लाइव टीवी

नागरिकता संशोधन विधेयक: सुशील मोदी बोले- जिन्ना के जख्मों पर पीएम मोदी ने लगाया मरहम

News18 Bihar
Updated: December 10, 2019, 8:29 AM IST
नागरिकता संशोधन विधेयक: सुशील मोदी बोले- जिन्ना के जख्मों पर पीएम मोदी ने लगाया मरहम
नागरिकता संशोधन बिल के लोकसभा पास होने को सुशील मोदी ने ऐतिहासिक करार दिया. (फाइल फोटो)

सुशील मोदी ने लिखा, सरकार जब विभाजन-पीडि़त गैरमुस्लिम अल्पसंख्यक शरणार्थियों को न्याय देना चाहती है, तब कांग्रेस और आरजेडी केवल वोट बैंक के लिए बिल का विरोध कर रही है.

  • Share this:
पटना. सोमवार को नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 (Citizenship Amendment Bill 2019) को लेकर लोकसभा (Loksabha) में जमकर हंगामा होता रहा और तीखी बहस भी हुई. इस दौरान सरकार ने इस बिल को पास करवाने में कामयाबी पा ली. समर्थन और विरोध की सियासत के बीच बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) ने इस विधेयक का विरोध करने वालों पर वोट बैंक की राजनीति करने का आरोप लगाया है.

सुशील कुमार मोदी ने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर अपनी भावना का इजहार करते हुए लिखा, गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल पेश कर धर्म के आधार पर देश का बँटवारा स्वीकार करने के उस ऐतिहासिक अपराध के परिमार्जन की शुरुआत कर दी जिसके कारण पाकिस्तान और बांग्लादेश जैसे देशों में हिंदू, ईसाई, पारसी अल्पसंख्यकों को लंबे समय तक उत्पीड़न का शिकार होना पड़ा. सरकार जब विभाजन-पीडि़त गैरमुस्लिम अल्पसंख्यक शरणार्थियों को न्याय देना चाहती है, तब कांग्रेस और आरजेडी केवल वोट बैंक के लिए बिल का विरोध कर रही है.



डिप्टी सीएम ने कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर के सवालों का जवाब देते हुए लिखा, शशि थरूर का यह मानना सरासर गलत है कि नागरिकता बिल पास होने से जिन्ना के सिद्धांत की जीत होगी.सच तो यह है कि कांग्रेस ने धर्म के आधार पर बंटवारा स्वीकार कर न केवल जिन्ना को वाकओवर दे दिया था, बल्कि शेष भारत पर अपने लंबे शासन के दौरान धर्म के आधार पर भयानक भेदभाव जारी रखा. बिल का विरोध करने के बजाय कांग्रेस को भारत विभाजन के लिए देश से माफी मांगनी चाहिए. नागरिकता बिल जिन्ना के दिये गहरे जख्मों पर मोदी सरकार का मरहम है.



बता दें कि शशि थरूर ने कहा था कि अगर संसद में विवादित नागरिकता संशोधन बिल पास होता है तो ये महात्मा गांधी के विचारों पर जिन्ना के विचारों की जीत होगी. धर्म के आधार पर भारतीय नागरिकता प्रदान करना भारत को पाकिस्तान के हिंदुत्व संस्करण में तब्दील कर देगा. पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सरकार एक समुदाय को निशाना बनाना चाह रही है और इस समुदाय को शरण देने से इनकार कर रही है, जो अन्य समुदायों की तरह ही प्रताड़ना झेल रहे हैं.

उन्होंने ये भी कहा कि अगर ये बिल दोनों सदनों में पास हो जाता है, इसके बावजूद उन्हें भरोसा है कि सुप्रीम कोर्ट की कोई भी पीठ संविधान के बुनियादी मूल्यों का उल्लंघन करने वाले ऐसे क़ानून को इजाज़त नहीं देगी.

ये भी पढ़ें


नागरिकता संशोधन विधेयक: JDU बोली- धर्मनिरपेक्षता को मजबूत करने वाला बिल




नागरिकता संशोधन विधेयक पर JDU के समर्थन से प्रशांत किशोर हुए निराश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 10, 2019, 7:28 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर