लाइव टीवी

Corona Virus: मशीनें कम टारगेट ज्यादा, कैसे होगी बिहार आ रहे 6 लाख प्रवासियों की जांच
Patna News in Hindi

Rajneesh Kumar | News18Hindi
Updated: May 20, 2020, 10:38 AM IST
Corona Virus: मशीनें कम टारगेट ज्यादा, कैसे होगी बिहार आ रहे 6 लाख प्रवासियों की जांच
बिहार में आने वाले प्रवासी मजदूरों की तुलना में जांच मशीनें काफी कम हैं (सांकेतिक चित्र)

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय (Health Minister Mangal Pandey) की मानें तो सैम्पल (corona sample) जांच में तेजी लाने का प्रयास जरूर किया जा रहा है लेकिन फिलहाल जरूरत के हिसाब से जांच मशीनें उपलब्ध नहीं है

  • Share this:
पटना. बिहार में कोरोना वायरस सैम्पल जांच में तेजी लाने के निर्देश के बाद भी जांच की क्षमता नहीं बढ़ सकी है. आलम ये है कि 18 मई को भी बिहार में महज 2007 सैम्पल (Corona Epidemic) की ही जांच हो पाई है जो कि अबतक का सर्वाधिक रिकॉर्ड है. स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय (Minister Mangal Pandey) की मानें तो सैम्पल जांच में तेजी लाने का प्रयास जरूर किया जा रहा है लेकिन फिलहाल जरूरत के हिसाब से जांच मशीनें उपलब्ध नहीं है. उन्होंने माना कि अगले 8 दिनों में 6 लाख से ज्यादा प्रवासी बिहारी (Migrant Bihari) बिहार पहुंचने वाले हैं जो कि राज्य सरकार के लिए बड़ी चुनौती है.

7 लैब्स के जिम्मे जांच

मंत्री ने साफ कहा कि केंद्र सरकार से मशीन की आपूर्ति कराने के लिए पत्र भेजा गया है लेकिन डिमांड की तुलना में मशीन का उत्पादन कम होने की वजह से आपूर्ति नहीं हो पा रही है. मंगल पांडेय ने भरोसा जताते हुए कहा कि जल्द ही जांच मशीनों की आपूर्ति होते ही जांच की क्षमता बढ़ाई जाएगी. जांच को लेकर फिलहाल 6 सरकारी और एक प्राइवेट लैब में सैम्पल भेजे जा रहे हैं जहां जांच चल रही है लेकिन भागलपुर मेडिकल कॉलेज में पिछले 10 दिनों से जांच ठप है और जांच किट की आपूर्ति नहीं कराई जा सकी है.



तीन नए जिलों में शुरू हो सकती है जांच



वहीं 15 ट्रू नेट मशीनों की आपूर्ति के बाद तीन नए जिलों में जांच शुरू करने की बात भी कही गयी है. स्वास्थ्य विभाग ने उम्मीद जताई थी कि रैपिड टेस्ट को लेकर आटीसीएमआर जल्द ही मंजूरी देगी लेकिन अबतक रैपिड टेस्ट को लेकर लगी रोक नहीं हटाई जा सकी है जिसकी वजह से जांच की गति फिलहाल बढ़ाना सरकार के लिए आसान नहीं होगा.

सीएम ने दिया था 10 हजार सैंपल जांचने का आदेश

हालांकि आरएमआर आई में तेजी से सैम्पल जांच का काम चल रहा है जहां 2 मशीनें तकरीबन 500 से 900 तक सैम्पल जांच कर पा रही है बाकि लैब में काफी धीमी गति से जांच चल रही है. अब भी सरकार क्वारेंटीन सेंटरों से रैंडमली ही सैम्पल कलेक्ट कर रही है यानि 70:30 के अनुपात में जांच की जा रही है. बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने प्रवासी मजदूरों को देखते हुए रोजाना 10 हजार सैम्पल जांच करने का आदेश दिया था.

ये भी पढ़ें- क्वॉरेंटाइन सेंटर में 'गांजा पार्टी', एक साथ कश लगाते 5 युवकों का VIDEO VIRAL

ये भी पढ़ें- Bihar Live News Update: बिहार के इन 22 जिलों पर सुपर साइक्‍लोन अम्फान का खतरा
First published: May 20, 2020, 10:09 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading