Home /News /bihar /

बिहार में शराब पीने वालों की अब खैर नहीं, एक फोन कॉल बढ़ा देगी परेशानी

बिहार में शराब पीने वालों की अब खैर नहीं, एक फोन कॉल बढ़ा देगी परेशानी

बिहार में शराबबंदी को लेकर कॉल सेंटर पटना स्थित सचिवालय कैंपस में मौजूद मद्य निषेध विभाग में शिफ्ट किया जाएगा. फिलहाल यह कॉल सेंटर बेलट्रॉन परिसर में चल रहा है.

बिहार में शराबबंदी को लेकर कॉल सेंटर पटना स्थित सचिवालय कैंपस में मौजूद मद्य निषेध विभाग में शिफ्ट किया जाएगा. फिलहाल यह कॉल सेंटर बेलट्रॉन परिसर में चल रहा है.

Bihar News: बिहार में शराबबंदी से जुड़ी शिकायत के लिए सरकार द्वारा चलाये जा रहे कॉल सेंटर को अब सचिवालय कैंपस स्थित मद्य निषेध विभाग में शिफ्ट किया जाएगा. अभी तक यह कॉल सेंटर बेलट्रान परिसर में चल रहा है. मद्य निषेध विभाग में कॉल सेंटर शिफ्ट होने के साथ ही इसमें तकनीकी सुविधाएं बढ़ जाएंगी.

अधिक पढ़ें ...

पटना. बिहार में शराब पीने वालों के खिलाफ राज्य सरकार ने एक बड़ा प्लान तैयार किया है. अब फोन की एक रिंग भी शराब पीने वालों की परेशानी काफी हद तक बढ़ा देगी. दरअसल शराबबंदी से जुड़ी शिकायत के लिए राज्य सरकार द्वारा चलाये जा रहे कॉल सेंटर अब सचिवालय कैंपस में स्थित मद्य निषेध विभाग में शिफ्ट हो जाएगा. अभी तक यह कॉल सेंटर बेलट्रान परिसर में चल रहा है. मद्य निषेध विभाग में कॉल सेंटर शिफ्ट होने के साथ ही कई तकनीकी सुविधाओं को भी बढ़ाया जाएगा.

मद्य निषेध विभाग के अधिकारियों की माने तो सचिवालय में शुरू होने वाले कॉल सेंटर के कंट्रोल रूम में ऑनलाइन नम्बर की संख्या लगभग दुगनी हो जाएगी. इसका मकसद है कि शिकायत करने वालों को लाइन हर वक्त खाली मिले. इसके लिए कॉल सेंटर की लाइन को 10 की बजाय बढ़ाकर 20 कर देने की तैयारी है. इसके लिए लीज लाइन समेत ऑपरेटर की व्यवस्था बेल्ट्रॉन की तरफ से की जाएगी. हेल्पलाइन नंबर- 15545 और 1800-345-6268 पर 24 घंटे कोई भी शख्स शराब को लेकर शिकायत दर्ज करा सकेगा. इस दौरान फोन करने वालों को किसी तरह की कोई परेशानी ना हो इसके लिए कर्मियों की संख्या भी बढ़ाई जाएगी.

शराब को लेकर आने वाले हर फोन कॉल्स को रजिस्टर पर नोट किया जाएगा और इसे तत्काल संबंधित जिले के अधिकारियों को ट्रांसफर कर दिया जाएगा. हर दिन मिलने वाली शिकायतों की समीक्षा भी की जाएगी और शिकायतों पर की गई कार्रवाई की मॉनिटरिंग भी होनी है. पिछले 2 सप्ताह में शराबबंदी को लेकर शिकायतें काफी बढ़ गई हैं.

मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में 16 नवंबर को शराबबंदी कानून को लेकर समीक्षात्मक बैठक हुई. उसके बाद अब हर रोज लगभग दोगुने कम्प्लेन आ रहे हैं. शिकायतकर्ताओ का भरोसा बनाए रखने के लिए शिकायतों के अनुपालन पर ज्यादा ध्यान दिया जा रहा है. हेल्पलाइन नंबर पर शिकायत या सुझाव देने वालों की पहचान पहले से ही गोपनीय रखे जाने का निर्देश है और इस पर अमल भी किया जा रहा है.

Tags: Bihar Government, Bihar News, Liquor Ban

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर