना में सबसे ज्यादा कोरोना के मरीजों की संख्या भी बढ़ जाती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज