Home /News /bihar /

Omicron: NMCH में ऑक्सीजन से लैस 100 बेड तैयार, सेल्फ लॉकडाउन और मास्क से कम होगा ओमिक्रॉन का खतरा

Omicron: NMCH में ऑक्सीजन से लैस 100 बेड तैयार, सेल्फ लॉकडाउन और मास्क से कम होगा ओमिक्रॉन का खतरा

ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए पटना के एनएमसीएच में अलर्ट मोड में स्वास्थ्यकर्मी.

ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए पटना के एनएमसीएच में अलर्ट मोड में स्वास्थ्यकर्मी.

Omicron in Bihar: ओमिक्रॉन को लेकर NMCH की तैयारियों के संबंध में पूछे जाने पर अस्पताल अधीक्षक डॉ विनोद कुमार सिंह ने बताया कि एमसीएच बिल्डिंग को पूर्व की भांति कोविड के लिए तैयार किया गया है. अस्पताल अधीक्षक का कहना था कि कोरोना के पूर्व के दो लहरों में एनएमसीएच को कोविड-डेडिकेटेड अस्पताल बनाया गया था, जहां हजारों कोरोना मरीजों का सफल उपचार किया गया था. पूर्व के अनुभवों के आधार पर अस्पताल में तैनात चिकित्सक, नर्स और स्वास्थ्यकर्मी किसी भी आपात स्थिति से निपटने को लेकर पूरी तरह तैयार हैं.

अधिक पढ़ें ...

पटना. कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर केंद्र सरकार ने सभी राज्य सरकारों को हाई अलर्ट जारी कर दिया है. केंद्र सरकार के इस हाई अलर्ट को लेकर बिहार सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने भी सभी अस्पताल प्रशासन को ओमीक्रॉन से निपटने को लेकर कई आवश्यक दिशा-निर्देश जारी कर दिया है. पटना सिटी के अगमकुआं स्थित नालंदा मेडिकल कॉलेज अस्पताल कोरोना के नए वेरिएंट से निपटने को लेकर पूरी तरह तैयार है. अस्पताल के 100 बेड वाले मदर एंड चाइल्ड हॉस्पिटल को पूरी तरह तैयार कर दिया गया है, वहीं तीन पालियों में चिकित्सकों और नर्सों की भी तैनाती कर दी गई है. हालांकि अस्पताल में फिलहाल कोरोना का एक भी मरीज भर्ती नहीं है.

100 बेड वाले इस एमसीएच बिल्डिंग में 60 बेड व्यस्क मरीजों के लिए आरक्षित हैं, वहीं 40 बेड बच्चों के लिए आरक्षित किया गया है. सभी बेडों पर लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन टैंक द्वारा पाइप लाइन के माध्यम से ऑक्सीजन सप्लाई की सुविधा बहाल है. ओमिक्रॉन को लेकर NMCH की तैयारियों के संबंध में पूछे जाने पर अस्पताल अधीक्षक डॉ विनोद कुमार सिंह ने बताया कि एमसीएच बिल्डिंग को पूर्व की भांति कोविड के लिए तैयार किया गया है.

उन्होंने बताया कि एमसीएच बिल्डिंग के अलावा अस्पताल के नेत्र रोग विभाग और स्किन विभाग को छोड़ अस्पताल के 650 बेड़ों पर ऑक्सीजन सप्लाई की सुविधा बहाल है. उन्होंने लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन टैंक द्वारा पाइप लाइन के माध्यम से सभी बेडों तक ऑक्सीजन की सप्लाई पहुंचाए जाने की बात दोहराते हुए चिकित्सकों और परिचारिका  द्वारा मरीजों का सफल इलाज किए जाने की भी बात कही.

अस्पताल अधीक्षक का कहना था कि कोरोना के पूर्व के दो लहरों में एनएमसीएच को कोविड-डेडिकेटेड अस्पताल बनाया गया था, जहां हजारों कोरोना मरीजों का सफल उपचार किया गया था. पूर्व के अनुभवों के आधार पर अस्पताल में तैनात चिकित्सक, नर्स और स्वास्थ्यकर्मी किसी भी आपात स्थिति से निपटने को लेकर पूरी तरह तैयार हैं. उन्होंने अस्पताल में कोरोना जांच की सुविधा उपलब्ध होने की बात दोहराते हुए हर दिन लगभग 2000 RT -PCR जांच किए जाने की भी बात कही.

अस्पताल अधीक्षक ने कोरोना के इस नए वेरिएंट से लोगों को नहीं घबराने की अपील करते हुए कहा कि इस बीमारी से जान को खतरा नहीं है. उनका कहना था कि इस वैरिएंट से कोरोना के पूर्व की दो लहरों के अनुपात में मृत्यु दर भी काफी कम होगा. अस्पताल अधीक्षक ने कोरोना के इस नए वैरिएंट से सावधान रहने की अपील करते हुए आम लोगों से मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग अपनाने की भी गुजारिश की.

Tags: Corona crisis, Corona Virus, COVID 19, Omicron, Omicron Alert, Omicron variant, PATNA NEWS

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर