Home /News /bihar /

कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए कितना तैयार है बिहार, जानें अस्पतालों की तैयारी

कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए कितना तैयार है बिहार, जानें अस्पतालों की तैयारी

देश में ओमिक्रॉन के मामले बढ़ रहे हैं, इसको लेकर बिहार में भी तैयारी तेज कर दी गई है (फाइल फोटो)

देश में ओमिक्रॉन के मामले बढ़ रहे हैं, इसको लेकर बिहार में भी तैयारी तेज कर दी गई है (फाइल फोटो)

Corona Third Wave In Bihar: बिहार में कोरोना की बात करें तो पिछले 24 घन्टे में राज्य में जहां दो संक्रमितों ने कोरोना को मात दी है वहीं कोरोना के छह नए मामले सामने आए हैं. बिहार में फिलहाल कोरोना के 85 एक्टिव मरीज हैं. कोरोना को लेकर सभी अस्पतालों को अलर्ट पर रखा गया है.

अधिक पढ़ें ...

पटना. एक तरफ ओमीक्रोन वायरस (Corona Omicron Variant) का खतरा तो दूसरी तरफ डेल्टा वेरिएंट के मिल रहे मरीजों ने एक बार फिर बिहार सरकार की चुनौतियां बढा दी है. बाकि देशों और कई राज्यों में बिगड़ रही हालात को देखते हुए बिहार सरकार भी तीसरी लहर को लेकर अस्पतालों में व्यवस्था मुकम्मल करने में जुटी है, जहां सभी मेडिकल कॉलेजों (Bihar Medical Colleges) में जनरल वार्ड से लेकर आईसीयू तक तैयार किये गए हैं वहीं आइसोलेशन सेंटर भी तैयार होने लगा है. पिछले साल तैयार किये गए पाटलिपुत्रा स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में फिर से आइसोलेशन सेंटर को चालू करा दिया गया है.

यहां 10 बेड का एचडीयू वार्ड तैयार है तो 100 बेड का जनरल वार्ड भी मरीजों के लिए तैयार हो चुका है  और डॉक्टरों से लेकर नर्सों और पारा मेडिकल स्टाफ की प्रतिनियुक्ति भी कर दी गई है, वहीं पाटलिपुत्र अशोका होटल के आइसोलेशन सेंटर को भी अलर्ट पर रखा गया है लेकिन अभी उसे चालू नहीं किया गया है. पीएमसीएच (PMCH) भी कोरोना की संभावित तीसरी लहर का सामना करने के लिए अपनी स्वास्थ्य सुविधाओं को मजबूत करने में जुट गया है और तीसरी लहर के लिए यहां फिलहाल 50 से ज्यादा बेड लगा दिए गए हैं जिसमें 25 बेड आईसीयू भी शामिल हैं.

अस्पताल के ICU में कई नए उपकरण लगाए गए हैं वहीं सभी बेड तक लिक्विड ऑक्सीजन गैस पाइप लाइन से पहुंचा दी गई है. इसके अलावा वेंटिलेटर, वार्मर, ह्यूमिडिफायर और इन्फ्यूजन पंप भी पीएमसीएच को मिल गया है. पटना एम्स की बात करें तो यहां भी 200 से ज्यादा बेड की व्यवस्था कोविड मरीजों के लिए करा दी गई है और लगभग साढ़े 500 बेड की ईस बार इसकी कुल क्षमता होगी जो कि परिस्थिति के मुताबिक तय किया जाएगा.

एनएमसीएच की बात करें तो यह भी इस बार ऑक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर हो गया है और यहां भी 100 बेड फिलहाल कोविड मरीजों के लिए तैयार है जिसमें आईसीयू भी शामिल है. हालाकि केसेज बढ़ने के बाद ये तय होगा कि किन किन अस्पतालों को कोविड डेडिकेटेड अस्प्ताल घोषित किया जाएगा. पटना के आईजीआईएमएस में भी 50 बेड तैयार हैं जिसमें 25 बेड आईसीयू है बाकि जनरल बेड का वार्ड तैयार है. अस्प्ताल के अधीक्षक डॉ मनीष मंडल की मानें तो जैसा डिमांड होगा उतनी क्षमता बढ़ाई जाएगी और 200 बेड तक कभी अस्पताल की क्षमता बढ़ाई जा सकती है.

मालूम हो कि अभी राज्य में रोजाना 6 से 18 तक कोरोना मरीज मिल रहे हैं और डेथ रेशियो अभी स्थिर है. पिछले 24 घन्टे में राज्य में जहां दो संक्रमितों ने कोरोना को मात दी है वहीं कोरोना के छह नए मामले सामने आए हैं. बिहार में फिलहाल कोरोना के 85 एक्टिव मरीज हैं वहीं टेस्टिंग में भी तेजी देखी जा रही है. राज्य में बीते 24 घंटे में 1,67,405 लोगों की जांच हुई. 24 घंटे में 6 नए मामले आए हैं जिसमें सबसे ज्यादा पटना में 4 और सीवान के अलावा वैशाली में 1-1  नए संक्रमित मिले हैं. अभी भी पटना में सबसे अधिक 58 एक्टिव मामले हैं.

Tags: Bihar News, COVID 19, Omicron Alert, PATNA NEWS

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर