• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • बालू और हाई स्कूल के मुद्दे पर सदन में घिरी नीतीश सरकार, विपक्ष के साथ अपनों ने भी पूछे सवाल

बालू और हाई स्कूल के मुद्दे पर सदन में घिरी नीतीश सरकार, विपक्ष के साथ अपनों ने भी पूछे सवाल

बिहार विधानसभा में मॉनसून सत्र के दूसरे दिन विपक्ष ने खूब सवाल जवाब किया

बिहार विधानसभा में मॉनसून सत्र के दूसरे दिन विपक्ष ने खूब सवाल जवाब किया

Bihar Assembly Monsoon Session: बिहार विधानसभा में हुए सवाल जवाब के दौरान अध्यक्ष ने निर्देश दिया कि एक महीने में स्कूल और मदरसों में प्रबंध समिति बने. शिक्षा मंत्री विजय चौधरी ने कहा कि जिन स्कूलों में प्रबंध समिति नहीं बनी है वहां के विधायक लिख कर दें

  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा के मॉनसून सत्र (Bihar Assembly Monsoon Session) का आज दूसरा दिन है. दूसरे दिन सदन में प्रश्नकाल के दौरान नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की सरकार बालू और हाई स्कूलों में प्रबंध समिति के मुद्दे पर घिर गई. उच्च विद्यालयों में प्रबंध समिति के गठन का मामला सबसे पहले बिस्फी से बीजेपी विधायक हरिभूषण ठाकुर बचौल ने उठाया. सदन में इस सवाल के उठने पर सत्ता पक्ष और विपक्ष के कई विधायकों ने सरकार को घेर लिया फिर काफी समय तक इसी मुद्दे पर सवाल-जवाब हुआ. दर्जनों विधायकों की शिकायत पर आसन ने सरकार को निर्देश दिया कि एक महीने के भीतर सभी हाईस्कूलों में प्रबंध समिति का गठन करायें.

विधायकों के सवाल पर शिक्षा मंत्री ने कहा कि मैं ये बात मानता हूं कि कई स्कूलों में प्रबंध समिति नहीं बनी होगी, जहां नहीं बनी, उसकी जानकारी दें. एक महीना के अंदर प्रबंध समिति का गठन होगा. मंत्री के जवाब के बाद कई विधायक खड़े हो गये. भाजपा विधायक ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू ,राजद विधायक ललित यादव  ने भी प्रबंध समिति को लेकर सवाल उठाया. बीजेपी विधायक ज्ञानू ने कहा कि हेड मास्टर के कहने के बाद भी प्रबंध समिति नहीं बना रहे. पूर्व मंत्री नंदकिशोर यादव ने भी प्रधानाचार्य पर सवाल उठाया. उन्होंने सदन में कहा कि कोई भी प्रधानाचार्य प्रबंध समिति नहीं बनाना चाहता. भाजपा विधायक संजय सरावगी ने भी प्रबंध समिति गठन के मुद्दे पर सवाल खड़े किये.

राजद विधायक आलोक मेहता ने कहा- हमारे क्षेत्र के 80 फीसदी स्कूलों में प्रबंध समिति बनी है. प्रबंध समितियों से बिना पास कराए, स्कूलों में सामानों की खरीद की गयी. लगातार कई विधायकों के सवाल खड़े करने के बाद शिक्षा मंत्री विजय चौधरी ने कहा कि जिन स्कूलों में प्रबंध समिति नहीं बनी है वहां के विधायक लिख कर दें, एक महीने में समिति का गठन हो जाएगा. प्रधानाध्यापक की ऐसी हिमाकत की वो प्रबंध समिति का गठन नहीं करेगा? हालंकि कई विधायकों ने कहा कि हमारे विस क्षेत्र में शत प्रतिशत प्रबंध समिति का गठन हो गया है.

भाजपा विधायक नीतीश मिश्रा ने कहा कि हमारे क्षेत्र में शत- प्रतिशत स्कूलों में प्रबंध समिति बनी. माले विधायक सत्यदेव राम ने कहा- प्रबंध समिति के काम के बारे में सरकार स्पष्ट निर्देश दे. विधायकों की शिकायत के बाद विस अध्यक्ष ने आसन से नियमन दिया कि सरकार एक महीने के अंदर सभी स्कूलों में प्रबंध समिति का गठन करावे. बिहार विधानसभा में विधायक रामप्रवेश राय ने पूछा कि आखिर बालू के दाम इतने क्यों बढ़ गये. सरकार ने पचास फीसदी दर क्यों बढाये ?  इस पर खनन मंत्री जनक राम ने कहा कि 50 परसेंट रेट बढ़ाए जाने के फैसले का अन्य किसी ने नहीं बल्कि सिर्फ दो कंपनियों ने विरोध किया. ब्रॉडसन के साथ-साथ एक और कंपनी ने सरकार के इस फैसले का विरोध किया. अन्य कंपनियां बड़े हुए दर पर बालू खनन को तैयार थी.

मंत्री ने कहा कि अवैध खनन रोकने को लेकर सरकार लगातार काम कर रही है. बालू की उपलब्धता में कोई कमी नहीं हो इसको लेकर काम किया जा रहा है. अगर बालू के अधिक दाम लिये जाते हैं तो छापेमारी के लिए टास्क फोर्स का भी गठन किया गया है. जहां सूचना मिल रही कार्रवाई की जा रही है. मंत्री ने कहा कि बालू का रेट तय कर दिया गया है. अधिक दाम लेने की शिकायत पर सीओ-थानेदार माइनिंग ऑफिसर छापेमारी करते हैं . बालू का अधिक दाम लेने वाले लोगों पर केस दर्ज करने का निर्देश है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज