अपना शहर चुनें

States

दिल्ली सरकार के दावे पर बिहार में सियासी बवाल, JDU-BJP बोली- 'फर्जीवाल का फर्जीवाड़ा'

प्रवासी मजदूरों का भाड़ा देने के अरविंद केजरीवा सरकार के दावे को जेडीयू-बीजेपी ने झूठा कहा है.
प्रवासी मजदूरों का भाड़ा देने के अरविंद केजरीवा सरकार के दावे को जेडीयू-बीजेपी ने झूठा कहा है.

जेडीयू नेता ने अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) पर झूठ फैलाने और बिहार के अपमान काआरोप लगाते हुए उनसे माफी की मांग की है.

  • Share this:
पटना. दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने इन प्रवासियों को उनके घर भेजने पर होने वाला यात्रा खर्च वहन करने का फैसला किया है. बयान के अनुसार दिल्ली सरकार पहले ही संबंधित राज्यों को दिल्ली में फंसे कामगारों (Workers) की सूची भेज चुकी है. हालांकि बिहार की सत्ताधारी जेडीयू और बीजेपी ने दिल्ली सरकार के इस दावे को झूठा करार देते पलटवार किया है. जेडीयू नेता अजय आलोक (JDU leader Ajay Alok) और बीजेपी प्रवक्ता निखिल आनंद (BJP spokesperson Nikhil Anand) ने ट्वीट कर कहा कि मजदूरों का किराया बिहार सरकार दे रही है.

जेडीयू नेता अजय आलोक ने अपने ट्वीट में एक लेटर भी शेयर किया है जिसमें दावा किया है कि दिल्ली सरकार एकमुश्त टिकट ख़रीद रही है जिसे बाद में बिहार सरकार से रिम्बर्श की बात कही गई है.
जेडीयू नेता ने अरविंद केजरीवाल पर झूठ फैलाने और बिहार के अपमान का आरोप लगाते हुए उनसे माफ़ी की मांग की है.बता दें कि जीएंनसीटीडी के नोडल अफसर ने ने बिहार के आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव को एक पत्र लिखा है जिसमें ये कहा गया है कि दिल्ली मुज़फ्फरपुर  श्रमिक एक्सप्रेस का भाड़ा दिल्ली सरकार देगी. बिहार सरकार टिकट रिम्बर्समेंट का पैसा दे दिल्ली सरकार को देगी. एक ट्रेंन का दिल्ली से मुज़फ्फरपुर का किराया लगभग साढ़े छह लाख रुपये है. इस मसले पर बीजेपी ने भी अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा है.बीजेपी प्रवक्ता निखिल आनंद ने एक पत्र को शेयर करते हुए बिहार एवं दिल्ली के लोगों से अपील है कि संलग्न पत्र को पढ़ें. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, आम आदमी पार्टी और अरविंद केजरीवाल ने झूठ बोला कि बिहार जाने वाले अप्रवासियों का ट्रेन किराया वो दे रहे हैं. उस झूठ कापर्दाफाश हो जाएगा. हकीकत यह है कि सभी का किराया बिहार सरकार दे रही है.  फर्जीवाल का फर्जीवाड़ा. 

ये भी पढ़ें




Lockdown: बिहार के इस गौशाला में भूख से एक दर्जन गायों की मौत, 50 से अधिक गायों पर मंडरा रहा मौत का साया




आरक्षण पर SC के फैसले पर बिहार में सियासत, दलित विधायकों ने केंद्र को भेजा पत्र

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज