मंच टूटने पर पप्पू यादव का बड़ा आरोप- विपक्षी नेताओं की सुरक्षा पर प्रशासन नहीं दे रहा ध्यान

मंच से गिरने के चलते पप्पू यादव  का दायां हाथ टूट गया
मंच से गिरने के चलते पप्पू यादव का दायां हाथ टूट गया

मुज़फ्फरपुर में एक सभा के दौरान पप्पू यादव (Pappu Yadav) का मंच टूट कर गिर गया. जिससे उनके दाएं हाथ में फ्रैक्चर आया है.

  • Share this:
पटना. जन अधिकार पार्टी (लो) के अध्यक्ष पप्पू यादव (Pappu Yadav) ने प्रशासन पर आरोप लगाते कहा कि सत्ता पक्ष के नेताओं की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा जाता है, लेकिन विपक्ष के नेताओं की सुरक्षा पर किसी का ध्यान नहीं होता. आज मैं बाल-बाल बचा हूं. मेरे और मेरे पार्टी के साथियों के साथ आज कोई भी अप्रिय घटना घट सकती थी.

दरअसल मुज़फ्फरपुर में एक सभा के दौरान पप्पू यादव का मंच टूट कर गिर गया. जिससे उनके दाएं हाथ में फ्रैक्चर आया है. जिस वक्त मंच टूटा उस वक्त पप्पू यादव मीनापुर में सभा को संबोधित कर रहे थे. घटना के तुरंत बाद स्थानीय स्तर पर उनका उपचार कराया गया. हालांकि चोट के बाद भी पप्पू यादव ने चुनाव सभाओं को संबोधित किया.

मंच टूटने के कारणों की जांच की मांग करते हुए पप्पू यादव ने कहा कि इस घटना की अच्छी तरह से जांच होनी चाहिए. क्या इसके पीछे किसी की सोची-समझी साजिश है?



सरकार बनी तो लाएंगे लोकपाल बिल 
लोकपाल पर बोलते हुए पप्पू यादव ने कहा कि हमारी सरकार बनने पर लोकपाल बिल लाएंगे. इससे सिस्टम में पारदर्शिता बढ़ेगी और अधिकारियों और नेताओं की जवाबदेही भी तय की जा सकेगी.

आशा और जीविका का जिक्र करते हुए पप्पू यादव ने कहा कि यदि हम सत्ता में आते हैं तो आशा, जीविका, ममता, विकास मित्र और टोला सेवकों के मानदेय में वृद्धि की जाएगी. ममता, आसा और जीविका दीदियों का मानदेय 9000 रुपये किया जाएगा. साथ ही समान काम के लिए समान वेतन को भी लागू किया जाएगा. सभी नियोजित एवं संविदा पर बहाल शिक्षकों को स्थायी किया जाएगा. वित्तरहित शिक्षकों को सरकार सम्मान के साथ वेतन देगी. जनवितरण प्रणाली के दुकानदारों को भी मानदेय दिया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज