पटना: आइसोलेशन सेंटर की संख्या में होगा इजाफा, तीन दिनों में 2000 बेड बढ़ाने को लेकर मिले निर्देश
Patna News in Hindi

पटना: आइसोलेशन सेंटर की संख्या में होगा इजाफा, तीन दिनों में 2000 बेड बढ़ाने को लेकर मिले निर्देश
जिलाधिकारी ने मास्क का प्रयोग करने एवं सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन प्रभावी रूप से कराने का निर्देश दिया है.

साथ ही कोरोना से संबंधित टेस्टिंग की सशक्त एवं प्रभावी निगरानी हेतु अधिकारियों की प्रतिनियुक्ति करने का निर्देश दिया है. वर्तमान समय में चार प्रकार के व्यक्तियों का टेस्ट किया जा रहा है. कॉन्टेक्ट में आने वाले लोगों का, कंटेनमेंट जोन में रहने वालों का, कोरोना के लक्षण वाले व्यक्तियों का और हेल्थ वर्कर का कोरोना टेस्ट (Corona Test) किया जा रहा है.

  • Share this:
पटना. बिहार की राजधानी पटना (Patna) में लगातार कोरोना के संक्रमण (Corona Infection) बढ़ते जा रहे हैं. इसको देखते हुए अब नए आइसोलेशन सेंटर (Isolation center) की संख्या बढ़ाने की तैयारी है. इसी के तहत पटना के डीएम रवि कुमार ने 3 दिनों के अंदर आइसोलेशन सेंटरों में 2000 बेड बढ़ाने के निर्देश दिए हैं. दीप नारायण प्रबंधन संस्थान और दशरथ मांझी इंस्टीच्यूट पटना को आइसोलेशन सेंटर बनाने का निर्देश दिया गया है. वहीं, रेलवे के 320 बेड वाले 2 कोच को भी आइसोलेशन सेंटर बनाया जाएगा. साथ ही पटना की बेली रोड (Bailey Road) में पेड व्यवस्था के तहत 2 कोविड सेंटर की शुरुआत भी होगी.

आइसोलेशन सेंटर में खानपान और साफ सफाई सहित हर चीज की प्रभावी मॉनिटरिंग के लिए टीम भी गठित की गई है. मॉनिटरिंग सही से हो पाए इसके लिए अधिकारियों और कर्मियों की प्रतिनियुक्ति कर जवाबदेही सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है. इतना ही नहीं जरुरत पड़ने पर शिक्षकों को भी प्रतिनियुक्त करने को कहा गया है. ​वहीं, समीक्षा के दौरान पाया गया कि बाढ़, मसौढ़ी, पालीगंज, बिहटा एवं  पटना सिटी में पूर्व से संचालित आइसोलेशन सेंटर में आगामी 3 दिनों के अंदर 600 बेड की क्षमता में वृद्धि हो जाएगी. उन्होंने दीप नारायण प्रबंधन संस्थान शास्त्री नगर और दशरथ मांझी इंस्टिट्यूट पटना को एक्टिवेट करने का निर्देश दिया है.

रेलवे कोच से लेकर पेड कोविड केयर सेंटर तक की तैयारी 
जिलाधिकारी ने कहा कि रेलवे का दो कोच प्रत्येक की क्षमता 320 बेड की है. इसे आइसोलेशन सेंटर के रूप में संचालित करने के लिए अनुमंडल पदाधिकारी सदर को समुचित व्यवस्था के बारे में जांच कर जानकारी देने का निर्देश दिया है. इसके अलावा बेली रोड में पेड व्यवस्था के तहत 2 कोविड केयर सेंटर के संचालन की तैयारी है.
साथ ही कोरोना से संबंधित टेस्टिंग की सशक्त एवं प्रभावी निगरानी हेतु अधिकारियों की प्रतिनियुक्ति करने का निर्देश दिया है. वर्तमान समय में चार प्रकार के व्यक्तियों का टेस्ट किया जा रहा है. कॉन्टेक्ट में आने वाले लोगों का, कंटेनमेंट जोन में रहने वालों का, कोरोना के लक्षण वाले व्यक्तियों का और हेल्थ वर्कर का टेस्ट किया जा रहा है. जिलाधिकारी ने कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग को एक्टिवेट करने और सिंप्टोमेटिक मामलों में ही सरकारी अधिकारियों, कर्मियों एवं स्वास्थ्य कर्मी की जांच करने को कहा. कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग के लिए पर्याप्त संख्या में कर्मियों को सक्रिय बनाने का निर्देश दिया गया है.



अधिकारियों को भी करना है मास्क का प्रयोग नहीं तो होगी कार्रवाई 
जिलाधिकारी ने मास्क का प्रयोग करने एवं सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन प्रभावी रूप से कराने का निर्देश दिया है. इसके लिए समाहरणालय परिसर में भी अधिकारियों एवं कर्मियों के मास्क के प्रयोग करने हेतु प्रभावी कदम उठाने का निर्देश दिया गया है. अगर कोई अधिकारी या कर्मी मास्क का प्रयोग नहीं कर रहे हैं तो उनके विरुद्ध भी कार्रवाई की जाएगी. दूसरी तरफ रोजाना मास्क लगाने और कोविड-19 के मानक मानने को लेकर जिला प्रशासन सख्त है और मास्क नहीं पहनने वालों पर लगातार कारवाई की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading