Bihar News: जेल में नहीं मिला पानी और कमोड तो भूख हड़ताल पर बैठे पप्पू यादव

कोर्ट ने 10 फरवरी 2020 को पप्पू यादव के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया था..

कोर्ट ने 10 फरवरी 2020 को पप्पू यादव के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया था..

Pappu Yadav News: पप्पू यादव को मंगलवार को पटना से गिरफ्तार करने के बाद मधेपुरा भेजा गया था जहां से उनको सुपौल की जेल में शिफ्ट किया गया है.

  • Share this:

सुपौल. इस वक्त की बड़ी खबर बिहार के सुपौल से आ रही है जहां पूर्व सांसद और जन अधिकार पार्टी के संरक्षक पप्पू यादव (Pappu Yadav) ने जेल में भूख हड़ताल कर दी है. पप्पू यादव मंगलवार की देर रात पटना से मधेपुरा भेजे जाने के बाद सुपौल के वीरपुर जेल में शिफ्ट किए गए थे जहां उन्होंन भूख हड़ताल (Hunger Strike) कर दी है. वो  जेल में सुविधा नहीं मिलने से नाराज हैं.

पप्पू यादव कुछ ही दिन पहले बीमारी के बाद ऑपरेशन करवा कर स्वास्थ्य लाभ कर रहे हैं. पप्पू ने जेल जाने से पहले भी कोर्ट के समक्ष अपनी बीमारी का हवाला दिया था. पप्पू ने ट्वीट कर जानकारी दी और लिखा है वीरपुर जेल में मैं भूख हड़ताल पर हूं। न पानी है, न वाशरूम है, मेरे पांव का ऑपरेशन हुआ था, नीचे बैठ नहीं सकता, कमोड भी नहीं है. कोरोना मरीज की सेवा करना,उनकी जान बचाना, दवा माफिया,हॉस्पिटल माफिया,ऑक्सीजन माफिया,एम्बुलेंस माफिया को बेनकाब करना ही मेरा अपराध है। मेरी लड़ाई जारी है!

इससे पहले मंगलवार को जन अधिकार पार्टी के संरक्षक और पूर्व सांसद पप्पू यादव को गिरफ्तारी के बाद 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. इससे पहले मंगलवार को पटना से हुई गिरफ्तारी के बाद पप्पू यादव के समर्थकों के भारी विरोध के बीच मधेपुरा ले जाया गया. रात के लगभग 10:50 बजे 30 से अधिक गाड़ियों के काफिले के साथ पप्पू यादव को मधेपुरा कोर्ट लाया गया. पप्पू यादव की पेशी के लिए रात 11 बजे मधेपुरा सिविल कोर्ट को खोला गया.

पप्पू यादव का ट्वीट

कोर्ट के कर्मचारी अपने कार्यालय पहुंचे जहां से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पप्पू की पेशी हुई. पेशी के दौरान उन्होंने कोर्ट के सामने अपनी बीमारी का भी हवाला बेहतर स्वास्थ्य सुविधा की मांग की. पप्पू यादव की पेशी को लेकर बड़ी संख्या में जगह-जगह पुलिस बल की तैनाती की गयी थी, फिर भी सैकड़ों समर्थक रात के अंधेरे में जगह-जगह डटे दिखे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज